पीएम ने निरंकुशता के रिकॉर्ड तोड़े, ये परिणामों से दूर, प्रचार से भरपूर सरकार: कांग्रेस
| Agency - May 30 2020 5:46PM

कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर कहा है कि ये साल देश को बहुच पीछे धकेलने वाला साल है। कांग्रेस ने इस साल को भारी निराशा, कुप्रबंधन और असीम पीड़ा देने वाला कहा है। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरे होने पर शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बातें कहीं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने दूसरे कार्यकाल के लिये 30 मई 2019 को शपथ ली थी। सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला साल आज पूरा हुआ है।

केसी नेताओं ने कहा, मोदी सरकार के 7वें साल की शुरुआत में भारत एक ऐसे मुकाम पर आकर खड़ा है, जहां देश के नागरिक सरकार की तरफ से दिए गए अनगिनत घावों और निष्ठुर असंवेदनशीलता की पीड़ा सहने को मजबूर हैं। 2019-20 भारी कुप्रबंधन और असीम पीड़ा का साल साबित हुआ। पिछले 6 साल में प्रधानमंत्री मोदी ने निरंकुशता के सारे बांध तोड़ दिए। कहीं कोई शासन नहीं, विपक्ष को सम्मान नहीं दिया, लोकतंत्र के सारे पैमानों को ध्वस्त कर दिया।

कांग्रेस ने कहा, 6 साल में भटकाव की राजनीति एवं झूठे शोरगुल की पराकाष्ठा मोदी सरकार के कामकाज का तरीका बन गई है। भाजपा सरकार 6 साल बाद आत्मनिर्भरता की ओर चलने को कह रही है। किसानों और भारत निर्माता श्रमिकों की आजीविका और आत्मसम्मान सड़कों पर रौंदे जा रहे हैं और मोदी आत्मनिर्भरता का पाठ पढ़ा रहे हैं। विकास दर-दर की ठोकरें खा रहा है। अर्थव्यवस्था डगमगा रही है और आत्मनिर्भरता की दुहाई दी जा रही है। ये सरकार, परिणामों से दूर, प्रचार से भरपूर सरकार है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा, प्रधानमंत्री विपक्ष से सरकार के साथ होने या न होने के बारे में पूछते हैं। विपक्ष का काम सरकार के साथ नहीं, देश के साथ खड़े होने का है। सरकार के गलत कामों पर सवाल उठाना और सरकार को रास्ता दिखाना ही विपक्ष का काम है। ऐसा लगता है कि 6 साल पूरे करने के बाद मोदी सरकार ने 130 करोड़ भारतीयों के खिलाफ जंग छेड़ रखी है। वो मरहम लगाने के बजाय घाव दे रहे हैं। मजदूर हो, किसान हो, छोटा उद्योग हो, दुकानदार हो, नौकरीपेशा व्यक्ति हो, दलित हो, पिछड़े हो, आदिवासी हो। ये सरकार अपने नागरिकों से लड़ाई लड़ रही है। उनके अधिकारों पर अतिक्रमण कर रही है।

मोदी सरकार के 6 साल का सार यही है कि ये सरकार मुट्ठी भर अमीरों की तिजोरियां भरने में लगी है और गरीबों का शोषण कर रही है। आज 130 करोड़ देशवासी संकल्प लेते हैं कि प्रजातांत्रिक तरीके से इस जालिम सरकार का सामना करेंगे। सुरजेवाला ने कहा, पीएम मोदी ने युवाओं से 2 करोड़ नौकरियों का वादा किया था। मगर 2 करोड़ नौकरियां तो छोड़ो, जो थी वो भी छीन ली।

आज बेरोजगारी का बहुत हिंदुस्तान के युवाओं को डरा रहा है लेकिन प्रधानमंत्री को इसकी कोई परवाह नहीं है। भाजपा ने विकास का झूठा सपना दिखाकर देश के भाग्य में तबाही लिखी है। बेरोजगारी चरम पर है; अर्थव्यवस्था डगमगा रही है; रुपए की कमर तोड़ दी है और सबसे निर्लज्ज बात ये है कि भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री कोरोना महामारी में भी झूठ बोलने से बाज नहीं आ रहे हैं।



Browse By Tags



Other News