बापू के आदर्शों को हम अपने में आत्मसात करें: राकेश कुमार मिश्र
| Rainbow News Network - Oct 2 2019 12:46PM

कलेक्ट्रेट परिसर में मनाई गई गाँधी और शास्त्री जयन्ती

अम्बेडकरनगर। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जन्म दिवस अवसर (2 अक्टूबर) को कलेक्ट्रेट परिसर में जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र द्वारा ध्वजारोहण किया गया। इस दौरान उनके साथ अन्य विभागों के विभागाध्यक्ष व कर्मचारी उपस्थित रहे। प्रातः 8 बजे हुए ध्वजारोहण कार्यक्रम में जनपद के नवोदय विद्यालय के छात्रों द्वारा राष्ट्रगान प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में एक विचार गोष्ठी का भी आयोजन हुआ जिसमें राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी और लाल बहादुर शास्त्री के जीवन पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला गया।

गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने कहा कि देश की राजनैतिक, सांस्कृतिक एवं सामाजिक समरसता के माध्यम से महात्मा गाँधी ने सम्पूर्ण राष्ट्र को एक सूत्र में पिरोकर सशक्त बनाने में अप्रतिम भूमिका का निर्वहन किया। जिलाधिकारी ने कहा कि गाँधी जी ने अहिंसा और सत्याग्रह के माध्यम से देश के सभी वर्गों में आजादी की लौ प्रज्ज्वलित किया। गाँधी जी ने स्वतंत्रता संग्राम की बलिबेदी पर अपना सर्वस्व न्यौछावर कर हिन्दुस्तान को फिरंगियों के चंगुल से आजाद कराया। उन्होंने कहा कि ऐसे महापुरूषों के आदर्शों, सिद्धान्तों व उनके सद्विचारों को अपनाने के साथ ही उनके पदचिन्हों पर चलकर देश के सभी धर्मों के लोगों, असहाय, गरीब, मजलूमों की मदद पूरी ईमानदारी से करना चाहिए।

डी.एम. मिश्र ने कहा कि हम सभी को चाहिए कि बापू के महान आदर्श सादा जीवन, उच्च विचार, मितव्ययिता, नैतिकता, भाईचारा तथा सर्वधर्म सम्भाव जैसे जीवन मूल्यों को अपनाये और उनके दिखाये राह पर चलकर देश और समाज हित में कार्य करें। उन्होंने कहा कि सादगी, ईमानदारी व निष्ठा बापू के जीवन में कूट-कूटकर भरी हुई थी। गाँधी जी के इन्हीं आचरणों को अपनाते हुए हर व्यक्ति की पीड़ा को समझकर उनकी मदद करनी चाहिए यही बापू के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। 



Browse By Tags



Other News