माँग दिवस का आयोजन 
| - RN. Network - May 22 2020 11:38AM

लखनऊ। ऑल इण्डिया डेमोक्रैटिक स्टूडेण्ट्स ऑर्गेनाइजेशन की उत्तर प्रदेश राज्य इकाई के तत्त्वावधान में पूरे प्रदेश में कोरोना-वायरस प्रकोप के दौरान व्याप्त छात्रों व मज़दूरों की समस्याओं को लेकर माँग दिवस का आयोजन किया गया। उक्त कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न ज़िलों में छात्रों व नागरिकों ने छात्रों व प्रवासी मज़दूरों की समस्याओं से सम्बंधित माँग पट्टिका बनाकर सोशल मीडिया पर अभियान छेड़ा तो वहीं लोगों ने अपने-अपने घरों में रहते हुए माँगपट्टिका का प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर सोशल मीडिया पर सम्बोधित करते हुए ऑर्गेनाइजेशन के प्रदेश अध्यक्ष हरिशंकर मौर्य ने कहा कि आज प्रदेश में कोरोना महामारी के चलते करोड़ों श्रमिक भूख से परेशान होकर दूसरे प्रदेश से अपने घर वापस सुरक्षित लौटने के लिये मज़बूर होकर पैदल चलने के लिये विवश है। प्रदेश की योगी सरकार निरंकुश होकर कुछ भी ध्यान मज़दूरों व छात्रों की तरफ नहीं दे रही है। जो छात्र, मज़दूर व नौजवान राष्ट्र के निर्माण में अग्रणी भूमिका निभाते हैं उनका वर्तमान ख़तरे में है। स्कूल-कॉलेज मनमानी फीस वसूल रहे हैं। प्रदेश में शराब के ठेके खुल चुके हैं। अपराध, घरेलू हिंसा, बलात्कार की घटनायें तेजी से बढ़ रही हैं। प्रदेश की कानून व्यवस्था इसे रोकने में असफल है। 

एआईडीएसओ की प्रदेश कमेटी के आह्वान पर 21 मई 2020 को मांग दिवस के रूप में मनाया गया। संगठन प्रदेश सरकार से मांग करता है कि अविलंब प्रदेश में शराब के उत्पादन व बिक्री पर रोक लगायी जाय, घरेलू हिंसा पर रोक लगायी जाय, महिलाओं-छात्राओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जाय, विनाशकारी राष्ट्रीय शिक्षा नीति. 2019 व एन. सी. एफ. रद्द की जाय, दूसरे प्रदेशों में फँसे छात्रों व मज़दूरों को निःशुल्क सुरक्षित उनकी घर पहुंचाया जाय, सभी गांवों में क्वारंटाइन सेंटर व डॉक्टरों की व्यवस्था की जाय व क्वारंटाइन में रहने वाले लोगों को रहने, खाने, पेयजल व अन्य ज़रूरी सुविधायें निःशुल्क मुहैया करायी जायें।

प्रदेश के छात्रों को पढ़ायी करने के लिये ज़रूरी किताबों को निःशुल्क तत्काल मुहैया कराया जाय व डेलिगेशियों, हॉस्टलों व निजी मकानों में रहने वाले छात्रों से 3 महीनों तक किसी भी प्रकार का किराया वसूलने पर तत्काल रोक लगायी जाय व डॉक्टरों, नर्सों व अन्य चिकित्साकर्मियों को पीपीई किट व अन्य चिकित्सकीय सुविधायें उपलब्ध करायी जायें। प्रदेश में सांप्रदायिक सद्भाव को तोड़ने वाले असामाजिक तत्वों से कड़ायी से निपटा जाय। प्रदेश के हजारों छात्र इस राज्यव्यापी मांग दिवस में शामिल हुए। 



Browse By Tags



Other News