मास्‍क को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन
| Agency - Mar 19 2020 1:05PM

आज पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने कोहराम मचा दिया है। भारत में लोग घर से न‍िकलने से पहले सोच रहे हैं कि वो आख‍िर सफर कैसे करें। मेट्रो, टैक्सी, प्लेन, ट्रेन या बस कौन सा सार्वजनिक परिवहन है जो सबसे सेफ है। भीड़ में ये पहचान करना मुश्क‍िल होगा कि आख‍िर संक्रम‍ित कौन है। खासकर लोग ये जानने की कोशिश में लगे हैं कि इससे बचाव के उपाय क्‍या क्‍या हैं। सबसे पहले आप कहीं सार्वजनिक जगह पर जाते हैं तो मास्क पहनकर रखें। हालांकि मॉस्क कहां और कब-कब पहनना है। इसको लेकर भी गाइडलाइन जारी की गई है।

कब पहनना चाहिए मास्‍क

  • यदि आपको वायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। जैसे खांसी, बुखार या सांस लेने में कठिनाई हो रही हो।
  • आप एक कोविड -19 संदिग्ध / पुष्टि रोगी की देखभाल कर रहे हैं।
  • आप एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता हैं जो सांस वाले मरीजों की देखभाल कर रहे।

मास्क पहनने से पहले जानिए गाइडलाइन

  • चेहरे को मास्क से अच्छी तरह ढंकना चाहिए।
  • छह घंटे के बाद या जैसे ही यह गीला हो जाता है, मास्क बदल लें।
  • अपने नाक, मुंह और ठुड्डी पर मास्क लगाएं और सुनिश्चित करें कि मास्क के दोनों तरफ कोई गैप न हो। फिट करने के लिए समायोजित करें।
  • डिस्पोजेबल मास्क का पुनः इस्तेमाल कभी न करें और इस्तेमाल किए हुए मास्क को बंद डिब्बे में डाल दें।
  • उपयोग करते समय मास्क को छूने से बचें
  • इसे हटाते समय मास्क की संभावित दूषित बाहरी सतह को न छुएं
  • गर्दन से लटकते हुए मास्क को न छोड़ें
  • मास्क हटाने के बाद, अपने हाथों को साबुन और पानी से साफ करें या अल्कोहल-आधारित सैनेटाइज का उपयोग करें।

क्या हैं कोरोना वायरस के लक्षण?

इस बीमारी के लक्षणों की बात करें तो यह सामान्य सर्दी जुकाम या निमोनिया जैसा होता है। इस वायरस का संक्रमण होने के बाद बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या होती है। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में सामने आया था और तब से ये बड़ी तेज़ी से दूसरे देशों में भी पहुंच रहा है।



Browse By Tags



Other News