सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें निर्भया की मां : इंदिरा जयसिंह 
| Agency - Jan 18 2020 4:05PM

निर्भया के दोषियों को जल्द फांसी देने पर पूरा देश इंतजार कर रहा है। लोगों की तरफ से लागातार मांफी की जा रही है कि कब वो दि आएगा जब उन चार दरिंदो के गले में फांसी का फंदा होगा। कब निर्भया को इंसाफ मिलेगा। इसी दौरान अब वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने निर्भया की मां से अपील की है कि वह सोनिया गांधी की तरह निर्भया के दोषियों को माफ कर दें।

दरअसल इंदिरा जयसिंह ने कहा है कि जिस तरह से सोनिया गांधी ने राजीव गांधी की हत्या के मामले में दोषी नलिनी को माफ कर दिया था, उसी तरह निर्भया की मां को भी करना चाहिए। उन्हें सोनिया गांधी के उदाहरण का अनुसरण करना चाहिए। वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने ये बात सोशल मीडिया पर लिखी, "मैं आशा देवी का दर्द पूरी तरह से समझती हूं। फिर भी मैं उनसे अपील करती हूं कि वह सोनिया गांधी के उदाहरण का अनुसरण करें, जिन्‍होंने नलिनी को माफ कर दिया और कहा कि वह उनके लिए मृत्युदंड नहीं चाहतीं। हम आपके साथ हैं, पर मृत्‍युदंड के खिलाफ हैं।

बता दें कि पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी किया है। अब निर्भया के चारों दोषियों पवन गुप्त, विनय शर्मा, मुकेश और अक्षय सिंह को 1 फरवरी को फांसी दी जाएगी। 1 फरवरी को सुबह छह बजे फांसी होगी। हालांकि इसे फाइनल तारीख नहीं माना जा सकता है। अगर किसी भी एक पक्ष की दया याचिका पेंडिंग रहती है तो चारो दोषियों को फांसी नहीं हो सकती है।

भगवान भी आकर कहेगा तो भी दोषियों को माफ नहीं करुंगी : आशा देवी

सीनियर वकील इंदिरा जयसिंह ने सोशन मीडिया पर निर्भया की मां से दोषियो को माफ करने की बात कही थी जिसके बाद अब निर्भया की मां ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, 'आखिर इंदिरा जयसिंह मुझे यह सुझाव देने वाली कौन हैं? जबकि पूरा देश दोषियों को फांसी की मांग कर रहा है। उनके जैसे लोगों की वजह से ही रेप पीड़िताओं के साथ न्याय नहीं हो पाता। उन्होंने कहा कि मैं कभी दरिदों को माफी नहीं करूंगी। भगवान आकर कहें कि आशा तुम माफ कर दो, तब भी दरिदों को माफ नहीं करूंगी।

बता दें कि शुक्रवार को ही सुप्रीम कोर्ट की सीनियर वकील इंदिरा जयसिंह ने ट्वीट कर कहा था कि जैसे सोनिया गांधी ने राजीव गांधी के हत्यारों को माफ किया था उसी तरह  निर्भया की मां को भी करना चाहिए। इससे पहले 7 जनवरी 2020 को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों की डेथ वारंट जारी की। 22 जनवरी 2020 को सुबह सात बजे चारों दोषियों को फांसी देने का आदेश सुनाया था। दोषियों को बाकी बचे विकल्पों के इस्तेमाल के लिए कोर्ट ने 14 दिनों का वक्त दिया था। निर्भया की मां आशा देवी ने इंदिरा जयसिंह पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा, 'विश्वास नहीं होता कि आखिर इंदिरा जयसिंह मुझे ऐसा सुझाव देने की हिम्मत कैसे कर सकती हैं।

बीते सालों में सुप्रीम कोर्ट में उनसे कई बार मुलाकात हुई। उन्होंने एक बार भी हालचाल नहीं पूछा और आज वह दोषियों के लिए बोल रही हैं। आशा देवी ने कहा कि ऐसे लोग रेपिस्टों का समर्थन करके अपनी आजीविका कमाते हैं। इसी के चलते रेप की घटनाएं रुक नहीं रही हैं। 16 दिसंबर, 2012 को गैंगरेप के बाद निर्भया की जघन्य हत्या कर दी गई थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 4 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है। इन्हें अब 1 फरवरी को फांसी दिए जाने के लिए दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वॉरंट जारी किया है।



Browse By Tags



Other News