मिस वर्ल्ड 2019 : मिस जमाईका टोनी एन सिंह ने जीता खिताब
| Agency - Dec 15 2019 5:25PM

भारत की सुमन राव तीसरे स्थान पर

4 दिसंबर की शाम, लंदन के एक्सेल स्टेडियम में मिस वर्ल्ड 2019 का नाम अनाउंस किया गया और मिस जमाईका ने ये खिताब अपने नाम किया। मिस जमाईका टोनी एन सिंह ने मिस वर्ल्ड 2019 का चमचमाता क्राउन पहना। वहीं भारत की प्रतिनिधि सुमन राव ने इस इवेंट में तीसरा स्थान हासिल किया। गौरतलब है कि 2017 में मानुषि छिल्लर ने मिस वर्ल्ड का क्राउन अपने नाम कर भारत का गौरव बढ़ाया था। सुमन राव, राजस्थान की मॉडल हैं और 20 साल की हैं। उन्होंने अपना करियर एक्टिंग में बनाने की सोची है और फिलहाल कुछ मॉडलिंग असाइनमेंट्स के साथ शुरूआत कर चुकी हैं। आपको याद दिलाते हैं।

प्रियंका चोपड़ा, 2000 में भारत से आखिरी मिस वर्ल्ड थीं और इसके बाद, भारत को ये मौका कभी नहीं मिला। 17 साल बाद, 2017 में मानुषि छिल्लर ने ये खिताब जीतकर भारत को सबसे ज़्यादा बार, ये खिताब जीतने वाला देश बनाया था। 2000 था खास साल 2000, भारत के लिए काफी खास रहा था। इसी साल हमारे देश में मिस इंडिया, मिस व्लर्ड और मिस एशिया पैसेफिक का खिताब एक साथ आया था। जी हां, हम यहां बात रहे हैं विश्व सुंदरी प्रियंका चोपड़ा, ब्रह्मांड सुंदरी लारा दत्ता और एशिया-पैसेफिक दिया मिर्जा की, जिन्होंने भारत का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया था।

मिस वर्ल्ड खिताब पाने के लिए प्रियंका से दो सवाल पूछे गए थे। पहला कि, यह खिताब जीतना उनके लिए क्यों महत्वपूर्ण है और दूसरा कि कोई एक लिविंग लीजेंड जिन्हें वो सबसे ज्यादा एडमायर करती हैं? प्रियंका ने पहले सवाल का जवाब देते हुए कहा कि इस खिताब के जरीए वो लोगों कि सोच और एक्शन को बदलना चाहेंगी। जबकि सवाल के जवाब में उन्होंने मदर टेरेसा का नाम लिया। इन जवाबों ने प्रियंका को मिस वर्ल्ड का खिताब दिलाया।

1994 में हुई मिस इंडिया प्रतियोगिता के लिए कहा जाता है कि इसमें करीब 26 ल़डकियों ने अपने नाम वापस ले लिए थे। क्योंकि माना जा रहा था कि ऐश्वर्या राय जैसी खूबसूरत लड़की के सामने किसी का भी टिकना मुश्किल है। नाम वापस लेने वालों में सुष्मिता भी शामिल थीं। कहा जाता है कि ऐश्वर्या और सुष्मिता के बीच यहां कड़ा मुकाबला था, लेकिन इंटरव्यू राउंड में सुष्मिता ने ऐश से बाजी मार ली थी। दोनों से पूछा गया कि यदि आप किसी ऐतिहासिक घटना को बदल सकतीं, तो वो क्या होती ?

इस पर ऐश्वर्या का जवाब था, अपने जन्म का समय, जबकि सुष्मिता का उत्तर था, इंदिरा गांधी की मृत्यु। माना जाता है कि इसी जवाब ने दोनों की किस्मत का फैसला कर दिया था। मिस इंडिया के फाइनल राउंड में पांच लड़्कियां थीं और अंत में ऐश और सुष दोनों ही 9.33 अंकों पर आकर रूक गईं। टाई को ब्रेक करने के लिए वापस से सवाल पूछे गए। ऐश्वर्या से पूछा गया कि वो किस टेलीविजन अभिनेता (हॉलीवुड) को अपने पति के रूप में चुनेंगी।

वहीं सुष्मिता से पूछा गया थी कि भारतीय टेक्सटाइल इंडस्ट्री के बारे में वो क्या जानती हैं। सुष्मिता ने जवाब दिया गांधी और खादी। इस जवाब ने उन्हें 0.3 अंको से जिताया था। इस कॉन्टेस्ट की विजेता आमतौर पर मिस यूनिवर्स के खिताब हेतु भेजी जाती है, जबकि उपविजेता को मिस वर्ल्ड में भाग लेना होता है। फेमिना मिस इंडिया के आयोजक तक मान रहे थे कि ऐश्वर्या ही विजेता बनेंगी। लेकिन प्रश्नोत्तर खंड में बंगाली बाला सुष्मिता सेन दक्षिण भारतीय ऐश्वर्या से बाजी मार गईं। सुष्मिता को विजेता चुना गया और ऐश को उपविजेता।



Browse By Tags



Other News