धर्मेन्द्र गुप्ता ने शुरू किया चाउमिन और फास्टफूड का निर्माण और बिक्री
| - RN. Network - May 21 2020 4:25PM

लाकडाउन-04 में दी गई ढील से हर तबका प्रसन्न नजर आ रहा है। सभी वर्ग के लोगों के चेहरे खिले हुए हैं। कामगारों को काम मिल रहा है, व्यवसाइयों का धन्धा शुरू हो गया है। हर कोई अपने-अपने तरीके से कमाकर जीविकोपार्जन करने में जुट गया है। 60 दिन का अज्ञातवास और सर्वत्र तालाबन्दी से जन-जीवन ठप्प हो गया था। 20 मई 2020 से सरकार के निर्देश पर प्रशासन द्वारा दी गई ढील से छोटे-बड़े हर तबके के लोगों ने अपना-अपना कार्य शुरू कर दिया है। छोटा व्यवसाई हो या बड़ा व्यवसाई सभी के दुकानों पर लगे ताले 60 दिन उपरान्त खुल गये हैं। स्थिति सामान्य होने की तरफ अग्रसर दिखने लगी है। 

अम्बेडकरनगर। अकबरपुर बस स्टेशन स्थित धर्मेन्द्र स्वादिष्ट चाउमिन रेस्टोरेन्ट एण्ड फास्टफूड नामक दुकान चलाने वाले धर्मेन्द्र कुमार गुप्ता के चेहरे पर रौनक लौट आई है। ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले 60 दिनों से लाकडाउन 01 से उनका यह रेस्टोरेन्ट तालाबन्दी का शिकार होकर रह गया था। धर्मेन्द्र गुप्ता ने बताया कि आज गुरूवार 21 मई 2020 को उन्होंने लाकडाउन के नियमों को ध्यान में रखकर सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करते हुए ओम श्री शिवबाबा का नाम लेकर दुकान खोल दिया है। रेस्टोरेन्ट पर पहले से रखे बेंच व मेजों को अलग हटाकर रख दिया गया है। मैं भी स्वयं मास्क धारण करता हूँ और ग्राहकों की भीड़ न जुटने पाये और सोशल डिस्टैन्सिंग मेनटेन रहे इसका पूरा ध्यान रखता हूँ। 

काउण्टर पर खड़े धर्मेन्द्र कुमार गुप्ता

लम्बे समय तक रेस्टोरेन्ट की दुकान बन्द रहने की वजह से अभी ग्राहकों की आमद कम है। परन्तु धर्मेन्द्र कुमार को यह उम्मीद है कि आगामी दो-चार दिनों में उनके ग्राहकों को जब जानकारी हो जायेगी तो वह आने लगेंगे। धर्मेन्द्र ने कहा कि हालांकि सुबह 8 से शाम 6 बजे तक ही दुकान खोले जाने का आदेश जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र द्वारा दिया गया है। थोड़ी सी दिक्कत यहीं हैं कि शाम को ही चाउमिन एवं फास्टफूड का जायका लेने वाले ग्राहकों की आमद रहती है। फिर भी ठीक है, मानव और समाज कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रहे। लाकडाउन का अक्षरशः अनुपालन हो, मैं यही चाहता हूँ। 

यह तो धन्धा है कभी नर्म तो कभी गर्म। पहले मैं घूम-घूम कर ठेला पर यह धन्धा करता था, लेकिन पिछले 10 सालों से यहाँ बस स्टेशन पर पक्की और अच्छी दुकान किराये पर लेकर धन्धा कर रहा हूँ। धर्मेन्द्र चाउमिन वाले के नाम से शोहरत मिली है, यह शोहरत भगवान श्री शिवबाबा के आशीर्वाद और कृपा का फल है। धर्मेन्द्र ने भावुक होकर कहा कि जैसे लाकडाउन का 60 दिन बीता अब जब उसकी दुकान खुलने लगी, तब शिवबाबा समस्त मानव समाज का कल्याण करेंगे, इसी में उसका भी कल्याण निहित है। 



Browse By Tags



Other News