अकीदतमंदो ने खिलाड़ी के मजार पर की चादरपोशी
| - Rainbow News Network - Jan 23 2020 5:12PM

हॉकी मैच के दौरान ही बदरुद्दीन खान की हुई थी मौत

दिलदारनगर-ग़ाज़ीपुर। मशहूर हॉकी खिलाड़ी शहीद बदरूद्दीन ख़ान की 65 वीं बरसी पर उनके पोते मुहम्मद शहाबुद्दीन उर्फ शहाब खान गोड़सरावी के निजामत में गुरुवार को दिन के तीन बजे दिलदारनगर स्थित 'एसकेबीएम' कॉलेज परीसर मे उनके मजार पर चादरपोशी कर फातिहा ख़्वानी का एहतमाम किया गया। कालेज स्काउट प्रभारी इब्राहिम खां एवं किक बाक्सर अब्दुल सलाम के नेतृत्व में स्काउट एवं मास्क फाइट किक बाक्सिंग क्लब खिलाड़ीयों द्वारा मज़ार पर चादर पेश कर बाक्सिंग अन्दाज़ में शहीद बदरुद्दीन खान को सलामी दी।

इसके बाद सूफी कामलिन नसीम मियां दिलदारनगरी ने फातिहा पढ़ी एवं देश की अमन-चैन सुकून के लिए दुआएं मांगी। इस अवसर पर वहां मौजुद तमाम कमसारोबार से आये ज़ायरीनों के बीच संस्था बदरुद्दीन मेमोरियल फाउंडेशन के वर्तमान अध्यक्ष कुतबुद्दीन खां ने अपने चाचा बदरुद्दीन की असहनीय खेल जीवन की सराहना करते हुए लोगों को बताया की खित्ता-ए-कमसार-व-बार का नाम रोशन करने वाले हॉकी खिलाड़ी एवं 100 मी० की रेस मे चार बार अपने डिस्ट्रिक्ट से जोन चैम्पिअन रह चुके थे, शहीद बदरूद्दीन को दुनियाँ से गुज़रे आज 65 साल हो गये लेकिन उनके बेमिसाल खेल के कारनामें इस दुनियां से न मिटने वाले निशान छोड़ गये हैं।

ज्ञातव्य हो कि 1955 ई० में जोनल हॉकी फाइनल मैच के दौरान उनको मौत के घाट उतार दिया गया था और इसी खेल मैदान में उनकी जिन्दगी का आखिरी आरामगाह बना। जो खेल प्रेमियो के लिए हमेशा एक सबक है। इस दौरान 'एसकेबीएम' कॉलेज प्रबंधक गुलाम मजहर खां, हेसामुद्दीन, इसलाहुद्दीन, गयासुद्दीन, वसीम रजा, नसीम अहमद, हनीफ, मुनिफ, हाफिज शब्बीर खां, मौलाना रियाजुद्दीन, परवेज खां, प्रिंस, अमीन, जीसान, मास्टर राशिद, मास्टर सुहैल आदि लोग मौजूद रहे।

-एम. अफसर खान ‘सागर’



Browse By Tags



Other News