...अब ए.आर.टी.ओ. कार्यालय में स्थाई लाइसेन्स बनने का कार्य शुरू
| - RN. Network - Jun 9 2020 5:20PM

विपिन कुमार संभागीय निरीक्षक (प्राविधिक)

स्क्रीनिंग व सैनिटाइज करके ही लोगों को कार्यालय में दिया जा रहा है प्रवेश: विपिन कुमार

अम्बेडकरनगर। कोरोना वायरस के दृष्टिगत चल रहे लाकडाउन के दौरान ए.आर.टी.ओ. कार्यालय में लगभग ठप्प रहा स्थाई लाइसेन्स व वाहनों के ट्रान्सफर का काम सोमवार 8 जून से शुरू हो गया है। लाइसेन्स बनने के साथ ही शुरू हुए अन्य कार्यों की वजह से कार्यालय में एक लम्बे अन्तराल के बाद लोगों की चहल-पहल बढ़ने लगी है। अनलॉक-01 शुरू होते ही विभागीय काम-काज फिर से पूर्व की भांति शुरू हो गया है, जिससे कार्यालय की रौनक धीरे-धीरे लौटने लगी है। सोमवार से सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय में लाइसेन्स जारी करने के साथ-साथ वाहनों का ट्रान्सफर व अन्य कार्य भी शुरू हो गया है। 

इस बावत संभागीय निरीक्षक (प्राविधिक) विपिन कुमार ने बताया कि कार्यालय में आने वाले आवेदकों एवं अन्य लोगों को स्क्रीनिंग और सैनिटाइज कराने के बाद ही कार्यालय में प्रवेश करने दिया जा रहा है। लाकडाउन के बाद कार्यालय में लाइसेन्स जारी करने व वाहनों के ट्रान्सफर का कार्य बन्द था। आर.आई. ने बताया कि लगभग सवा दो महीने उपरान्त कार्य शुरू हो सका है। 

कार्यालय खुलने की जानकारी न होने की वजह से अभी लोगों की भीड़ नहीं उमड़ रही है। जैसे-जैसे लोगों को जानकारी होगी कार्यालय में कार्य हेतु लोग आने लगेंगे। उन्होंने बताया कि आने वाले सभी लोगों/आवेदकों में सोशल डिस्टैन्सिंग, मास्क का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जो लोग कार्यालय आ रहे हैं उन्हें स्क्रीनिंग और सैनिटाइज करने के बाद ही कार्यालय में प्रवेश दिया जा रहा है। 

संभागीय निरीक्षक विपिन कुमार ने बताया कि लाकडाउन के दौरान लगभग बन्द चल रहे कार्यालय में सोमवार को काम काज शुरू हो गया, पहले दिन कुछ आवेदकों के लाइसेन्स जारी किए गये और वाहनों के कागजात दुरूस्तीकरण व ट्रान्सफर का कार्य हुआ। धीरे-धीरे कार्यालय खुलने की जानकारी होने के बाद सारा काम-काज पूर्व की भांति शुरू हो जायेगा। इस दौरान कार्यालय के सभी कर्मचारी/स्टाफ सोशल डिस्टैन्सिंग को ध्यान में रखते हुए मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर कार्य कर रहे हैं। 

बता दें कि फरवरी 2020 में ए.आर.टी.ओ. के.एन. सिंह के निलम्बन के उपरान्त यहां के ए.आर.टी.ओ. का पद रिक्त चल रहा था। बाद में अयोध्या के ए.आर.टी.ओ. एस.डी. सिंह को यहां का अतिरिक्त कार्य दिया गया। ए.आर.टी.ओ. एस.डी. सिंह यहां महीने में 1-2 बार ही आ पाते हैं। जिसके चलते समूचे कार्यालय की जिम्मेदारी संभागीय निरीक्षक (प्राविधिक) विपिन कुमार के ही जिम्मे है। 

अपने कार्यों को बड़ी ही तत्परता, मेहतन और लगन के साथ करने वाले आर.आई. ने कार्यालय आने वाले किसी भी आवेदक/जरूरतमन्द को कभी निराश नहीं होने दिया। उनके कार्य करने की शैली और सूझ-बूझ के चलते लोगों को कभी भी ए.आर.टी.ओ. की कमी नहीं खली। विभाग से जुड़ी अपनी समस्याएं लेकर ए.आर.टी.ओ. कार्यालय आने वाले लोगों को आर.आई. विपिन कुमार पूरी गंभीरता के साथ सुनते और अपने स्तर से उसका निराकरण करते हैं। 

कुल मिलाकर सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय में सवा दो महीने से पसरा सन्नाटा धीरे-धीरे चहल-पहल में बदलने लगा है। आर.आई. ने कहा कि कार्यालय खुलने व काम-काज पुनः शुरू होने की जानकारी के बाद कार्यालय में लोगों का आवागमन बढ़ेगा, अभी फिलहाल कार्यालय आने वाले लोगों की संख्या कम ही है। 



Browse By Tags



Other News