जिले में धड़ल्ले से बिक रहा है घटिया सरसों का तेल
| Rainbow News Network - Nov 12 2019 4:36PM

अम्बेडकरनगर। जिले में धड़ल्ले से बिक रहा है घटिया सरसों का तेल बड़ी कंपनियों से लेकर होलसेलर मोटी रकम कमाने के चक्कर में भोली भाली जनता को जहर परोस रहे हैं। मिलावटी सरसों के तेल का कारोबार अंबेडकर नगर जिले में खूब तेजी से फल फूल  रहा है। जिम्मेदार अधिकारी जान कर भी अंजान बने हुए हैं।

घटिया तेल के उपयोग से कैंसर ,हार्ड अटैक, जैसी खतरनाक बीमारियों का खतरा रहता है, मिलावटखोर हजारों लीटर मिलावटी तेल बाजार में बेच रहे हैं। खाद्य व आपूर्ति विभाग को ही नहीं, बल्कि खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के आला अफसरों को भी इसकी पूरी जानकारी है। बावजूद इसके मिलावटखोरों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

वहीं डॉक्टरों का कहना है कि इस मिलावटी तेल का लगातार इस्तेमाल करने से जान तक जा सकती है। बाहर से आने वाले घटिया और सस्ते राइस ब्रान (धान की भूसी का तेल) में मस्टर्ड की सुगन्ध वाला एसेन्स डाला जाता है। रंग निखारने के लिए उसमें हानिकारक बटर यलो मिलाया जाता है। इसके बाद मिलावटी सरसों के तेल को सस्ते दाम में कारोबारियों तक पहुंचा दिया जाता है।

कई सरसों के तेल से लेकर रिफाइंड आयल ठंडक में पूरी तरह वनस्पति डालडा घी की तरह जम जाता है,मगर जिम्मेदारों की आंखों में पट्टियां बनी रहती है। 15 किलो के सरसों के टिन पर 300 से लेकर 400 रुपए का मुनाफा होने की वजह से दुकानदार भी इसे खरीदकर बिक्री करने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं।



Browse By Tags



Other News