अब एसबीआई के ग्राहकों को लगेगा जोर का झटका
| Agency - Feb 7 2020 4:17PM

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति के ऐलान के बाद एकबार फिर अपने ग्राहकों के बचत पर कैंची चलाई है। एसबीआई (SBI) ने खुदरा फिक्स डिपॉडिट दरों में कटौती की घोषणा की है। SBI ने एफडी की दरों में बदलाव करते हुए एकबार फिर ब्याज दरें (Interest Rates) घटा दी हैं। ऐसे में अब एफडी कराने वालों को कम मुनाफा मिलेगा। 

आपको बता दें कि एसबीआई फिक्‍स्ड डिपॉजिट की ब्‍याज दरों में लगातार कटौती कर रहा है। अब एसबीआई ने एक बार फिर एफडी की ब्‍याज दरें घटा दी हैं। एसबीआई ने 7 दिनों से 45 दिनों की मैच्योरिटी अवधि को छोड़कर अन्य सभी तरह की एफडी की ब्‍याज दरों में कटौती की है। एसबीआई ने 1 साल से लेकर 10 साल में मैच्योर होने वाले लॉन्ग टर्म डिपॉजिट्स पर एफडी की दरों में 0.10 फीसदी से 0.50 फीसदी तक की कटौती करने का ऐलान किया है। नई दरें 10 फरवरी 2020 से लागू होंगी। 

-बैंक ने 46 दिनों से 179 दिनों में मैच्योरिटी होने वाली एफडी के ब्याज दर में 0.50 फीसदी की कटौती की है। इस कटौती के बाद अब 46 से 179 दिनों की एफडी पर 5 फीसदी ब्याज मिलेगा। इससे पहले 5.50 फीसदी ब्याज मिल रहा था।

-वहीं 180 दिन से 210 दिन और 211 दिन से 1 साल की कम अवधि वाले एफडी पर ब्‍याज दर 5.50 फीसदी हो गई है, जिसपर पहले 5.80 फीसदी का ब्‍याज मिलता था।

-इतना ही नहीं 1 से 10 साल में मैच्‍योर होने वाली एफडी के ब्याज दरों में 0.10 फीसदी की कटौती की है। अब इस एफडी पर ग्राहकों को 6 फीसदी का ब्याज मिलेगा। पहले इस तरह के एफडी पर 6.10 फीसदी ब्याज मिलता था।

गौरतलब है कि  SBI ने अपनी ऋण दरों में कटौती की है, जिससे घर और ऑटो लोन सस्ते हो गए हैं। एसबीआई ने लगातार नौवीं बार वित्त वर्ष 2019-20 के लिए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) में कटौती का एलान किया है। इसमें पांच बीपीएस की कटौती की गई है। जिसके बाद यह दर सालाना 7.90 फीसदी से कम होकर 7.85 फीसदी हो गई है। इससे ग्राहकों को फायदा होगा क्योंकि अब उन्हें सस्ते में होम लोन और ऑटो लोन मिल जाएगा।  



Browse By Tags



Other News