क्या प्रियंका गाँधी वाड्रा का यह अन्दाज काँग्रेस का पुनरूत्थान कर पायेगा?
| - Editor - Jan 30 2020 5:55PM

उत्तर प्रदेश में काँग्रेस का नया साल सन्देश/कैलेण्डर वितरण चर्चा में

देश-विदेश की राजनीति में अपने को जीवित, स्वस्थ रखने तथा सत्ता का स्वाद चखने के लिए सभी राजनैतिक दल/पार्टियाँ विभिन्न प्रकार के प्रयोग करती रहती हैं और लाइमलाइट में रहने के लिए हर तरह के हथकण्डे अपनाती हैं। इसी क्रम में कई पुराने राजनैतिक दल व पार्टियों ने देश के युवाओं को आकर्षित करने के लिए अनेको बार कथित स्टार (ग्लैमर से भरपूर) नेताओं को अपनी पार्टियों का प्रतिनिधित्व करने का अवसर प्रदान किया है। जाहिर है कि ऐसा करने से युवा वर्ग में एक अलग तरह की स्फूर्ति देखी गई जो कालान्तर में चुनाव अवसरों पर मतदान के समय वोट में तब्दील हो गया।

यह प्रयोग शायद अब पुराना हो गया, युवा वर्ग में किसी भी स्टार ग्लैमरस एवं खूबसूरत कथित लीडर को लेकर कोई आकर्षण नहीं रह गया है। बेरोजगारी, महंगाई और तमाम समस्याओं से जूझते देश के युवा वर्ग के लिए राजनैतिक पार्टियों का यह प्रयोग बेमानी सा होकर रह गया है। इन सबके बावजूद राजनैतिक पार्टियाँ जिनका पॉलिटिकल वजूद समाप्त हो चुका है उनके पुनरूत्थान हेतु कथित थिंक्स टैंक्स द्वारा तरह-तरह के एक्सीपेरीमेन्ट किए जाने की सलाहें दी जा रही हैं फलतः पार्टियों के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पंक्तियों के लीडर्स इस तरह के प्रयोगों को करने व पार्टी उत्थान हेतु एड़ी का पसीना चोटी कर रहे हैं।

इस समय देश की सर्वाधिक पुरानी राजनैतिक पार्टी काँग्रेस जिसकी उम्र 135 वर्ष (स्थापित 1885) है और जो उत्तर प्रदेश में अपना वजूद खो चुकी है इसके नेता अब आम खास लोगों के बीच जाकर उन्हें नव वर्ष पर बधाई सन्देश लिखे हुए काँग्रेस के कैलेण्डर और प्रियंका गाँधी वाड्रा के हस्ताक्षरयुक्त संदेश का वितरण कर रहे हैं। काँग्रेस पार्टी का यह प्रयोग उत्तर प्रदेश में लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। जनपदों, तहसीलों, ब्लाकों के काँग्रेस पदाधिकारी इस समय प्रियंका गाँधी वाड्रा का नव वर्ष बधाई संदेश व काँग्रेस का नये साल का कैलेण्डर का वितरण कर रहे हैं। इस अवसर की सेल्फी/फोटो खींच-खिंचवाकर सोशल मीडिया में अपलोड कर रहे हैं, साथ ही अपने खासम-खास चुनिन्दा प्रेस परसन्स को दोस्ती का हवाला देकर मन माफिक खबरों का प्रकाशन करवा रहे हैं।

काँग्रेस पार्टी के इन नेताओं द्वारा किया जा रहा यह प्रयोग लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है। पार्टी कार्यकर्ताओं ने नामचीन लोगों को यह नये साल का काँग्रेसी तोहफा वितरण कार्य जारी रखा हुआ है। यह कार्य अन्य लोगों के गले सहज ढंग से नहीं उतर रहा है। कड़ाके की ठण्ड में नववर्ष काँग्रेसी तोहफा वितरण करने वाले काँग्रेसजनों को पसीने आ रहे हैं। अब देखना यह है कि इनकी यह मेहनत आने वाले चुनाव में कितना रंग लाती है। क्या आखिल भारतीय काँग्रेस कमेटी की महासचिव/प्रभारी उत्तर प्रदेश काँग्रेस कमेटी श्रीमती प्रियंका गाँधी वाड्रा का इस तरह का प्रयोग मतदान के समय मतदाताओं को काँग्रेसी मत के रूप में तब्दील कर पायेगा? 

उत्तर प्रदेश में लोगो के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है प्रियंका गांधी का नववर्ष बधाई संदेश एवं कांग्रेस का नववर्ष कलेण्डर! यूं तो राजनैतिक पार्टियाँ एवं नेता चुनावों के दौरान जनता में कलेण्डर आदि वितरित करते हैं परन्तु उत्तर प्रदेश मे चुनाव अभी दूर है फिर लोगो तो कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का नववर्ष बधाई संदेश, कलेण्डर, डायरी पहुंच रही है जो लोगो में चर्चा का विषय बनी हुई है! बताते चले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश की प्रभारी बनने के बाद से उत्तर प्रदेश के लोगो से जुडने का निरंतर प्रयास कर रही है इसी प्रयास के तहत प्रियंका गांधी के हस्ताक्षर वाला का नववर्ष का बधाई संदेश उत्तर प्रदेश के गांव-गांव शहर पहुंच रहा है बधाई संदेश के साथ संविधान की उद्देशिका भी प्रकाशित की गई है!

प्रियंका गांधी का यह तरीका लोगो को खासा भा रहा है साथ लोगो मे कांग्रेस पार्टी द्वारा जारी किया कलेण्डर भी वितरित किया जा रहा जिसमे प्रियंका गांधी के उत्तर प्रदेश के विभिन्न दौरो संघर्षों की तस्वीरे भी प्रकाशित की गई है! पार्टी कार्यकर्ताओं तक नये साल की डायरी भी पहुंच रही है जिससे पार्टी कार्यकर्ताओं मे खासा उत्साह भी देखा जा रहा है! अधुनिक युग में प्रियंका गांधी द्वारा पुनः पुराने तरीके से चिट्ठियां, ग्रिटिंग वगैरा भेजना लोगो को खासा भा रहा है और चर्चा का विषय बना हुआ है!

-रीता विश्वकर्मा



Browse By Tags



Other News