लॉकडाउन में नहीं मिली शराब तो पी गए सैनिटाइजर, 9 लोगों की मौत
| Agency - Jul 31 2020 2:32PM

कोरोना वायरस महामारी को काबू करने के लिए सरकार ने मार्च माह से देशभर में लॉकडाउन लागू किया था, हालांकि लॉकडाउन को तो चरणबद्ध तरीके से खोला जा रहा है लेकिन अभी कई स्थानों पर शराब की दुकानें बंद हैं। ऐसे में शराब न मिल पाने की वजह से आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में लोगों द्वारा अल्कोहल-बेस्ड हैंड सैनिटाइजर पीने का मामला सामने आया है जिसमें 9 लोगों की मौत हो गई है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मृतकों में तीन भिखारी और 6 ग्रामीण शामिल हैं।

घटना कुरिचेदु शहर की है, जहां धवार देर रात एक व्यक्ति की मौत हो गई, वहीं दो अन्य ने गुरुवार की रात और छह अन्य ने शुक्रवार की सुबह दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन की शुरुआत में शराब बिक्री पर रोक लगने के बाद कुछ लोग सैनिटाइजर मिला शराब पीने के आदी बन गए। लोगों ने बताया कि शराब पीने के शौकीन सस्ती शराब में सैनिटाइजर मिलाकर पीने लगे जिस कारण उनका गला सूख जाने के चलते उनकी मौत हो गई।

मृतकों में स्थानीय पोलेरम्मा मंदिर के पास स्थित शेड का एक भिखारी समेत 9 लोग शामिल हैं, सभी को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उन्होंने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पिछले दो दिनों में कुल मिलाकर 20 लोगों द्वारा सैनिटाइजर मिला शराब पीने का मामला सामने आया है। पुलिस मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है। वहीं, शवों को दर्शि अस्पताल के मुर्दाघर भेज दिया गया है।

पुलिस ने मृतकों की पहचान अनुगोंडा श्रीनू (25), भोगेम तिरुपतैया (35), गुंटका रामी रेड्डी (60), कदम रामानैया (28), राजा रेड्डी (65), रामानैया (65), बाबू (40), चार्ल्स (45) और 45 वर्षीय ऑगस्टीन के रूप में की है। प्रकाशम जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) सिद्धार्थ कौशल ने बताया, लॉकडाउन में शराब न मिलने के चलते इन लोगों ने हैंड सैनिटाइजर पीना शुरू कर दिया था। उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमण पर काबू पाने के लिए कुरिचेदु शहर में सख्त लॉकडाउन लागू किया गया था।

सिद्धार्थ कौशल ने कहा, गुरुवार की सुबह पेट दर्द के कारण दो अन्य की मौत हो गई थी। स्थानीय लोगों के सहयोग से परिवार वालों ने उन्हें डारसी शहर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन देर रात उन्होंने दम तोड़ दिया। पेट दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती छह अन्य लोगों की भी शुक्रवार सुबह मौत हो गई। सिद्धार्थ कौशल ने बताया कि लैब टेस्ट के लिए सभी स्थानीय दुकानों से सैनिटाइजर जब्त किए जा चुके हैं, पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि मृतकों ने कच्चे सैनिटाइजर का सेवन किया था या इसे नकली शराब के साथ मिलाया था।

बता दें कि कोरोना वायरस मामलों में बढ़ोतरी के चलते कुरिचेदु और शहर के आसपास के क्षेत्रों में पिछले 10 दिनों से सख्ती के साथ लॉकडाउन लागू किया गया है, इस दौरान शराब की सभी दुकानें बंद रखी गई हैं। पीड़ितों के परिवार के सदस्यों ने पुलिस को बताया कि मृतक सैनिटाइजर का सेवन करने के बाद बेहोश होकर गिरने लगे थे। मृतकों में से हर एक ने कितनी मात्रा में सैनिटाइजर पिया था इसकी जानकारी अभी नहीं मिली है।



Browse By Tags



Other News