यातायात के नियमों में बदलाव, तोड़ने पर 10 गुना देना होगा जुर्माना: के.एन. सिंह
| Rainbow News Network - Aug 31 2019 2:21PM

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी ने नए नियमों के बावत दी जानकारी

हैल्लो...........नमस्कार! सिंह साहेब बोल रहे हैं? हाँ जी......मैं ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह बोल रहा हूँ। मुबारक हो.........अरे किस बात की बधाई दे रहे हैं भाई..........सिंह साहेब शायद आप भूल रहे हैं कि आपने अम्बेडकरनगर जिले में इसी महीने अपना 2 साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है। मैं तो आपको तीसरे वर्ष में प्रवेश करने पर मुबारकबाद दे रहा हूँ। उधर से चुप्पी के उपरान्त कहा गया कि जी हाँ मैंने ए.आर.टी.ओ. के रूप में इस जिले में 2 साल (तैनाती अगस्त 2017) पूरे कर लिए हैं। मुबारकबाद देने के लिए आपका शुक्रिया। इतना कहकर फोन डिस्कनेक्ट कर दिया जाता है।

फिर कुछ देर बाद कॉल बैक होती है और ए.आर.टी.ओ. द्वारा यह कहा जाता है कि चले आइए आफिस में तफ्शील से बातें होंगी, सरकार द्वारा बनाये गए नियमों और उनमें किए गए संशोधनों के बावत जानकारी मिलेगी। मैटर लम्बा है फोन पर बताना मुश्किल है, साथ में बैठिए एक-एक कप चाय की चुस्की के दौरान विभागीय नए नियमों की जानकारी दूँगा। एआरटीओ के बुलावा पर जाना पड़ा। 

बकौल के.एन. सिंह 1 सितम्बर से यातायात के नए नियम लागू होंगे जिन्हें तोड़ने पर भारी जुर्माना देना पड़ेगा। सड़क पर चलना है तो संभल कर चलिए, इन नए नियमों का पालन करिए। वाहनों के कागजात, सिर पर हेलमेट, कार में सीट बेल्ट लगाना न भूलिए। बेखौफ फर्राटा और गलत साइड से गाड़ी घुमाना जैसी आदत में बदलाव लाएँ। यदि ऐसा नहीं करते हैं तो आपके लिए यह मामूली लापरवाही भारी पड़ सकती है। मोटा जुर्माना अदा करना होगा। 

के.एन. सिंह के अनुसार अभी तक जिन नियमों को तोड़ने पर सौ रूपए जुर्माना राशि देना पड़ता था उसके लिए 10 से 20 हजार रूपए भुगतना पड़ सकता है। यह नियम 2 पहिया, 4 पहिया और व्यवसायिक वाहन चालकों पर लागू होगा। परिवहन के इन नए नियमों में कई ऐसे प्रावधान भी होंगे जो अब तक जुर्माने के दायरे में आते ही नहीं थे। लाइसेन्स शर्तों का उल्लंघन करने वाले टैक्सी मालिक/चालकों से 25 हजार से लेकर 1 लाख तक के जुर्माने का प्रावधान नए नियम में किया गया है। 

ए.आर.टी.ओ. ने बताया कि हेलमेट न पहनने पर पहले 100 रूपए का जुर्माना वसूला जाता था अब उसे बढ़ाकर 1000 कर दिया गया है। इसी तरह सीट बेल्ट न लगाने पर 100 की जगह अब 1000 रूपए जुर्माना कर दिया गया है। मोबाइल से बात करने पर 1000 की जगह 5000, खतरनाक ड्राइविंग पर 1000 की जगह 5000, आर.सी. न होने पर 4000 की जगह 5000 से 10,000, बीमा न होने पर 1000 की जगह 2000 बगैर डी.एल. 500 के स्थान पर 5000, बाइक पर दो से अधिक सवारी पर 100 की जगह 2000, निर्धारित गति सीमा से अधिक की स्पीड में चलने पर 400 की जगह 1000 से 2000 रूपए, बिना परमिट के 5000 के स्थान पर 10,000 जुर्माना वसूला जाएगा।

ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी कैलाश नाथ सिंह ने बताया कि नाबालिग के गाड़ी चलाने पर पहले मात्र 100 रूपए औपचारिक राशि जमा कराई जाती थी, अब 25,000 का जुर्माना लगेगा, साथ ही साल भर के लिए वाहन का पंजीयन रद्द कर दिया जाएगा और गाड़ी चलाने वाले किशोर का ड्राइविंग लाइसेन्स 25 साल तक की उम्र तक नहीं बन पाएगा। प्रशमन की सीमा में न आने के कारण परिवहन या फिर ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी इस अभियोग में महज चालान कर सकेंगे। 3 साल की सजा और अन्य चीजों की पूरी शक्ति न्यायालय के अधीन होगी। प्रवर्तन/चेकिंग अधिकारी मात्र चालान ही कर सकेंगे। 

बालिग और नाबालिग

बालिग और नाबालिग (किशोर उम्र के) वाहन चालकों की उम्र पूछने पर उन्होंने अजीब सी प्रतिक्रिया व्यक्त किया और कहा कि उन्हें आश्चर्य और अफसोस है कि मीडिया से जुड़ा वरिष्ठ परसन यह प्रश्न कर रहा है। कहना पड़ा कि सरकरी/विभागीय नियम-कानून बदलते रहते हैं ऐसे में उम्र सीमा कहीं परिवर्तित न हो गई हो इसकी जानकारी के लिए यह प्रश्न किया गया। चाय की चुस्की के बीच उन्होंने मुस्कुरा भर दिया। उन्होंने कहा कि 16 से 18 साल की उम्र के अवयस्क बगैर गियर के वाहनों के संचालन के लिए डी.एल. लेना पड़ेगा। 18 साल के ऊपर वयस्कों को मोटर साइकिल और हल्के चौपाया वाहनों को चलाने के लिए डी.एल. लेना पड़ता है। 

के.एन. सिंह ने स्टंटबाज बाइकर्स को चेताया है कि वे नियमों का उल्लंघन कतई न करें। सुरक्षित बाइक संचालन करें और अपने गन्तब्य को जाएँ। अन्यथा..................मोटर साइकिल चालकों/सवारों को अब स्टंट महंगा पड़ेगा- दो पहिया वाहन चालक/सवार को स्टंट करते हुए पकड़े जाने पर 10 हजार रूपए का जुर्माना अदा करना होगा। 

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी ने बताया कि ध्वनि, वायु प्रदूषण पर अब 10 हजार रूपए का जुर्माना देना पड़ेगा। ध्वनि, वायु प्रदूषण, कारों पर डार्क फिल्म आदि पर 10 हजार रूपए की पेनाल्टी वाहन स्वामी को देनी पड़ेगी। नशे की हालत में (ड्रंकेन ड्राइविंग) गाड़ी चलाने की दशा में पकड़े जाने पर 2000 रूपए का लगने वाला जुर्माना अब 10 हजार हो गया है साथ ही जेल का भी प्रावधान है। 

कुछ खास:- 

1.    सरिया या अन्य चीजें वाहन की बॉडी से बाहर निकली मिलीं। माल वाहन की तय ऊँचाई से ज्यादा निकला हुआ या फिर लोडेड वस्तु दायें-बायें निकली मिली तो वाहन स्वामी को 20 हजार रूपए जुर्माना देना पड़ेगा।

2.    मोरंग, बालू, गिट्टी समेत भवन सामग्री के ओवरलोड होने पर वाहन स्वामियों से 20 हजार रूपए का जुर्माना।

3.    अगर ट्रक चालक लोडेड ट्रक की तौल कराने पर मना करे तो 40 हजार रूपए की पेनाल्टी।

4.    साइलेंस जोन जैसे अस्पताल आदि इलाकों में हार्न बजाने पर 1000 का जुर्माना।

5.    ट्रक, ट्रैक्टर, ट्राली यात्री वाहनों में रैट्रो रिफ्लेटिव टेप न लगे होने पर 5000 का अर्थदण्ड। 

6.    एम्बुलेन्स या इमरजेन्सी वाहनों को रास्ता नहीं दिया तो 10 हजार की पेनाल्टी।

नए नियमों की जानकारी देने के उपरान्त सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी कैलाश नाथ सिंह ने कहा कि अब नियम तोड़ना लोगों पर भारी पड़ेगा। उन्होंने वाहन स्वामियों से अपील की कि- वे वाहनों के कागजात पूरा करने के अलावा नियमों का अनुपालन करें। उनकी स्वयं की सुरक्षा के लिए यह खासा जरूरी है। 



Browse By Tags



Other News