सावधान! हार्दिक, शिवा, आनन्द, गणेश, हंगामा से....
| - RN. Network - May 13 2020 4:04PM

अकबरपुर, शहजादपुर में बिक रहे हैं कालातीत, हानिकारक बेकरी उत्पाद

अम्बेडकरनगर। अकबरपुर और शहजादपुर सहित जिले के सभी बाजारों, कस्बों में बेकरी में निर्मित ऐसे खाद्य पदार्थों की बिक्री धड़ल्ले से हो रही है, जिसका सेवन करके लोग विभिन्न प्रकार की व्याधियों का शिकार हो रहे हैं। इस तरह के उत्पाद जैसे- बिस्कुट, ब्रेड, टोस्ट, पाव, जीरा, क्रीम रोल, केक, बन्द-मक्खन आदि सेवन अवधि समाप्ति के उपरान्त महंगे दामों पर बेंची जा रही है। लाकडाउन में जहाँ सभी लोग घरों में कैद होकर रह गये हैं वहीं बेकरी संचालकों और विक्रेताओं की चाँदी कट रही है।

इस तरह के बेकरी उत्पादों की बिक्री शहजादपुर चौक एवं निकटवर्ती इलाकों में चल रही किराना व चाय-पान की दुकानों पर हो रही है। इसका सेवन करने वालों को उस समय पता चलता है वह लोग कालातीत और अखाद्य पदार्थों का सेवन कर रहे हैं। शहजादपुर की तमाम दुकानों पर हार्दिक, शिवा, आनन्द, गणेश, हंगामा आदि नामों से पैक किए गए बिस्कुट व नमकीन अखाद्य होने के साथ-साथ नाना प्रकार की बीमारियाँ भी पैदा कर रहे हैं।

जल्दबाजी में ग्राहक इन दुकानों से बिस्कुट व नमकीन लेते समय वैध सेवन अवधि तिथि व निर्माण तिथि गौर से नहीं देख पाता। इसके अलावा लाकडाउन की सख्ती का भय दिखाकर दुकानदार जल्दबाजी में सामान में पैक कर देते हैं। घर लाने के बाद जब खरीदे गये बेकरी उत्पादों एवं नमकीन आदि का सेवन करने के लिए पैकेट खोले जाते हैं और इनको मुँह में रखते ही इनका स्वाद कसैला व खुशबू अजीब तरह की लगती है। घर-परिवार के सदस्य भयवश इन बेकरी उत्पादों का सेवन नहीं करते हैं।

कई बार इन दुकानदारों के खिलाफ ग्राहकों द्वारा विरोधी स्वर उठाया गया तो दबंग दुकानदारों का एक ही जवाब मिला कि लाकडाउन में यही मिल जा रहा है क्या कम है? अब तक कोरोना से बचे रहे तो क्या इसके खाने व सेवन करने से मर जावोगे? रही बात ज्यादा कीमत लिये जाने की तो पूरा हिन्दुस्तान बन्द है, यही क्या कम है कि हम लोग तुम्हारी मांग पूरी कर रहे हैं।

बड़ा आश्चर्य होता है जब इस तरह की बात दुकानदार अपने ग्राहकों से वह भी शहरी नागरिकों से करते हैं। रेनबोन्यूज प्रायः खाद्य सुरक्षा महकमे के जिम्मेदारों को इस तरह की घटनाओं और जन स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालों के बारे में मौखिक और आलेख प्रकाशित कर जानकारी देता रहता है, परन्तु इस तरह की कारगुजारी पर किसी भी तरह का नियंत्रण नहीं लग पा रहा है। 

सूरज कुमार उर्फ बन्टी गुप्ता

किराना व बेकरी दुकानदारों द्वारा कालातीत (सेवन अवधि समाप्ति तिथि) उत्पादों की दुगुने दामों पर की जा रही बिक्री की जिले के युवा समाजसेवी ने घोर निन्दा की है। संकल्प मानव सेवा संस्था के संस्थापक सूरज कुमार उर्फ बन्टी गुप्ता ने जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र का ध्यान इधर आकृष्ट कराते हुए मांग किया है कि जन स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वाले इस तरह के उत्पादों की बिक्री करने वालों व निर्माताओं/बेकरी संचालकों की जाँच कराकर उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाये।  



Browse By Tags



Other News