जलालपुर विस उपचुनाव हेतु प्रशासनिक तैयारियाँ पूरी
| - RN. Network - Sep 23 2019 1:45PM

शान्तिपूर्ण मतदान कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध : राकेश कुमार मिश्र

अम्बेडकरनगर। जिले की जलालपुर विधानसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव की अधिसूचना 21 सितम्बर 2019 से जारी हो गई है और प्रशासन व पुलिस महकमा चुनाव सकुशल सम्पन्न कराने में जुट गया है। यहाँ बता दें कि 280-जलालपुर विधानसभा के बसपा विधायक रितेश पाण्डेय 17वीं लोकसभा आम चुनाव-2019 में बसपा-सपा के संयुक्त प्रत्याशी के रूप में चुनकर अम्बेडकरनगर के सांसद बन चुके हैं। उनके सांसद बनने के उपरान्त यह विधानसभा सीट रिक्त हो चुकी थी, जिसके लिए उपचुनाव हो रहा है। 

जिला निर्वाचन अधिकारी/जिला मजिस्ट्रेट राकेश कुमार मिश्र ने सोमवार 23 सितम्बर 2019 को कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता में सभी कार्यक्रमों और व्यवस्थाओं से पत्रकारों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि उपचुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन पूर्ण रूप से तैयार है। आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों का पालन कराया जाएगा। पूरे उपचुनाव को शान्तिपूर्ण माहौल में सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है।

राकेश कुमार मिश्र ने बताया कि 21 सितम्बर 2019 से भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश के क्रम में 280 जलालपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए उपचुनाव घोषित करते ही पूरे जनपद में आदर्श आचार संहिता लागू कर दी गई है। उन्होंने आगे बताया कि जलालपुर विधान सभा के उपचुनाव हेतु प्रत्याशी 23 सितम्बर से 30 सितम्बर 2019 तक नामांकन कर सकते हैं। नाम निर्देशनों की संविक्षा (स्कूटनी) एक अक्टूबर को होगी तथा प्रत्याशी द्वारा 3 अक्टूबर तक नाम वापस ली जा सकती है। मतदान आगामी माह अक्टूबर की 21 तारीख को तथा मतगणना 24 को होगी। पूरी चुनाव प्रक्रिया 27 अक्टूबर तक पूर्ण कर ली जाएगी। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिला मजिस्ट्रेट राकेश कुमार मिश्र ने बताया कि  निर्वाचन से सम्बन्धित समस्त प्रकार की अनुमति (झण्डा, बैनर, पोस्टर, जुलूस एवं वाहन आदि) हेतु तहसील जलालपुर में एकल खिड़की की व्यवस्था की गई है।

जिलाधिकारी ने बताया कि जलालपुर विधानसभा क्षेत्र में इस बार हालिया जारी सूची के अनुसार कुल 3 लाख 93 हजार 514 मतदाता वोट डालेंगे। जिसमें 2 लाख 11हजार 488 पुरुष, 1लाख 81हजार 615 महिला तथा एक त्रिलिंगी मतदाता है। इसके अलावा 397 पुरुष और 13 महिला मतदाता सर्विस वाले हैं। उन्होंने प्रेस वार्ता के दौरान यह भी बताया की 258 मतदान केंद्रों पर बनाए गए 438 मत देय स्थलों पर पेयजल, फोन, शौचालय और फर्नीचर आदि की व्यवस्था पूरी कर ली गई है। 420 मत देय स्थल ऐसे चिन्हित किए गए हैं जिन पर दिव्यांग मतदाता वोट डालेंगे। इसके अलावा पूरे विधानसभा क्षेत्र में कुल विभिन्न कारणों से 3 हजार 293 दिव्यांग मतदाता हैं। यहां दो मतदान केंद्र बरनेबुल हैं। जिनके अंदर चार मतदान स्थल हैं। पांच मजरे बरनेबुल हैं। जबकि प्रभावित मतदाता की संख्या 40 है और प्रभावित करने वाले कारक 5 बताए गए हैं।

इसके साथ ही 14 मतदान केंद्र तथा 33 मतदेय स्थल क्रिटिकल चिन्हित किए गए हैं। डीएम ने बताया कि जलालपुर में शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए 8 जोनल मजिस्ट्रेट 32 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। जिनकी देखरेख में 482 पीठासीन अधिकारी, 482 प्रथम मतदान अधिकारी और 482 द्वितीय मतदान अधिकारी मतदान कराएंगे। 517 अवशेष कार्मिक हैं। जिनके लिए11 मास्टर ट्रेनर तैनात किए गए हैं। 50 मतदान केंद्र और 84 मतदान स्थलों पर वीडियो कैमरा लगाया जाएगा, जबकि 20 मतदान केंद्रों के 45 मतदान स्थलों की वेबकास्टिंग होगी। इसी प्रकार 24 मतदान केंद्रों और 45 मतदेय स्थलों पर माइक्रो ऑब्जर्वर होंगे।

बताया गया कि नामांकन के लिए सामान्य और पिछड़ी जाति के लिए 10000 और अनुसूचित जाति तथा जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए 5000 जमानत राशि निश्चित की गई है। प्रत्येक प्रत्याशियों के चुनाव खर्च की सीमा 28 लाख रुपए निर्धारित की गई है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया चुनाव की अधिसूचना जारी होते ही 13 हजार 4 होर्डिंग वह बैनर हटाए जा चुके हैं। प्रेसवार्ता में जिला निर्वाचन अधिकारी/जिला मजिस्ट्रेट राकेश कुमार मिश्र के साथ पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार मिश्र, ए.डी.एम. अमरनाथ राय, ए.एस.पी. अवनीश कुमार मिश्र उपस्थित रहे। 



Browse By Tags



Other News