Cyclone Nisarga: महाराष्ट्र-गुजरात के तटीय इलाकों में हुई बारिश, मुंबई में Red Alert
| Agency - Jun 2 2020 12:52PM

कोरोना संकट से जूझ रहे गुजरात और महाराष्ट्र पर अब चक्रवात का खतरा मंडरा रहा है, भारतीय मौसम विभाग ने मंगलवार को अपने ताजा अपडेट में कहा है कि अरब सागर में बना डिप्रेशन आज दोपहर तक डीप डिप्रेशन में बदल जाएगा और ईस्ट सेंट्रल अरब सागर में अगले 12 घंटों के दौरान चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा।

भयानक 'चक्रवात निसारगा' का असर दिखना शुरू भी हो चुका है,कल गुजरात और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में तेज बारिश हुई है, आईएमडी ने भविष्यवाणी की है कि चक्रवाती तूफान 3 जून की शाम में उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात तट से टकरा सकता है, इसके टकराने के साथ ही उत्तर महाराष्ट्र और गुजरात के तटीय इलाकों में भारी बारिश की आशंका है, जिसके लिए मुबंई समेत दोनों राज्यों में Red Alert जारी किया गया है।

महाराष्ट्र-गुजरात के तटीय इलाकों में हुई बारिश मौसम विभाग के मुताबिक, ईस्ट सेन्ट्रल अरब सागर पर बना डिप्रेशन 14.4 ° उत्तरी अक्षांश और 71.2 ° पूर्वी देशांतर पर पंजिम से लगभग 300 किमी दक्षिण-पश्चिम में, मुंबई से 550 किमी दक्षिण पश्चिम और सूरत से 770 किमी दक्षिण पश्चिम में स्थित है। 'समुद्र में 4 जून तक स्थिति अत्यंत खराब हो सकती है' आईएमडी ने आशंका जताई है कि समुद्र में 4 जून तक स्थिति काफी विकट हो सकती है।

इस दौरान 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा की गति बढ़कर 110 किलोमीटर भी हो सकती है, इस चक्रवात का असर मुंबई पर सबसे ज्यादा पड़ने वाला है और इसी वजह से मुंबई महानगरपालिका के कंट्रोल रूम और अन्य विभागों के कंट्रोल रूम में पर्याप्त कर्मचारियों की संख्या को तैनात किया गया है और निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं।

भारतीय नौसेना और एनडीआरएफ की टीम अलर्ट पर जबकि भारतीय नौसेना, इंडियन कोस्ट गार्ड, मुंबई फायर ब्रिगेड सहित एनडीआरएफ की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है, विभाग ने 4 जून तक एहतियातन मछुआरों को समुद्र में जाने से रोका है और आम लोगों से भी अपील की गई है कि वो अपने स्तर से हर संभव सावधानी बरतें और बिना जरूरत घर से बाहर ना निकलें और प्रशासन की ओर से जारी निर्देशों का पालन करें।

गृहमंत्री ने की मीटिंग तूफान निसारगा के बारे में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के अफसरों के साथ बैठक की थी, जिसमें बताया गया कि एनडीआरएफ की 10 टीमें महाराष्ट्र में तैनात की गई हैं। इनमें 3 मुंबई में और 2 पालघर में हैं। ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग में एक-एक टीम है। वहीं दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव में एक-एक टीम तैनात की गई है। गुजरात राज्य में एनडीआरएफ की 11 टीमें तैनात की गई हैं।

मुंबई के इन इलाकों में भारी बारिश का अनुमान आईएमडी के मुताबिक 3 जून को नार्थ महाराष्ट्र और साउथ गुजरात तटों से इस चक्रवात के टकराने की संभावना है, जिससे मुंबई समेत ठाणे, पनवेल, कल्याण-डोम्बिवली, मीरा-भयंदर, वसई-विरार, उल्हासनगर, बदलापुर और अंबरनाथ जैसे शहर प्रभावित हो सकते हैं। गौरतलब है कि कोरोना से जूझ रही मुंबई के लिए ये खबर काफी परेशान करने वाली है। विभाग के मुताबिक यह तूफान ृतीन जून की शाम को उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों को पार करेगा, जिससे इन क्षेत्रों में भारी बारिश संभव है।



Browse By Tags



Other News