लता मंगेशकर ने कहा...तो होगी बड़ी ट्रेजडी
| Rainbow News Network - Sep 4 2019 6:26PM

मशहूर गायिका लता मंगेशकर ने मुंबई में मेट्रो प्रोजेक्ट से जुड़े एक कंस्ट्रक्शन के लिए पेड़ काटे जाने के प्रस्ताव का सख्त विरोध किया है। लता की आपत्ति मुंबई के आरे फॉरेस्ट एरिया में मेट्रो कार शेड बनाने को लेकर है, जिसके लिए 2,500 से ज्यादा पेड़ काटे जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। लता ने कहा है कि अगर ऐसा हुआ तो यह बहुत ही बड़ी ट्रेजडी होगी। उन्होंने सरकार से इसे रोकने की गुजारिश भी की है और इसपर अपना विरोध भी जताया है। बता दें कि पिछले कई दिनों से मुंबई के स्थानीय लोग और बॉलीवुड के स्टार बीएमसी के इस कदम का विरोध कर रहे हैं।

मेट्रो कार शेड के लिए पेड़ काटने के विरोध में लता बीएमसी ने हाल ही में मुंबई के उपनगरीय गोरेगांव इलाके के आरे फॉरेस्ट एरिया में मेट्रो कार शेड के लिए पेड़ों की कटाई की मंजूरी दी है। योजना के तहत मेट्रो कार शेड के लिए यहां 2,600 से ज्यादा पेड़ काटे जाने हैं। बता दें कि आरे कॉलोनी इलाके को शहर का बेहद हरियाली इलाका माना जाता है और शायद यही वजह है कि दुनिया भर में प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर इसका विरोध कर रही हैं। उनको लगता है कि बीएमसी के इस फैसले से यहां की हरियाली तो खत्म हो ही जाएगी, पेड़ों की कई तरह की प्रजातियां भी नष्ट हो जाएंगे, जिससे स्थानीय पर्यावरण को नुकसान पहुंचने का खतरा है। इसलिए उन्होंने सरकार से हर हाल में इस फैसले को रोकने की अपील की है।

गौरतलब है कि आरे फॉरेस्ट एरिया में जंगल काटे जाने का वहां लगातार विरोध चल रहा है। लोग इस पर्यावरण की रक्षा से भी जोड़ रहे हैं और आदिवासी हितों की भी बात उठा रहे हैं। रविवार को इस प्रोजेक्ट के विरोध बॉलीवुड के स्टार भी शामिल हुए। बॉलीवुड की अभिनेत्री श्रद्धा कपूर ने बीएमसी के इस कदम को बकवास बताया है। इस मसले पर लता मंगेशकर के अलावा और जिन सितारों ने भी आवाज उठाई है, उनमें दीया मिर्जा, रवीना टंडन, रणदीप हूडा, ईशा गुप्ता और कपिल शर्मा भी शामिल हैं।

लता मंगेशकर ने सरकार से गुजारिश की है कि वह तुरंत इस मसले पर संज्ञान ले और जंगल को सफाया होने से बचा ले। उन्होंने ये साफ किया है कि अगर पेड़ों की कटाई का फैसला नहीं रोका गया तो वो इसका जोरदार विरोध करेंगी। सरकार को संबोधित अपने ट्वीट में उन्होंने अपील भी की है और अपना विरोध भी जताया है। उन्होंने लिका है, '2,700 पेड़ काटने और कई प्रजातियों के नैचुरल हैबिटेट पर आक्रमण एक त्रासदी होगी। मैं इस फैसले का पूरजोर विरोध करती हूं, मैं जोर देकर सरकार से आग्रह करती हूं कि इस मामले को देखे और जंगल को बचाए। '

गौरतलब है कि इससे पहले मुंबई के पॉश माने जाने वाले पेड्डार रोड पर फ्लाईओवर के निर्माण का भी लता मंगेशकर ने विरोध किया था। गिरगाम चौपाटी से हाजी अली जंक्शन तक के 4.1 किलोमीटर लंबे इस फ्लाईओवर के निर्माण की योजना 2000 में बनी थी। लेकिन, लता को डर था कि उनके घर के पास से इसके गुजरने से उनकी प्राइवेसी भंग होगी। उनकी बहन आशा भोसले ने भी इसका विरोध किया था। आखिरकार जून 2016 में सरकार ने उस योजना को अमलीजामा पहनाने से रोक ही दिया। करीब सवा सौ करोड़ के इस प्रोजेक्ट के खिलाफ एक वक्त उनकी ओर से मुंबई छोड़ने तक की धमकी दी गई थी।



Browse By Tags



Other News