राष्ट्रपति चुनाव में मुलायम का NDA कैंडिडेट को सपोर्ट का एलान, एक शर्त रखी
| Rainbow News - Jun 18 2017 3:00PM

लखनऊ. राष्ट्रपति चुनाव को लेकर समाजवादी कुनबे में फिर कलह हो सकती है। दरअसल, पार्टी प्रेसिडेंट अखिलेश यादव को नजरअंदाज करते हुए मुलायम सिंह ने एनडीए कैंडिडेट को सपोर्ट करने का एलान कर दिया है। हालांकि, उनकी शर्त है कि कैंडिडेट कट्टर भगवा सोच वाला न हो और वह सबको मंजूर हो। मुलायम का यह ऐलान कांग्रेस की अगुआई वाले गुट के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है। राजनाथ-वैंकेया ने मुलायम से बात की...

 राजनाथ सिंह और वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को प्रेसिडेंट कैंडिडेट के मसले पर मुलायम से बातचीत की। बताया जा रहा है कि अमित शाह की ओर से बनाया गया पैनल सभी पार्टियों से मिलकर प्रेसिडेंट कैंडिडेट के नाम पर एक राय बनाने की कोशिश कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक, मुलायम ने कांग्रेस को लेकर अपनी संशय के बारे में बीजेपी नेताओं को बताया। साथ ही पार्टी के मामलों को हैंडल करने के अपने बेटे अखिलेश के तौर-तरीकों पर भी आपत्ति जताई है। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी को पूरा भरोसा है कि सपा के ज्यादातर वोट उनके कैंडिडेट को ही मिलेंगे।

 सूत्रों की मानें तो बीजेपी नेताओं से मुलाकात में मुलायम ने अपनी उस पहल का भी जिक्र किया, जिसके तहत एपीजे अब्दुल कलाम को एनडीए की ओर से प्रेसिडेंट कैंडिडेट बनाया गया था। मुलायम का एनडीए कैंडिडेट को सपोर्ट करने का ताजा रुख कांग्रेस की अगुआई वाले गुट के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है। दरअसल, प्रेसिडेंट इलेक्शन में सभी बड़ी अपोजिशन पार्टियां एकजुट होकर बीजेपी को कड़ी टक्कर देने की तैयारी में हैं। सूत्रों का ये भी दावा है कि प्रेसिडेंट इलेक्शन में अखिलेश यादव गैर एनडीए गुट के साथ ही रहेंगे।



Browse By Tags



Other News