अम्बेडकरनगर में समाप्त न किया जाये लाकडाउन, क्योंकि.......
| - RN. Network - Apr 30 2020 5:03PM

लाकडाउन समाप्त न करके कुछ क्षेत्रों मे सशर्त दी जाये छूट: सूरज गुप्ता

संकल्प के प्रबन्धक ने यू.पी. सी.एम. योगी आदित्यनाथ से की मांग

अम्बेडकरनगर। कोरोना वायरस के चलते चल रहे लाकडाउन-02 की अवधि 3 मई को समाप्त होने वाली है। और उत्तर प्रदेश के किन जिलों से लाकडाउन में ढील दी जाये अथवा पूरी तरह समाप्त कर दिया जाये इसे लेकर शासन में मंथन-चिन्तन चल रहा है। बता दें कि अभी तक अद्यतन सूचना के अनुसार जिले में कोई भी व्यक्ति कोरोना से पीड़ित, संक्रमित नहीं पाया गया है। यह जिला कोरोना पॉजिटिव मुक्त होने की वजह से ग्रीन जोन में रखा गया है। जैसे-जैसे लाकडाउन-02 की अवधि समाप्ति के करीब पहुँच रही है, वैसे-वैसे जिले की जनता की जिज्ञासा बढ़ती जा रही है। सभी लोग इस उम्मीद पर हैं कि इस बार 3 मई के बाद उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले से लाकडाउन पूरी तरह उठा लिया जायेगा। ऐसे में जागरूक, पढ़े-लिखे और समाजसेवा से जुड़े लोगों का कहना है कि अम्बेडकरनगर जिले से लाकडाउन उठा लिये जाने से अचानक कोरोना संक्रमण को दावत देने की तरह होगा। 

जिले के प्रमुख एन.जी.ओ. संकल्प मानव सेवा संस्था के प्रबन्धक, युवा समाजसेवी सूरज गुप्ता उर्फ बन्टी गुप्ता ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ से मांग किया है कि अम्बेडकरनगर जिले में लागू लाकडाउन को बरकरार रखा जाये। सूरज गुप्ता ने कहा है कि हालांकि यह जिला अभी तक कोरोना संक्रमण से बचा हुआ है और प्रदेश सरकार द्वारा ग्रीन जोन में रखा गया है। ऐसे में 3 मई के बाद यहाँ लाकडाउन खुलने की सम्भावना व्यक्त की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस जिले के सभी सीमावर्ती जनपदों में कोरोना संक्रमण फैला हुआ है। 

दक्षिण में सुल्तानपुर, जौनपुर, पूरब में आजमगढ़, उत्तर में बस्ती पश्चिम में अयोध्या जिले में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इस स्थिति में अम्बेडकरनगर जिसे ग्रीन जोन में रखा गया है से लाकडाउन हटाया जाना भयंकर संकट को जन्म देने के समान होगा। बेहतर यह है कि लाकडाउन में ढिलाही बरती जाये और आवश्यक क्षेत्रों में छूट दी जाये। संकल्प के सूरज गुप्ता ने कहा कि बीते कुछ दिनों से जिले के ग्रामीण और शहरी इलाकों में रहने वाले लोग अपने घरों में कैद रहने की वजह से ऊब चुके हैं, और मन बहलाने व ताजी हवा खाने के लिए तरस गये हैं। ये लोग अब रात को 12 बजे के आस-पास अपने-अपने परिवार के साथ सोशल डिस्टैन्सिंग को दरकिनार करते हुए चहलकदमी और रात्रि कालीन मौज मस्ती करते देखे/सुने जा रहे हैं। 

बताया गया है कि पुलिस की सख्ती के भय से यह लोग उस समय सोशल डिस्टैन्सिंग की अनदेखी करते हुए अपने घरों से पूरे परिवार के साथ जिसमें बच्चे-बूढ़े और जवान शामिल रहते हैं आधी रात के समय गली, कूचों में चहलकदमी करते हुए भरपूर इन्जॉय कर रहे हैं। यदि ग्रीन जोन में शामिल इस जिले से लाकडाउन हटा दिया जायेगा तो स्थिति अनियंत्रित हो जायेगी। साथ ही सीमावर्ती जिलों से संक्रमण फैलने की सम्भावना भी बलवती हो जायेगी। सूरज गुप्ता ने कहा कि अम्बेडकरनगर का जिला प्रशासन लाकडाउन के नियमों का अनुपालन कराने हेतु पूर्णतया प्रतिबद्ध है। इसके लिए जिला प्रशासन के मुखिया/जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र की जितनी सराहना की जाये वह कम ही है। 

संकल्प प्रबन्धक ने कहा कि जिला पुलिस एस.पी. आलोक प्रियदर्शी के नेतृत्व में अपने दायित्वों के निवर्हन में पीछे नहीं है। इसी तरह स्वास्थ्य महकमा सी.एम.ओ. डॉ. अशोक कुमार के कुशल नेतृत्व में पूरी तरह सक्रिय और संकल्पित है। सूरज गुप्ता ने देश के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी की दूरदर्शिता की प्रशंसा करते हुए कहा कि सही समय पर देश में लाकडाउन का उनके द्वारा लिया गया निर्णय मानव और मानवता के हित में रहा। यदि ऐसा न करते तो कोरोना संक्रमित विश्व के अन्य देशों की तरह यहाँ भी हालात नियंत्रण के बाहर होता। 

युवा समाजसेवी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में लाकडाउन के नियमों का पालन कराने हेतु जो कदम उठाया है उसकी सराहना की जाये। योगी ने प्रदेश की जनता के हित को सर्वोच्च रखा यही कारण रहा कि वह अपने पिता आनन्द सिंह बिष्ट के निधन पर उत्तराखण्ड उनके अन्तिम दर्शन के लिए नहीं गये। उनका यह त्याग और मानव समाज के प्रति निष्ठा हमें भूलना नहीं चाहिए। सूरज गुप्ता ने रेनबोन्यूज से वार्ता करते हुए कहा कि यह अच्छा संयोग है कि अम्बेडकरनगर जिले में लाकडाउन का सख्ती से पालन हुआ। प्रदेश सरकार के निर्देश के अनुपालन में जिला प्रशासन ने गम्भीरता दिखाई, परिणाम यह रहा कि कोरोना संक्रमण का कोई मामला न मिलने से यह जिला ग्रीन जोन में रखा गया। 

अब जबकि लाकडाउन-02 की अवधि समाप्त होने को है और जिले भर में लोगों द्वारा खुशी जताई जा रही है कि 4 मई से लाकडाउन समाप्त कर दिया जायेगा तब तरह-तरह की आशंकाएँ उत्पन्न हो रही है। मैं एक समाजसेवी हूँ, जब-जब आवश्यकता पड़ेगी, संकल्प टीम के साथ सेवा करता रहूँगा परन्तु उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस समय इतना ही कहूँगा कि 4 मई से प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले से लाकडाउन समाप्त न करते हुए कुछ क्षेत्रों में कार्य हेतु ढील दी जाये। धीरे-धीरे भले ही समय लगे जब कोरोना वायरस पर पूर्ण रूप से नियंत्रण पा लिया जाये या पाने की क्षमता आ जाये तब लाकडाउन पूरी तरह समाप्त किया जाये। समाजसेवी ने कहा कि अम्बेडकरनगर जनपद में रहने वाले हर जाति, धर्म के लोग उनकी आशंका और इस मशवरे से सहमत होंगे।  



Browse By Tags



Other News