मई माह में अन्त्योदय व पात्र गृहस्थी जॉब कार्ड धारकों को मिलेगा निःशुल्क खाद्यान्न: डी.एस.ओ.
| - RN. Network - May 1 2020 4:25PM

राकेश कुमार, जिलापूर्ति अधिकारी

डी.एस.ओ. राकेश कुमार ने इस आशय का पत्र जारी कर कोटेदारों को दिया निर्देश

कोरोना कहर-वैश्विक महामारी कोरोना काल। कोविड-19 में संक्रमण से बचाव हेतु देश में लागू लाकडाउन। मानव और मानवता को इस जंग में भुखमरी से बचाने के लिए खाद्य रसद महकमा सरकार के निर्देश पर प्रतिबद्ध। लाकडाउन-01 के उपरान्त लाकडाउन-02 चालू और अपने अन्तिम चरण में। ऐसे में लाभार्थी कार्ड धारकों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत किस तरह की व्यवस्था दी गई है और पुरानी व्यवस्था में क्या परिवर्तन किये गये हैं, कार्ड धारकों को राशन प्राप्त करने के लिए अब क्या करना होगा आदि........आदि.........आदि की जानकारी स्वयं जानने और उसका सार्वजनिक प्रकाशन करने हेतु हमने अम्बेडकरनगर जिले के जिलापूर्ति अधिकारी राकेश कुमार से बात-चीत किया। 

डी.एस.ओ ने बताया कि कोविड-19 के दृष्टिगत बीते माह अप्रैल 2020 में अन्त्योदय और पात्र गृहस्थी जाबकार्ड धारकों को अनुमन्य खाद्यान्न का कोई मूल्य नहीं लिया गया था। यह व्यवस्था मई 2020 में भी लागू रहेगी। जिलापूर्ति अधिकारी राकेश कुमार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली को इस बावत सक्रिय करने हेतु जिले के सभी उचित दर विक्रेताओं को प्रदेश सरकार द्वारा दिए गए आदेश का हवाला देते हुए पत्र जारी किया है। राकेश कुमार से की गई बातचीत और उनके द्वारा उचित दर विक्रेताओं को प्रेषित पत्र में उद्धृत जानकारियाँ प्रकाशित कर रहे हैं।

-रीता विश्वकर्मा

अम्बेडकरनगर के जिलापूर्ति अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि खाद्यान्न वितरण 1 मई से अनिवार्य रूप से प्रारम्भ हो जायेगा। अन्त्योदय कार्ड धारकों को प्रतिकार्ड 35 किलोग्राम खाद्यान्न तथा उन पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को जो मनरेगा जाब कार्ड धारक, श्रम विभाग में पंजीकृत अथवा नगर विकास विभाग में दिहाड़ी मजदूर हैं को प्रति यूनिट 3 किलोग्राम गेहूँ व 2 किलोग्राम चावल निःशुल्क दिया जायेगा। 

डी.एस.ओ. कुमार ने उचित दर विक्रेताओं को निर्देश दिया है कि वे लाभार्थियों में निर्धारित मानक के अनुरूप ही खाद्यान्न का वितरण करें। डी.एस.ओ. द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि जिले के समस्त उचित दर विक्रेता ई-पॉस मशीन प्रातः 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक क्रियाशील रहेगी। इस अवधि में कोटेदार दुकान खोलकर खाद्यान्न का नियमानुसार वितरण लाभार्थियों में करें। इसके अलावा निःशुल्क खाद्यान्न प्राप्त करने वाले लाभार्थियों की ई-पॉस मशीन में श्रेणीवार फ्लैगिंग करते हुए वितरण करें।

उचित दर की दुकान की जाँच हेतु टीमों का गठन किया गया है। इन टीमों द्वारा प्रत्येक दुकान की जाँच कराकर खाद्यान्न का सम्यक वितरण सुनिश्चित कराया जायेगा। डी.एस.ओ. ने कहा कि यदि किसी उचित दर विक्रेता द्वारा खाद्यान्न वितरण में किसी प्रकार की लापरवाही बरती गई तो उसके विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 के अन्तर्गत मुकदमा पंजीकृत कराते हुए दुकान का अनुबन्ध-पत्र निरस्त करने की कार्यवाही की जायेगी। 

कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत ई-पॉस से वितरण के समय अत्यन्त सजगता बरता जाना आवश्यक है, इसलिए प्रत्येक उचित दर विक्रेता को अपनी दुकान पर सैनिटाइजर, साबुन व पानी रखना अनिवार्य है। दुकानदार लाभार्थियों का हाथ साबुन से धुलवाने के उपरान्त ही ई-पॉस मशीन पर अंगूठा लगवाना सुनिश्चित करें। उचित दर दुकानों पर सोशल डिस्टैन्सिंग का पूरा ध्यान रखते हुए राशन वितरण किया जाये। दुकानदार दुकानों पर भीड़ इकट्ठा न करें। दो उपभोक्ताओं के मध्य कम से कम 01 मीटर की दूरी रखें। 

जिलापूर्ति अधिकारी राकेश कुमार ने स्वहस्ताक्षरित प्रेषित पत्र में सभी उचित दर विक्रेताओं को आगाह करते हुए कहा है कि 1 मई 2020 से वितरित किये जाने वाले खाद्यान्न वितरण के सम्बन्ध दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देशों का अनुपालन करें। निर्देशों की अवहेलना पाये जाने पर कठोर कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। 



Browse By Tags



Other News