...तो भूलकर भी न खाएँ पपीता
| Agency - Feb 6 2020 3:42PM

हमारी सेहत के लिए  सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। पपीता खाने से शरीर को कई सारे पोषक तत्व मिलते हैं। रोजाना कच्चे पपीते का सेवन करने से पेट से लेकर कैंसर तक की बीमारियां दूर हो जाती है। लेकिन पपीता सेहत के लिए जितना फायदेमंद होता है उतना ही इन लोगों के लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकता है। क्या आप जानते हैं पपीता खाने के कई नुकसान भी हो सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे क्यों पपीता आप के लिए सबसे अच्छा फल नहीं हो सकता।

अधिक पपीता खाने के नुकसान: 

एलर्जिक रिएक्शन: जिन लोगो को एलर्जी की समस्या  होती हैं उन्हें कच्चा पपीता खाने से बचना चाहिए क्योंकि पपीते में उपस्थित लेक्टस नाम का एंजाइम एलर्जी की समस्या पैदा कर सकता है।

ब्लडप्रेशर रोगियों के लिए नुकसान:

पपीता बीपी रोगियों के लिए नुकसान दायक साबित हो सकता है। इसलिए यदि आप बीपी को कंट्रोल करने के लिए दवा ले रहे हैं  तो पपीता खाना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। 
फर्टीलिटी पर होता है इसका असर: पुरुषों में यह शुक्राणुओं की संख्या को कम कर सकता है और शुक्राणु की गतिशीलता को भी प्रभावित करता है।

ब्‍लड शुगर हो सकता है कम:

मधुमेह रोगियों के लिए भी पपीते का सेवन नुकसानदेह हो सकता है। पपीता ब्‍लड शुगर के लेवल को कम कर सकता है, जो डायबिटीज रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है। ऐसे में अगर आप मधुमेह के रोगी हैं, तो डॉक्टर से परामर्श करना हमेशा सर्वोत्तम रहेगा। 

श्वसन रोग में न खाएं पपीता:

अगर आपको सांस की बीमारी है तो पपीते का सेवन नहीं करना चहिए। इसकी वजह से दमा या अस्थमा का अटैक हो सकता है। सांस लेने की तकलीफ बढ़ सकती है। इसलिए सांस के मरीजों को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए।  अगर आपको भी इस तरह की कोई परेशानी है तो पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। 



Browse By Tags



Other News