सोनभद्र: रेनूकूट नगर पंचायत अध्यक्ष हत्याकाण्ड का खुलासा, 4 गिरफ्तार
| Rainbow News Network - Oct 3 2019 8:31PM

एस.पी. प्रभाकर चौधरी ने प्रेसवार्ता में दी जानकारी

सोनभद्र। जिले के सर्वाधिक चर्चित और पुलिस के लिए चुनौती बना रेनूकूट नगर पंचायत अध्यक्ष हत्याकाण्ड में शामिल चार अभियुक्तों को पुलिस ने चौथे दिन गिरफ्तार किया। इसी के साथ हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर मृतक के समर्थकों और पुलिस व प्रशासन के बीच चल रहे रस्साकशी जैसे विरोध व प्रदर्शन का पटाक्षेप हो गया। 

गुरूवार 03 अक्टूबर 2019 की शाम जिले के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में हत्याकाण्ड का खुलासा एस.पी. प्रभाकर चौधरी ने किया। इस अवसर पर प्रेस/मीडिया परसन्स से खचाखच भरे एस.पी. कार्यालय में अपर पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश सिंह और सी.ओ. पिपरी ज्ञान प्रकाश राय उपस्थित थे। एस.पी. चौधरी ने पत्रकारों को बताया कि पकड़े गए अभियुक्त नगर पंचायत अध्यक्ष रेनूकूट शिव प्रताप सिंह उर्फ बब्लू पुत्र स्व. हनुमान सिंह निवासी हनुमान कटरा, मेन रोड, रेनूकूट की हत्या में शामिल हैं।

एस.पी. चौधरी द्वारा बताया गया कि शिव प्रताप सिंह उर्फ बब्लू हत्याकाण्ड में शामिल साजिशकर्ता अभियुक्तगण (मुख्य व सहयोगी समेत) अनिल कुमार सिंह, ब्रजेश सिंह, राकेश सिंह पुत्रगण स्व. सत्य नारायण सिंह निवासीगण हिंडालको पेट्रोल पम्प के पास, मेनरोड, रेनूकूट, सोनभद्र और जमुना सिंह पुत्र स्व. लल्लन सिंह निवासी खड़पाथर मुर्धवा रेनूकूट, सोनभद्र हैं। अनिल सिंह के बारे में बताया गया है कि वह पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष रेनूकूट व भाजपा का लीडर है।

ज्ञात हो कि 30 सितम्बर की रात लगभग 10 बजे शिव प्रताप सिंह उर्फ बब्लू को उस समय गोली मारकर गम्भीर रूप से घायल कर दिया गया था जब वह अपने कार्यालय में बैठे नगर पंचायत रेनूकूट सीमा क्षेत्र में रहने वाले व्यक्तियों से वार्ता कर रहे थे। घायलावस्था में शिव प्रताप सिंह को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ 1 सितम्बर 2019 को इलाज के दौरान रात्रि 2.30 बजे उनकी मृत्यु हो गई। इस सम्बन्ध में थाना पिपरी में मु.अ.सं. 180/2019 धारा 147, 148, 149, 302, 120बी 34 आईपीसी पंजीकृत किया गया था। 

पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी के अनुसार कानून व्यवस्था की स्थिति पर प्रभावी नियंत्रण रखते हुए पुलिस ने इस घटना में संलिप्त अपराधियों की तलाश, दबिश, सुरागरसी व पतारसी की गई थी। कुछ लोगों को संदेह के आधार पर पूछतांछ के लिए लाया गया था। इस घटना के मुख्य व सह अभियुक्तों को 2 व 3 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया।

प्रेस से मुखातिब एस.पी. प्रभाकर चौधरी द्वारा प्रदत्त जानकारी के अनुसार इन चारों अभियुक्तों की गिरफ्तारी उपरान्त गहन पूछतांछ पर ज्ञात हुआ कि वर्ष 2017 में रेनूकूट नगर पंचायत अध्यक्ष पद चुनाव के दौरान दोनों में कड़ी प्रतिद्वन्दिता थी। जिसे लेकर चुनाव के दौरान कुछ वीडियो भी सोशल साइट्स पर वायरल हुए थे। इसी चुनावी रंजिश को लेकर गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा बिहार प्रान्त से पेशेवर अपराधियों को पैसा देकर बुलाया गया और इस घटना को अंजाम दिया गया। 

अभिसूचना संकलन से यह भी प्रमाणित होता है कि इस हत्या को अंजाम देने वाले पेशेवर अपराधियों को अभियुक्त जमुना सिंह व ब्रजेश सिंह द्वारा समस्त संसाधन व नकद रू. 25 हजार उपलब्ध कराये गए थे। बिहार प्रान्त के अपराधियों को गत माह 7 सितम्बर को ही बिहार से रेनूकूट बुलाया गया और अपराधियों को होटल में ठहराया गया, जहाँ से उन्होंने शिवप्रताप सिंह की रेकी कर घटना को अंजाम दिया। गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से दो अदद मोबाइल फोन (रेडमी, एच.टी.सी.), 2 चार पहिया वाहन (इनोवा, स्कार्पियो) भी बरामद हुआ। 



Browse By Tags



Other News