SC के सम्भावित फैसले को लेकर प्रशासन अलर्ट, 8 स्कूलों को बनाया गया अस्थाई जेल 
| - RN. Network - Nov 7 2019 5:02PM

अम्बेडकरनगर। अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि विवाद से जुड़ा फैसला कभी भी आ सकता है। इसे लेकर जिला व पुलिस प्रशासन अलर्ट है। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद जिले में किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना व अशान्ति का वातावरण न हो इसके लिए पुलिस लोगों से शान्ति व आपसी सौहार्द बनाये रखने की अपील कर रही है। प्रदेश सरकार के निर्देश के अनुपालन में जिला प्रशासन ने 8 स्कूलों को अस्थाई जेल में परिवर्तित कर दिया है। 

इस बावत एस.पी. के पत्र पर डी.आई.ओ.एस. ने जेल में तब्दील स्कूलों की लिस्ट जारी कर दी है। अकबरपुर थाना क्षेत्र के डॉ. जी.के. जेतली इण्टर कॉलेज शहजादपुर, बी.एन. इण्टर कॉलेज अकबरपुर, डॉ. अशोक स्मारक डिग्री कॉलेज तमसा मार्ग- अकबरपुर, टाण्डा कोतवाली क्षेत्र के टी.एन. डिग्री कॉलेज, एन.डी. इण्टर कॉलेज जलालपुर, जनता इण्टर कॉलेज नेवादा, अजय प्रताप इण्टर कॉलेज भीटी, एस.एन. इण्टर कॉलेज इन्दईपुर को अस्थाई जेल का रूप दिया गया है। 

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में गुरूवार को आयोजित एक प्रेस वार्ता में एस.पी. वीरेन्द्र कुमार मिश्र ने बताया कि जिले को 17 सेक्टर व 5 जोन में बांटा गया है, इसके अलावा जिले भर में 12 बैरियर बनाये गये हैं, जिनमें 3 फैजाबाद-अयोध्या को जाने वाले रास्ते पर बनाये गये हैं जबकि 9 बैरियर जनपद की सीमा पर प्रवेश करने वाले रास्तों पर बनाये गए हैं। एस.पी. ने बताया कि जिले में धारा 144 को प्रभावी ढंग से लागू कराया जा रहा है। 

प्रेस से मुखातिब ए.एस.पी. अवनीश कुमार मिश्र ने बताया कि जिले में 5 लोग आतंकी गतिविधियों में संलिप्त रहे हैं, और 3 लोग सिमी से जुड़े हुए हैं। इनकी गतिविधियों पर पुलिस नजर रखे हुए है। ये सभी लोग फिलवक्त फरार हैं। उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप्प ग्रुप पर साम्प्रदायिक सौहार्द बिगड़ने की संभावना वाली टिप्पणियों से बचें। अगर कोई भी गलत टिप्पणी करता है तो उसके विरूद्ध आवश्यक कार्रवाई होगी। किसी भी ग्रुप पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के सम्बन्ध में कोई भी आंकलन नहीं किया जाना चाहिए। 

उन्होंने लोगों से अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान न दें। ए.एस.पी. अवनीश कुमार मिश्र ने बताया कि 228 साम्प्रदायिक लोगों को चिन्हित किया गया है, जो भी लोग साम्प्रदायिक विवाद से सम्बन्धित रहे हैं उससे जुड़े उभय पक्षों को नोटिस देकर पाबन्द किए जाने की कार्रवाई की जा रही है। ए.एस.पी. ने बताया कि आवश्यकता पड़ने पर जिले की सीमाएँ सील की जा सकती हैं, जिसकी तैयारी की जा चुकी है।  
 



Browse By Tags



Other News