UP : ग्रीन जोन अम्बेडकरनगर में पहली बार मिले 2 कोरोना पॉजिटिव, प्रशासनिक अमले में मचा हड़कम्प
| - RN. Network - May 11 2020 5:44PM

सी.एम.ओ. ने किया पुष्टि, समाजसेवी ने कहा लाकडाउन में न दी जाये ढील

-रीता विश्वकर्मा

अम्बेडकरनगर। कोरोना वायरस के कहर से बचा हुआ उत्तर प्रदेश का अम्बेडकरनगर जनपद जो अब तक ग्रीन जोन में था, लाकडाउन के 47वें दिन दो कोरोना पॉजिटिव के मिलने से अब अपनी वर्तमान श्रेणी बदलने की स्थिति में आ गया है। बता दें कि 25 मार्च 2020 से कोविड-19 से बचाव हेतु देश में लाकडाउन घोषित किया गया है। इस समय लाकडाउन का तीसरा चरण चल रहा है, और अगले सप्ताह 17 मई को यह चरण समाप्त हो जायेगा। इसी बीच जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की खबर (दो पॉजिटिव मामले) ने पूरे सिस्टम में खलबली मचा दी और सभी लोग कोविड-19 की होने वाली इस दस्तक से सकते में आ गये। 

विवरण अनुसार अम्बेडकरनगर जिले के पूर्वांचल स्थित आलापुर तहसील के रामनगर ब्लाक अन्तर्गत ग्राम धनुकारा में सोमवार को दो कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मच गया, वहीं आस-पास के लोगों में कोरोना दहशत का मंजर दिखाई पड़ने लगा। ग्रीन जोन वाले इस जिले में जैसे ही यह खबर यहाँ के हर तबके में मिली जंगल में आग की तरह फैल गई। लोग एक दूसरे से भयभीत स्वर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के बारे में जानकारी हासिल करते नजर आये। 

मिली जानकारी के अनुसार आलापुर क्षेत्र के धनुकारा गाँव के दोनों कोरोना पॉजिटिव बीते दिनों दिल्ली से अपने गाँव वापस लौटे थे। इनका रेंडम चेकअप किया गया था, जिसमें ये पॉजिटिव पाये गये। धनुकारा के रहने वाले दोनों कोरोना पॉजिटिव नवयुवक हैं। जिनमें एक की उम्र 21 व दूसरे की 27 वर्ष बताई गई है। कोरोना पॉजिटिव की खबर फैलने के साथ ही प्रशासनिक अमला मरीजों के परिजनों व उनके सम्पर्क में आने वालों की जानकारी प्राप्त करने में जुट गया, साथ ही धनुकारा गाँव की सभी सीमाएँ सील कर दी गई हैं। सुरक्षा की दृष्टि से अतिरिक्त बल तैनात कर दिया गया है। 

डॉ. अशोक कुमार, सी.एम.ओ.

 

सी.एम.ओ. ने की खबर की पुष्टि-

इस खबर की पुष्टि के लिए जब हमने जिले के सी.एम.ओ. से बात किया तो डॉ. अशोक कुमार ने कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने की बात कही और बताया कि धनुकारा के दोनों नवयुवक दिल्ली से आये थे, जिनका रेंडम चेकअप पॉजिटिव मिला है, इसके साथ ही अन्य मरीजों की तलाश जारी है। 

मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि धनुकारा गाँव में दिल्ली से आये दो व्यक्तियों में कोरोना वायरस धनात्मक पाया गया। सी.एम.ओ. के अनुसार उक्त गाँव निवासी 27 वर्षीय विनोद व 21 वर्षीय सुभाष कुमार जो 5 मई 2020 को आये थे, इन दोनों में कोई लक्षण नहीं पाया गया था, परन्तु डॉ. उज्जला घोषाल प्रोफेसर एण्ड हेड डिपार्टमेन्ट ऑफ माइक्रो बॉयोलॉजी संजय गाँधी पीजीआई एमएस लखनऊ- 226014 (इण्डिया) प्रेषित द्वारा ई-मेल के अनुसार ये दोनों नवयुवक कोरोना धनात्मक पाये गये।

डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि इसकी सूचना अति महत्वपूर्ण पत्र (पत्रांक मु0चि0अ0/कोविड-19/2020-21/17013 दिनांक 11-5-2020) के माध्यम से जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर को उनके द्वारा दी जा चुकी है। उनके द्वारा प्रेषित पत्र में जिलाधिकारी से अनुरोध किया गया है कि उक्त गाँव धनुकारा के 1 किलोमीटर की परिधि को संक्रमित क्षेत्र घोषित कर सीलबन्द कराया जाये, ताकि निरोधात्मक कार्रवाई की जा सके।  

समाजसेवी सूरज कुमार उर्फ बन्टी गुप्ता ने कहा-

धनुकारा गाँव में मिले दो कोरोना पॉजिटिव मरीजों की खबर मिलते ही जिले के युवा समाजसेवी संकल्प मानव सेवा संस्था के संस्थापक सूरज कुमार उर्फ बन्टी गुप्ता ने रेनबोन्यूज को फोन करके बताया कि लाकडाउन के दो चरण पूरे और तीसरे के दो तिहाई समापन उपरान्त इस जिले में भी कोरोना का संक्रमण आ ही गया, जिसका उन्हें पहले से ही भय था, और उन्होंने जिला प्रशासन, प्रदेश सरकार को आगाह किया था कि जिले में यदि ग्रीन जोन की स्थिति कायम रखना है तो लाकडाउन में किसी प्रकार की ढील न दी जाये। परन्तु हुआ उसका उल्टा नतीजा यह है कि जिले में दो करोनो पॉजिटिव मामले पाये गये। इस मामले से जिले का ग्रीन जोन का तमगा छिन ही गया साथ ही जिला प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ्य महकमा व सामाजिक संगठनों द्वारा की गई जी तोड़ मेहनत पर पानी फिर गया। 

सूरज कुमार उर्फ बन्टी गुप्ता ने कहा कि तीसरे चरण में मिले कोरोना पॉजिटिव मरीज जो दिल्ली से चलकर यहाँ आये हुए हैं जिले में कहाँ-कहाँ और किस-किस के सम्पर्क में आये, उनसे कितने लोग प्रभावित हुए हैं अब प्रशासन को गम्भीरता से इसकी जाँच करनी होगी। यदि इस जाँच कार्रवाई में किसी भी प्रकार की ढील दी गई तो बहुत बड़ी अनहोनी हो सकती है। कितने लोग संक्रमित हो जायेंगे कहना मुश्किल होगा।

संकल्प के सूरज गुप्ता ने कहा कि हालांकि अगले 14 दिनों में वस्तु-स्थिति स्पष्ट हो जायेगी फिर भी सतर्कता बरती जानी चाहिए। युवा समाजसेवी ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव दो मरीज मिलने से पूरे जिले में भय का माहौल बन गया है। जिला प्रशासन को चाहिए कि वह जनता को अपने विश्वास में लेकर इस बात के लिए आश्वस्त करे कि कोरोना वायरस के प्रति वह अब और अधिक सतर्क हो गया है। जिलाधिकारी को चाहिए कि धनुकारा गाँव की सीमा सील करते हुए मरीजों सम्पर्क में आने वालों को क्वारंटाइन करे। 



Browse By Tags



Other News