सुरभि वर्मा का पशु प्रेम अनुकरणीय 
| - RN. Network - Apr 1 2020 2:51PM

लाकडाउन में लावारिस पशुओं को खिला रही हैं रोटियाँ

इस समय पूरे विश्व में कोरोना वायरस की वजह से वैश्विक महामारी की विभीषिका से जनमानस त्रस्त है। विश्व के लगभग सभी देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) से बचाव के लिए हर तरह के उपाय किए जा रहे हैं। मानवता की रक्षा हेतु पढ़ा लिखा, शिक्षित, जागरूक व्यक्ति अपने-अपने तरीके से जी-जान से लगा हुआ है। अब तक बहुत कम ही सुना गया है कि किसी संगठन व व्यक्ति तथा अन्य लोगों ने छुट्टा, आवारा पशुओं के प्राण रक्षार्थ कुछ किया हो। शायद.......लोगों को इस बात का कम ही इल्म होगा कि बगैर पशुओं के सम्पूर्ण धरातल के जीवन का संतुलन नहीं बन पाता है।

यदि यह कहा जाये कि विश्व पर्यावरण तभी स्वस्थ रहेगा जब धरती पर मानव के साथ-साथ समस्त जीव-जन्तु, पेड़-पौधे जीवित रहकर अपने अस्तित्व में रहेंगे। इनका अस्तित्व विहीन होना मानव जीवन के लिए संकटकारी होगा। धरा पर विद्यमान सब कुछ सजीव और निर्जीव एक दूसरे के पूरक हैं। वृक्षों से लेकर वनचर, जलचर, नभचर सभी का जीवन उतना ही महत्वपूर्ण है जितना की मानव का अपने स्वयं के लिए। आजकल महामारी कोरोना वायरस की विभीषिका के दृष्टिगत देश में लाकडाउन की स्थिति चल रही है। 

हर कोई मानव जीवन के रक्षार्थ अपने-अपने तरीके से प्रयास कर रहा है। मदद, इमदाद देने की होड़ सी लगी है। परन्तु इस तरह के लोग जो समाजसेवा में जुटे हुए हैं और समाजसेवी संगठनों के ऐक्टिविस्ट कहे जाते हैं, उन्हें यह बात विस्मृत हो चुकी है कि आवारा छुट्टा घूम रहे पशुओं का जीवन भी काफी महत्वपूर्ण है। इनका जिन्दा रहना आवश्यक है। इस संकट की घड़ी में उनके भी खान-पान, रहने व स्वास्थ्य के प्रति ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। -रीता

हमें उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर जनपद से मिले एक समाचार के अनुसार पता चला कि एक विदुषी महिला ने छुट्टा, लावारिश पशुओं जैसे गाय, बैल (गोवंश) और कुत्तों के प्रति अपनी संवेदना दिखाई है, और ये नित्य अपने व अपने संगठन की तरफ से इन लावारिसों के लिए वारिस सा बनकर उन्हें भोजन कराती हैं। आपको बता दें कि उक्त सहृदय महिला का नाम सुरभि वर्मा है, जो ‘‘गन्तव्य चैरिटेबुल ट्रस्ट’’ की चेयरमैन हैं। 

सुरभि ने छुट्टा व लावारिस जानवरों को रोटियाँ खिलाना शुरू कर दिया है। जानकारी के अनुसार इनके द्वारा अब तक दर्जनों कुत्तों व गोवंशों को रोटियाँ खिलायी गयी। गन्तव्य चैरिटेबुल ट्रस्ट की अध्यक्ष सुरभि वर्मा ने बताया कि स्ट्रीट एनिमल्स को रोटी खिलाने का कार्य कोरोना महामारी और लाकडाउन के दौरान निरन्तर चलता रहेगा। उन्होंने अब तक बाहरी 50 कुत्तों व 30 गायों को रोटियाँ खिलाई हैं।

यहाँ बता दें कि एन.जी.ओ. गन्तव्य चैरिटेबुल ट्रस्ट की चेयरमैन सुरभि ने अपने घर पर तमाम तरह के जानवरों का रख-रखाव एवं देखभाल करने की व्यवस्था कर रखी है और बड़े ही लगन के साथ वह पशु सेवा करने की अहम भूमिका का निर्वहन कर रही हैं। सुरभि वर्मा के अनुसार उनकी एन.जी.ओ. इस तरह का कार्य प्रदेश के गाजियाबाद, सहारनपुर, बिजनौर जैसे शहरों में निरन्तर व्यापक स्तर पर कर रही है। 

एन.जी.ओ. चेयरपर्सन सुरभि वर्मा ने सर्वसाधारण से यह अपील भी किया है कि जब तक कोरोना वायरस जैसी महामारी का दौर चल रहा है तब तक प्रत्येक व्यक्ति अपने घरों के सामने गली के जानवरों के लिए रोटी, पानी एवं अन्य खाद्य सामग्री रखते रहें। जिससे इन लावारिस छुट्टा जानवरों को निरन्तर भोजन मिलता रहे और ये जीवित रहें। उन्होंने यह भी कहा है कि यदि कहीं किसी जानवर को किसी प्रकार की दिक्कत या उसके पालने में समस्या आती है तो उनसे सम्पर्क कर समस्या से अवगत कराया जा सकता है। समस्या के निवारण हेतु गन्तव्य चैरिटेबुल ट्रस्ट (एन.जी.ओ.) पूर्ण सहयोग प्रदान करेगा।

सुरभि वर्मा ने सम्पर्क हेतु एन.जी.ओ. को मोबाइल नम्बर-8979060094 दे रखा है। बता दें कि सुरभि वर्मा अम्बेडकरनगर जनपद में अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) के पद पर तैनात डॉ. पंकज कुमार वर्मा की धर्मपत्नी हैं। 



Browse By Tags



Other News