राशन वितरण में धांधली करने वाली दो कोटे की दुकानें निलम्बित
| - Rainbow News Network - Jul 7 2020 4:55PM

अम्बेडकरनगर। गरीबों को सस्ते दर पर राशन उपलब्ध कराने के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही सार्वजनिक वितरण प्रणाली योजना को चुस्त-दुरूस्त बनाये रखने के लिए आपूर्ति महकमा प्रतिबद्ध है। विभाग समय-समय पर उचित दर विक्रेताओं को सरकार की मंशानुरूप कार्य करने के लिए आदेशित व निर्देशित करने के साथ-साथ उचित दर दुकानों की जाँच, अनियमितता पाये जाने पर कार्रवाई करता रहता है। राशन वितरण में पूरी तरह से पारदर्शिता बनाये रखने के लिए आपूर्ति महकमा सक्रिय, सचेष्ट व तत्पर रहता है। गरीबों के हक का अनाज उन्हें ससमय, उचित दर और मात्रा में मिलता रहे इसे लेकर आपूर्ति विभाग काफी गम्भीर रहता है। यही नहीं विभाग द्वारा किसी भी तरह की अनियमितता की शिकायत मिलने पर त्वरित ढंग से जाँच कर आवश्यक कार्रवाई भी की जाती रहती है। 

जिले के रामनगर विकास खण्ड व आलापुर तहसील अन्तर्गत दो उचित दर की दुकानों के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई की गई। जाँच में शिकायतों की पुष्टि होने पर उचित दर की दुकानों को निलम्बित करते हुए दुकानदारों से स्पष्टीकरण मांगा गया है। इस बावत रेनबोन्यूज ने क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी अमरजीत सिंह से जानकारी चाही तो उन्होंने बताया कि आलापुर तहसील व रामनगर ब्लाक अन्तर्गत दो उचित दर दुकानों के खिलाफ निलम्बन की कार्रवाई की गई है। उक्त उचित दर दुकानों के खिलाफ प्रेषित शिकायत की जाँच में पुष्टि होने पर यह कार्रवाई की गई। 

ए.आर.ओ. सिंह ने बताया कि रामनगर विकास खण्ड के ग्राम पंचायत रामनगर महुअर (द्वितीय) के उचित दर विक्रेता महेन्द्र यादव की शिकायत क्षेत्र पंचायत सदस्य जमुना प्रसाद व अन्य ग्रामीणों द्वारा की गई थी। उक्त उचित दर विक्रेता पर आरोप था कि कार्ड धारक जगपत्ती देवी पत्नी हरीराम के अन्त्योदय कार्ड में गलत तरीके से अपने परिवार के सदस्य का यूनिट जुड़वाकर जून 2019 से खाद्यान्न लिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त अन्य कार्ड धारकों को 4 किलोग्राम प्रति कार्ड धारक खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है। 

उक्त शिकायत की जाँच की गई, साथ ही अन्त्योदय व पात्र गृहस्थी के कार्डधारकों के बयान भी लिये गये। की गई जाँच, कार्ड धारकों से लिये गये व्यक्तिगत व सामूहिक बयान के आधार पर उचित दर विक्रेता द्वारा वितरण में अनियमितता की पुष्टि हुई। जिस पर उचित दर विक्रेता महेन्द्र यादव की उचित दर दुकान का अनुबन्ध पत्र निलम्बित करते हुए निर्देश दिया गया कि 15 दिन के अन्दर प्राप्त शिकायत के संदर्भ में अपना लिखित स्पष्टीकरण प्रस्तुत करें। दुकान निलम्बन के उपरान्त उक्त दुकान से सम्बद्ध कार्ड धारकों को लिंक शॉप के अनुसार उसी ग्राम पंचायत के दूसरे उचित दर विक्रेता संग्राम यादव की दुकान से अग्रिम आदेश तक सम्बद्ध कर दिया गया। सम्बद्ध विक्रेता को नियमानुसार आवश्यक वस्तुओं का वितरण कार्ड धारकों में करने के लिए निर्देशित किया गया है। 

क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी (ए.आर.ओ.) अमर जीत सिंह ने जानकारी देते हुए आगे बताया कि आलापुर तहसील और रामनगर विकास खण्ड के ही ग्राम शाहपुर के उचित दर विक्रेता दीपक कुमार मौर्य के खिलाफ गाँव के ही सन्तोष कुमार द्वारा शिकायत की गई थी। शिकायत की जाँच की गई, जिसमें पाया गया कि कार्ड धारक निर्मला पत्नी सन्तोष कुमार के अन्त्योदय राशन कार्ड पर गलत तरीके से माधुरी देवी पत्नी श्याम बिहारी का नाम जुड़वाया गया है, जो कि उसके परिवार की है ही नहीं। इसी के साथ रामराज पुत्र स्व0 घमण्डी के अन्त्योदय राशन कार्ड पर अमरजीत का नाम जोड़वाकर कई महीने से खाद्यान्न आहरित किया गया है। ए.आर.ओ. के अनुसार जाँच में सारे आरोप सही पाये जाने पर दीपक कुमार मौर्य की उचित दर दुकान का अनुबन्ध पत्र निलम्बित करते हुए 15 दिन के अन्दर लिखित स्पष्टीकरण मांगा गया है। दुकान से सम्बद्ध कार्डधारकों को लिंक शॉप के अनुसार उचित दर विक्रेता राम मिलन, ग्राम पंचायत गोहनारपुर से अग्रिम आदेश तक खाद्यान्न दिया जायेगा।

राकेश कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी

जिला पूर्ति अधिकारी राकेश कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि उक्त दोनों दुकानों की काफी शिकायत मिल रही थी, जिसकी जाँच क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी द्वारा की गई। जाँच में सभी आरोप सही पाये गये, जिसके पश्चात दुकानों का अनुबन्ध पत्र निलम्बित करते हुए सम्बन्धित उचित दर विक्रेताओं से 15 दिन के अन्दर स्पष्टीकरण मांगा गया है। स्पष्टीकरण प्राप्त होने के उपरान्त अग्रिम कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने जिले के सभी उचित दर विक्रेताओं को चेतावनी देते हुए कहा है कि राशन वितरण में पारदर्शिता लायें। इसमें किसी भी तरह की हीला-हवाली, धांधली, लापरवाही व अनियमितता कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। 



Browse By Tags



Other News