जिले में जोरों से चल रहा है गैस रिफिलिंग का अवैध धन्धा 
| - Rainbow News Network - Feb 10 2020 4:23PM

अम्बेडकरनगर। जिले की लगभग सभी छोटी-बड़ी बाजारों, गली-मोहल्लों में अवैध तरीके से गैस रिफिलिंग का धन्धा खूब फल-फूल रहा है। यह धन्धा घनी आबादी और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में बेरोकटोक किया जा रहा जिससे हर समय दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। घरेलू गैस सिलेण्डरों की कालाबाजारी कर 2 से 5 किलो तक के छोटे-छोटे सिलेण्डरों में गैस रिफिल कर उसे बेंचा जा रहा है। दुकानदारों द्वारा इस गैस को 90 रूपए से लेकर 120 रूपए प्रति किलोग्राम की दर से बेंचा जा रहा है। घरेलू गैस सिलेण्डरों में एक पाइपनुमा उपकरण की मदद से छोटे सिलेण्डरों में गैस रिफिल की जाती है, जिससे कभी भी सिलेण्डर फटने या उसमें आग लगने का खतरा बना रहता है। 

गैस रिफिलिंग का अवैध धन्धा जिला मुख्यालय अकबरपुर व इसके जुड़वा उपनगर शहजादपुर के दर्जनों स्थानों पर किया जा रहा है। शहर में ऐसी दर्जनों दुकानें मिल जायेंगी, जहाँ विभिन्न तरह के गैस चूल्हों के पार्ट्स व नये किचन वेयर बेंचने के नाम पर अवैध तरीके से गैस की रिफिलिंग का धन्धा चल रहा है। इस तरह का व्यवसाय करने वाले दुकानदार खुलेआम गैस की रिफिलिंग का कार्य कर रहे हैं वह भी काफी अधिक कीमत पर। 

अकबरपुर व शहजादपुर शहर में चल रहे अवैध गैस रिफिलिंग के कारोबार में दर्जनों दुकानदार लगे हुए हैं, जो दिखावे के लिए तो नये व पुराने गैस चूल्हों के पाटर््स व उनकी मरम्मत/बिक्री का कार्य करते हैं परन्तु असल में इनका मुख्य कारोबार अवैध गैस रिफिलिंग का ही है। छोटे सिलेण्डरों को रिफिल कराने वालों में ज्यादातर छात्र, किरायेदार, मजदूर और फुटपाथी दुकानदार, ठेले-खोमचे वाले शामिल हैं। अवैध तरीके से गैस रिफिलिंग का धन्धा करने वाले दुकानदार ग्राहकों से 90 से लेकर 120 रूपए प्रति किलो की दर से पैसा वसूल रहे हैं। इस व्यवसाय में संलिप्त कारोबारियों के यहाँ गोदामों में रखे गये बेतरतीब और असुरक्षित गैस सिलेण्डरों से किसी भी समय विस्फोट होने की आशंका बनी हुई है। 

इस बावत बताया जाता है कि एल.पी.जी. गैस सिलेण्डरों की होम डिलेवरी करने वालों द्वारा प्रति सिलेण्डर 2 से 3 किलो तक गैस निकाल ली जाती है और सिलेण्डर में उतने वजन का पानी भरकर उपभोक्ताओं को दे दिया जाता है। डिलेवरी देने वालों से जब पूछा जाता है तो उनका कहना होता है कि गैस एजेन्सी गोदाम से ही उन्हें इसी तरह का सिलेण्डर मिलता है। कामर्शियल और घरेलू गैस सिलेण्डरों से निकाली गई एल.पी.जी. को ये लोग गैस रिफिलिंग करने वाली दुकानों को बेंच देते हैं। यह धन्धा वर्षों से चल रहा है। गैस एजेन्सी कर्मियों से साठ-गांठ करके होम डिलेवरी देने वाले लोगों द्वारा अपने घर व अन्य जगहों पर मिनी गोदाम बना लिया गया है, जहाँ सैकड़ों की संख्या मे घरेलू व कामर्शियल सिलेण्डर जमा किए रहते हैं। 



Browse By Tags



Other News