अकबरपुर में महामारी फैलने की आशंका, नागरिकों का कोई पुरसाहाल नहीं
| Posted by- Editor - Nov 16 2019 3:16PM

सफाईकर्मी नदारद, वार्डों में फैला गन्दगी का साम्राज्य, जिम्मेदारों ने साधा मौन 

अम्बेडकरनगर। अकबरपुर नगर पालिका परिषद के सभी वार्डो में इस समय भयंकर गन्दगी का साम्राज्य फैला हुआ है। मलेरिया, डेंगू एवं अन्य संक्रामक बीमारियाँ फैलाने वाले जीव-जन्तुओं की भरमार हो गई है। एक महीने से भठी हुई नालियाँ बजबजा रही हैं। पूरा वातावरण सड़ान्ध युक्त हुआ है। गन्दगी व दुर्गन्ध से सांस लेना दूभर हो गया है। कहने का तात्पर्य यह कि यदि हालात यही रहे तो वह दिन दूर नहीं जब पूरे नगर में महामारी फैल जायेगी और जनमानस उसका शिकार होकर काल-कवलित हो जाएँगे। 

इस समय अकबरपुर, शहजादपुर दोनों उपनगरों में स्थित घनी आबादी वाले वार्डों में भयंकर गन्दगी और सड़ान्ध फैला हुआ है। दिन-रात हर समय मक्खी व मच्छरों का प्रकोप देखा जाता है। महीने भर से नाली व गलियों में साफ-सफाई को कौन कहे वार्डो में रहने वाले नागरिकों ने सफाई कर्मियों का मुँह तक नहीं देखा। फागिंग किसे कहते हैं इसे लोग भूल चले हैं। बीते दो वर्षों से अधिक अवधि से अकबरपुर नगर पालिका क्षेत्र में फागिंग नहीं हुई है। 

दास्तान-ए-वार्ड 11 उसरहवा

अकबरपुर के घनी आबादी वाले क्षेत्र वार्ड नम्बर 11 उसरहवा में महीने भर से नालियों की सफाई न होने से गन्दगी और सड़ान्ध से मोहल्लेवासियों को सांस लेना मुश्किल हो गया है। मक्खी, मच्छरों के आक्रमण से लोग परेशान होकर रह गये हैं। कहीं टायर जला के धुँआ किया जा रहा है तो कहीं घास-फूस जालकर मच्छरों से निजात पाने की कोशिश की जा रही है। ऐसा करने से अकबरपुर में भी दिल्ली जैसे हालात पैदा हो गये हैं। यदि शीघ्र ही साफ-सफाई, फागिंग व दवाओं का छिड़काव तथा जल निकासी के लिए नालियों की सफाई न कराई गई तो अकबरपुर का वार्ड नम्बर 11 उसरहवा और इससे सटी कॉलोनी में निवास कर रहे लोग संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ जाएँगे। 

वार्ड नं. 11 के जागरूक लोगों का कहना है कि इस वार्ड की सफाई के लिए पर्याप्त सफाईकर्मी तैनात हैं, परन्तु एक महीने से वे लोग नदारद से दिख रहे हैं। राम बहाल नामक सफाई कर्मी ने कहा कि इस समय चेयरमैन व उनके प्रतिनिधि के आदेशानुसार 25 वार्डों के सफाईकर्मियों को वार्ड नम्बर 3 मिर्जापुर में ड्यूटी में लगा दिया गया है जहाँ विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है।

 सफाईकर्मी रामबहार के कथन की पुष्टि के लिए जब सफाई इंचार्ज बृजेन्द्र कुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह इस समय अतिव्यस्त हैं। समस्या सुन लिया है, जाँच कराऊँगा, तद्नुसार साफ-सफाई व्यस्था देखी जाएगी। अभी विशेष सफाई अभियान में मुख्यनगर छोड़कर मिर्जापुर गाँव में सफाई कर्मियों को लेकर काम देख रहा हूँ। बृजेन्द्र कुमार ने कहा कि प्रत्येक वार्ड में 11 बजे पूर्वान्ह तक सभी सफाई कर्मियों की ड्यूटी पूर्ववत है। दोपहर उपरान्त ये लोग नगर पालिका के चेयरमैन व उनके प्रतिनिधि के आदेश पर विशेष सफाई अभियान में मिर्जापुर पहुँच जाते हैं। इससे ज्यादा वह कुछ भी नहीं बता सके। उन्होंने आगे इतना कहा कि- मैं आपकी समस्या बेहतर समझ सकता हूँ, समझ रहा हूँ, लेकिन..........................। वैसे एक-दो दिन में वार्ड नम्बर 11 पहुँचकर मौका-मुआयना करूँगा। तब फिर जाँचोपरान्त आवश्यक कार्रवाई की जायेगी। 

कुल मिलाकर यदि यह कहा जाए कि जिस तरह भांग पड़े कुएँ का पानी पीने वाले लोग मदहोश हो जाते हैं ठीक उसी तरह अकबरपुर नगर पालिका परिषद का हर मुलाजिम इस समय मदहोश सा दिख रहा है। नगर के लोग मरें या जियें उनकी बला से। 



Browse By Tags



Other News