अब मुस्कराइये कि आप अकबरपुर बस स्टेशन क्षेत्र की सड़क पर हैं.....
| - RN. Network - Feb 29 2020 4:08PM
  • जाम मुक्त हुआ अकबरपुर का बस स्टेशन क्षेत्र
  • पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी द्वारा दी गई नई ट्रैफिक व्यवस्था की हो रही सराहना

मीडिया की सुर्खियों में रहने वाला समाचार जाम की समस्या आम और जाम से कराहता अकबरपुर/शहजादपुर उपनगर या फिर इससे मिलते-जुलते शीर्षकों से प्रकाशित व प्रसारित खबरे शायद ही अब नित्य-नियमित पढ़ने को मिलें। चौंकिए मत! ऐसा नहीं है कि शहर की इस समस्या का प्रकाशन करने वाला मीडिया संस्थान विलुप्त हो गया है या फिर उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर जनपद के मुख्यालयी शहर अकबरपुर और शहजादपुर की मुख्य सड़क ने अपना अस्तित्व समाप्त कर दिया है। एक हफ्ते पूर्व जिसने भी अकबरपुर के बस स्टेशन क्षेत्र को देखा और जाम की समस्या के दंश को झेला होगा वही आज जब इस क्षेत्र में सड़क पर राहगीर अथवा बाइक या फिर मोटर वाहनों पर सवार होकर गुजर रहा है तो उसे सब सबकुछ बदला-बदला सा प्रतीत हो रहा है। ऐसा क्यों...........के उत्तर में वह स्वयं यह नहीं समझ पा रहा है कि क्या यह बस स्टेशन अकबरपुर का वही क्षेत्र है जिसकी सड़क पर से चलना दुष्कर हुआ करता था, और लगे कष्टकारी भयंकर जाम की वजह से गन्तब्य को पहुँचने में घण्टो विलम्ब हुआ हो जाया करता था। 

तात्पर्य यह कि वर्तमान में अकबरपुर बस स्टेशन क्षेत्र की मुख्य सड़क देखकर ऐसा प्रतीत होने लगा है कि मीडिया की सुर्खियों में रहने वाली जाम की समस्या से सम्बन्धित खबरों और मुख्य सड़क मार्ग पर चलने वाले राहगीरों, वाहन चालकों की दिक्कतों को महसूस कर समस्या का निराकरण करने वाला कोई सम्बन्धित सरकारी महकमा यहाँ अवश्य ही अस्तित्व में है। दशकों से अकबरपुर के बस स्टेशन इलाके की सड़क पर चार पहिया वाहन से कौन कहे पैदल चलना भी दूभर था। कोई ऐसा दिन नागा नहीं जाता था जब इस क्षेत्र में लगे भयंकर जाम में फंसे लोगों की समस्या मीडिया की सुर्खिया बनकर प्रकाशित व प्रसारित न होती रही हों। समाचारों में पुलिस महकमा विशेष तौर पर यातायात पुलिस के बारे में काफी कुछ नकारात्मक टिप्पणियाँ रहती थीं। इस समय की दशा व वर्तमान स्टेटस देखकर मीडिया भी अकबरपुर बस स्टेशन क्षेत्र में यातायात व्यवस्था के इस नये स्वरूप से अभिभूत होकर पुलिस/यातायात पुलिस की सराहना किए बिना नहीं रह पा रहा है। 

इसका श्रेय किसको जाता है............सीधा सा जवाब है कि जिला पुलिस प्रमुख को। क्यों...........उत्तर होगा कि वर्तमान पुलिस अधीक्षक जो अम्बेडकरनगर जनपद गठन के 25वें वर्ष में यहाँ बहैसियत जिला पुलिस के आला हाकिम के रूप में तैनात हुए। उन्होंने ही इस समस्या को गम्भीरता से लिया। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने अकबरपुर/शहजादपुर दोनों उपनगरों की मुख्य सड़क पर उत्पन्न होने वाले जाम को अपनी अनुभवी नजरों से देखा और यह महसूस किया कि यह समस्या वाकई गम्भीर है। अब तक की लाइलाज बनी इस जाम की समस्या के इलाज हेतु उन्होंने अपने अनुभवी सहकर्मियों से गहन विचार-विमर्श किया। पुलिस अधीक्षक द्वारा जाम की समस्या से निजात पाने हेतु बनाई गई रणनीति में उनके सहयोगी रहे अनुभवी पुलिस अधिकारी धर्मेन्द्र कुमार सचान क्षेत्राधिकारी सदर, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली अकबरपुर अमित प्रताप सिंह, यातायात प्रभारी उपनिरीक्षक सुधांशु वर्मा, कस्बा चौकी प्रभारी चन्द्रभान यादव आदि ने पुलिस प्रमुख द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन किया। 

परिणाम यह रहा कि दो-तीन दिन के उपरान्त ही नई व्यवस्था के तहत अकबरपुर बस स्टेशन क्षेत्र व इसकी मुख्य सड़क अतिक्रमण मुक्त हो गई। लोग, राहगीर, वाहन चालक सभी इस सड़क पर सुगमता से आवागमन करने लगे। रोडवेज की बसों का ठहराव बस स्टेशन अकबरपुर जैसे भीड़-भाड़ और संकरे स्थान के बजाय अब पटेलनगर तिराहा पर कर दिया गया। शुरूआती कुछ दिक्कतों के बाद बस यात्रियों को धीरे-धीरे सहूलियत हो जाएगी और ये लोग पटेलनगर तिराहा पर खड़ी होने वाली रोडवेज की बसों से आवागमन कर सकेंगे, ऐसा लोगों का कहना है। 

कुछ भी इस समय अकबरपुर बस स्टेशन के परिवर्तित स्वरूप देखकर हर कोई जिले के पुलिस महकमे व यातायात पुलिस की तारीफ किए बिना नहीं रह पा रहा है। इस नई टैªफिक व्यवस्था को लेकर तरह-तरह की चर्चाएँ हो रही हैं। प्रमुख रूप से इस नई व्यवस्था के दीर्घायु होने को लेकर है। लोगों का कहना है कि यह व्यवस्था तभी तक सुचारू रूप से लागू रहेगी जब तक वर्तमान पुलिस प्रमुख, पुलिस अधिकारी और यातायात पुलिस इस पर अपनी पैनी नजर रखेंगे। इस नई ट्रैफिक व्यवस्था के दीर्घायु होने की कामना करने वालों का कहना है कि काश! ऐसा भविष्य में हमेशा चले। 

कुछ भी हो इस समय अकबरपुर बस स्टेशन इलाके में लागू की गई ट्रैफिक की नई व्यवस्था और जाम मुक्त मुख्य सड़क देखकर क्षेत्रीय, स्थानीय व दूर-दराज से आने-जाने वाले राहगीर और वाहन यात्रियों के मुँह से तारीफ ही निकल रही है। इस तरह की नई ट्रैफिक व्यवस्था देने और जाम से कराह रहे अकबरपुर बस स्टेशन क्षेत्र को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए वर्तमान पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी हमेशा याद किए जाएँगे। 

-रीता विश्वकर्मा



Browse By Tags



Other News