चरमराई अकबरपुर शहर की विद्युत आपूर्ति व्यवस्था
| - RN. Network - Feb 25 2020 3:49PM
  • अकबरपुर उपकेन्द्र के सभी फीडर चल रहे हैं सामान्य: अधि0अभि0
  • आंधी-पानी की वजह से ऐसी समस्या आती है: एस.डी.ओ. 
  • अवर अभियन्ता रमेश मौर्या के कानों पर नहीं रेंगती जूँ
  • एस.एस.ओ. ऑन ड्यूटी और लाइनमैन में तालमेल नहीं 

अम्बेडकरनगर। इस समय अकबरपुर विद्युत उपकेन्द्र से सम्बद्ध लगभग सभीं इलाकों में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था चरमरा कर रह गई है। आश्चर्य तो तब होता है जब अकबरपुर शहर के दोनों उपनगरों में 10 से 12 घण्टे की अचानक विद्युत कटौती की जानकारी अधिशाषी अभियन्ता, उपखण्ड अधिकारी व अवर अभियन्ता को नहीं रहती। अकबरपुर विद्युत उपकेन्द्र से जुड़ा शहर के महत्वपूर्ण क्षेत्र शास्त्रीनगर, एल.आई.सी. गली, इल्तिफातगंज रोड, उसरहवा, गांधीनगर, बस स्टेशन,महानगर, गायत्रीनगर आदि क्षेत्रों में पिछले माह से विद्युत आपूर्ति अचानक फाल्ट्स के चलते ठप्प हो जाया करती है। जिससे इन इलाकों में घण्टों और कभी-कभी कई-कई घण्टे लोगों को विद्युत विहीन रहना पड़ता है। बता दें कि इन क्षेत्रों में अकबरपुर विद्युत उपकेन्द्र के एल.आई.सी. फीडर से विद्युत आपूर्ति की जाती है। 

बीते दिवस अर्द्धरात्रि को हल्की बूंदा-बांदी के परिणाम स्वरूप एल.आई.सी. फीडर इलाके में बिजली गुल हो गई, जो सुबह 9 बजे बहाल हो सकी। इस बारे में एल.आई.सी. क्षेत्र के चर्चित संविदा लाइनमैन दान बहादुर ने बताया कि अकबरपुर के इल्तिफातगंज रोड पर पेड़ की डाल गिरने से सप्लाई बाधित थी, जिसे सुबह वह और उनके एक सहयोगी ने मिलकर ठीक किया, तब सप्लाई बहाल हुई। 

इस क्षेत्र के अवर अभियन्ता रमेश मौर्या से जब इस सम्बन्ध में बात करने के लिए उनके सी.यू.जी. नम्बर पर कॉल की गई तो फोन रिसीव नहीं हुआ। फोनकॉल इग्नोर करना इनकी पुरानी आदत है।

उपखण्ड अधिकारी सज्जाद आलम ने पूछने पर यह कहा कि मौसम की गड़बड़ी की वजह से सप्लाई बाधित हुई थी, जिसे सुबह ठीक करा लिया गया। आंधी, पानी और बारिश की वजह से फॉल्ट आई थी।

अधिशाषी अभियन्ता वि0वि0 खण्ड अकबरपुर विनय कुमार पटेल से बात करने पर उन्होंने कहा कि अकबरपुर विद्युत उपकेन्द्र के सभी फीडर सामान्य चल रहे हैं। कहीं से भी किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं है। जब उनसे कहा गया कि 24/25 फरवरी 2020 की अर्द्धरात्रि से सुबह 9 बजे तक एल.आई.सी. फीडर की सप्लाई बन्द थी और उपभोक्ताओं का कोई पुरसाहाल नहीं था, तब उन्होंने कहा कि आंधी, पानी की वजह से दिक्कत आई थी, जिसे जल्द ही ठीक करा लिया गया था। इनकी बातों से पता चला कि 9-10 घण्टे का समय अल्प ही होता है। 

मजे की बात तो यह है कि नगर के इस क्षेत्र में रहने वाले विद्युत उपभोक्ता विद्युत अनापूर्ति की स्थिति में उपकेन्द्र पर दूरभाषीय सम्पर्क करते हैं तब काफी जद्दोजहद उपरान्त फोनलाइन मिलने पर एस.एस.ओ. ऑन ड्यूटी रटा-रटाया शब्द बोलते हैं कि फाल्ट की सूचना मिली है लाइनमैन को बता दिया गया है, जब फाल्ट ठीक हो जाएगी तो सप्लाई मिलेगी। इसके विपरीत क्षेत्रों के संविदा लाइन स्टाफ से सम्पर्क करने पर यह पता चलता है कि उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं दी गई है। इस तरह उपकेन्द्र के एस.एस.ओ. और लाइनमैन व अवर अभियन्ता तक विद्युत व्यवधान सम्बन्धी सूचना पहुँचने में घण्टों लग जाता है।

यह अवर अभियन्ता और लाइनमैन के मूड और कृपा पर निर्भर होता है कि ये लोग विद्युत उपभोक्ताओं के हित में फाल्ट ठीक कराकर कितनी देर में आपूर्ति बहाल कराते हैं। कभी-कभी जब काफी प्रयास के बाद अवर अभियन्ता रमेश मौर्या से सम्पर्क सम्भव हो पाता है तो ये रूखे अन्दाज में जवाब देते हैं कि अमुक लाइनमैन को बोल दिया है प्रॉब्लम दूर हो जायेगी तो सप्लाई रीस्टोर होगी, यदि लाइनमैन और अन्य लाइन स्टाफ फॉल्ट ट्रेस करने या उसे ठीक करने में विलम्ब करते हैं तो लाइन खुलवा देंगे। भइया जी आप विद्युत उपकेन्द्र अकबरपुर के अवर अभियन्ता हैं और नगर का महत्वपूर्ण क्षेत्र आपकी देख-रेख में विद्युत आपूर्ति पा रहा है आप चाहे जो करो। 

इस वर्ष की शुरूआत से ही अकबरपुर की बिजली सप्लाई व्यवस्था को किसी किलविस की नजर लग गई, ऐसी चर्चा है। यदि ऐसा न होता तो शायद इस तरह का अन्धेरा कायम ही न होता। बहरहाल अकबरपुर के अन्य क्षेत्रों में भले ही बिजली सप्लाई ठीक-ठाक हो परन्तु एल.आई.सी. फीडर से जुड़े उपभोक्ताओं की आक्रोश भरी शिकायत है कि उनके इलाके में घण्टों बिजली ठप्प रहती है, काफी चिल्ल-पों करने पर भी महकमे के जिम्मेदारों का ध्यान उधर नहीं जाता है। 

आये दिन होने वाली अघोषित विद्युत कटौती की वजह से बोर्ड व विश्व विद्यालयी परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। इसके अलावा कार्य दिवस पर अपनी ड्यूटी पर जाने वाले लोगों की प्रातःकालीन दिनचर्या भी इस तरह की ठप्प होने वाली बिजली आपूर्ति ने अस्त-व्यस्त करके रख दिया है। उधर विद्युत महकमे के लाइन मैन से लेकर अधिशाषी अभियन्ता तक इस समस्या को कोई समस्या ही नहीं मान रहे हैं। 

लाइनमैन दानबहादुर एण्ड टीम को इस क्षेत्र से हटाने की उठ रही मांग

एल.आई.सी. फीडर से जुड़े विद्युत उपभोक्ताओं ने जोरदार ढंग से मांग किया है कि इस क्षेत्र में विभागीय और संविदा लाइनमैन को यहाँ से अविलम्ब हटाया जाय। इन लोगों ने स्पष्ट कहा कि दानबहादुर सिंह नामक लाइनमैन एण्ड टीम का तात्कालिक प्रभाव से क्षेत्र बदला जाना चाहिए। बेहतर यह होगा कि इन गैर जिम्मेदारों को विद्युत उपकेन्द्र पर अतिरिक्त स्टाफ के रूप में रखा जाये या फिर अन्य कोई कार्य दिया जाय। 



Browse By Tags



Other News