अम्बेडकरनगर: पटौहा-गानेपुर पशु आश्रय स्थल बना पशुओं का मौतगाह
| - RN. Network - Aug 29 2019 3:24PM

अम्बेडकरनगर जिले के 31वें जिलाधिकारी के रूप में 11 जून 2019 को पदभार ग्रहण करने वाले जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने उसी दिन कई पशु आश्रय केन्द्रों का निरीक्षण किया था और अनियमितता पाये जाने पर जिम्मेदारों को सख्त हिदायत भी दिया था। डी.एम. के इस सख्त रवैय्ये से प्रशासनिक हलके में कुछ तेजी अवश्य ही देखने को मिली थी, परन्तु जैसे-जैसे समय बीतता गया वैसे वैसे सब कुछ पूर्ववत होने लगा। 

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने गोवध रोकने के लिए कानून बनाया इसी के तहत जिले की हर तहसील में आवश्यकता अनुसार गौशाला निर्माण कराकर गोवंशों की रक्षा के लिए भारी भरकम वित्तीय फण्ड भी जारी किया है। फण्ड की लूट तो मची है परन्तु पशु आश्रय स्थलों के हालात में सुधार होने के बजाय दिन प्रतिदिन और गड़बड़ होता जा रहा है, और पशुओं की मौत का सिलसिला जारी है। इसका कारण कुपोषण एवं चारा-पानी की समुचित व्यवस्था न हो पाना बताया जा रहा है। ताज्जुब तो तब होता है कि बदहाल हो रहे गौशाला/पशु आश्रय स्थल के जिम्मेदार इस बावत कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं। 

अम्बेडकरनगर जिले के सक्रिय एवं उत्साही पत्रकार दिनेश कुमार शेरावत द्वारा संकलित किए गए संवाद व उससे सम्बन्धित छायाचित्रों को हम प्रकाशन कर रहे हैं, जिसे देख और पढ़ कर सहज ही अन्दाजा लगाया जा सकता है कि जिले में पशु आश्रय स्थलों की दशा कैसी है......। 

पत्रकार दिनेश कुमार शेरावत अपनी रिपोर्ट में लिखते हैं कि- 

अम्बेडकरनगर जनपद के तहसील जलालपुर अन्तर्गत ग्राम पंचायत पटौहा-गानेपुर में निर्मित पशु आश्रय केन्द्र/गौशाला को देखकर उसे कसाई बाड़ा ही कहना उचित होगा। यहाँ के गौशाला/पशु आश्रय स्थल में गोवंश की रक्षा करने की कौन कहे जिम्मेदार लोगों ने इतनी अव्यवस्था फैला दिया है कि यहाँ के पशु भूख-प्यास से तड़प-तड़प कर मर रहे हैं। पटौहा-गानेपुर में बना पशु आश्रय केन्द्र/गौशाला योगी सरकार के मंसूबों पर पानी फेर रहा है।

इसके लिए जिम्मेदार लोग कुछ भी बताने से कतरा रहे हैं। यही नहीं सक्षम एवं उच्च अधिकारियों को भी अव्यवस्था से घिरे दुर्दशाग्रस्त व कसाई बाड़ा में तब्दील पटौहा-गानेपुर गौशाला की तरफ कोई ध्यान ही नहीं दे रहा है। आम आदमी का कहना है कि इस तरह यहाँ रहकर मरने से तो अच्छा था कि पशु छुट्टा घूमते और जीवित रहते, या फिर गोकशी पर सरकार प्रतिबन्ध ही न लगाती।  



Browse By Tags



Other News