कोरोना महामारी के दौरान परीक्षाएं आयोजित करना अनुचित है : राहुल गांधी
| Agency - Jul 10 2020 3:05PM

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार कोरोना महामारी के मद्देनजर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को परीक्षाएं रद्द किए जाने का मामला उठाया है। राहुल गांधी ने कहा, कोविड महामारी के दौरान परीक्षा आयोजित करना बेहद अनुचित है। स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय के हमारे छात्रों को बहुत कष्ट सहना पड़ा है। राहुल गांधी ने इस संबंध में एक वीडियो भी जारी किया है।

कोरोनावायरस महामारी के मद्देनजर बचे हुए बोर्ड एग्जाम रद्द हो गए हैं, लेकिन कॉलेज और यूनिवर्सिटी एग्जाम कराने का फैसला लिया गया है। राहुल गांधी ने इस फैसले का विरोध करते हुए छात्रों का समर्थन किया है। राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि, कोरोना वायरस महामारी के दौरान परीक्षा आयोजित करना बेहद अनुचित है। यूजीसी को छात्रों और शिक्षाविदों की आवाज सुननी चाहिए। परीक्षा रद्द की जानी चाहिए और छात्रों को पिछले प्रदर्शन के आधार पर पदोन्नत किया जाए।

इस मुद्दे पर अपनी राय रखते हुए राहुल गांधी ने अपना एक वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया और कहा कि कोरोना के कारण छात्रों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी है। राहुल ने कहा, कोविड ने बहुत से लोगों को नुकसान पहुंचाया है। स्कूल कॉलेजों में हमारे छात्रों को इससे बहुत कष्ट झेलना पड़ा है। राहुल गांधी ने साथ ही आरोप लगाया कि यूजीसी अपने फैसले से छात्रों में भ्रम की स्थिति पैदा कर रहा है।

उन्होंने कहा कि, आईआईटी में कॉलेजों में परीक्षाओं को रद्द करके छात्रों को आगे बढ़ाया गया है। यूजीसी कंफ्यूजन पैदा कर रहा है। उसे भी पिछले प्रदर्शन के आधार पर छात्रों को प्रोन्नत करना चाहिए। बता दें कि, केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 6 जुलाई के अपने आदेश में कहा है कि परीक्षाएं सितंबर के अंत में करायी जाएंगी। गृह मंत्रालय की हरी झंडी मिलने के बाद मंत्रालय ने यह फैसला लिया है। उधर राहुल गांधी से पहले कांग्रेस नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने परीक्षाएं रद्द करने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखने के लिए कहा है।



Browse By Tags



Other News