...यहाँ कोरोना जाँच में की जा रही है लापरवाही
| - Rainbow News Network - Aug 1 2020 2:53PM

अम्बेडकरनगर। कोरोना वायरस को रोकने के लिए सरकार ने लॉकडाउन किया। हर स्तर पर सख्ती की लेकिन जिम्मेदारों से लेकर आम लोगों की लापरवाही भारी पड़ रही है। सरकारी पाबंदियों और नियमावली को ध्यान में रखकर सभी ने अपनी जिम्मेदारी निभाई होती तो हालात शायद इतने विकराल न होते। लापरवाही का ही नतीजा है कि वायरस अब मौत बनकर मडरा रहा है और हर कोई अपने घर में कैद होकर प्रकोप खत्म होने का इंतजार कर रहा है। 

ऐसे में सवाल उठता है कि यदि  जिला अस्पताल में संक्रमित कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव (COVID-19) निकले तो अस्पताल आने वाले कितने लोग इनके संपर्क में आकर संक्रमित हो सकते हैं। इससे मरीज के परिजनों व सीधे संपर्क में आए अन्य लोगों के भी संक्रमित होने की आशंका है। इस लापरवाही पर जिला अस्पताल प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहा है। जब चिकित्सा अधीक्षक से इस संबंध में बात की गई तो वो इससे पल्ला झाड़ते नजर आए। 

कोरोना जैसी महामारी के संबंध में भी जनपद अंबेडकरनगर में जिला अस्पताल प्रबंधन लापरवाही बरत रहा है।  कोरोना जांच और इलाज में लगे कर्मचारियों के लिए बचाव के पर्याप्त इंतजाम न होने से ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों में संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। जिला अस्पताल में कर्मचारी और वार्ड बॉय जो कोरोना पॉजिटिव  मिले थे। इसके बाद भी इस महिला से सीधे संपर्क में आये स्टाफ से काम भी कराया  गया और जांच 3 से 4 दिन पश्चात उनके संपर्क में आए लोगों को किया जाना संक्रमण में वृद्धि का कारण बना हुआ है।

परिवार के लोगों की बात दूर की संपर्क में आए लोगों  का कोरोना जांच के लिए तो इनका सैंपल  भी देर से लिया जाता है। हद तो तब पार हो गई, जबकि गाइड लाइन में स्पष्ट है कि पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने वालों को क्वारेंटाइन किया जाए या होम क्वॉरेंटाइन किया जाए। दरअसल यहां के जिला अस्पताल में कुछ लोगों के सैंपल लेकर उन्हें आइसोलेशन वार्ड में क्वारंटाइन किया गया है। जब तक इनकी रिपोर्ट नहीं आ जाती, तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता कि ये लोग संक्रमित हैं या नहीं।

जिला अस्पताल प्रशासन की बड़ी लापरवाही है. क्योंकि अगर इनमें से किसी की भी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आती है तो ये अन्य लोगों के लिये खतरा है और महामारी का संक्रमण उन तक भी फैल सकता है। इस समय जनपद में कोरोना संक्रमण तेजी से पैर पसार रहा है जिसके प्रति स्वास्थ्य विभाग गंभीर नहीं है। संक्रमित लोगों में यदि देखा जाए तो ज्यादा संख्या में कर्मचारी ही जांच में मिल रहे हैं इससे विभागीय लापरवाही स्पष्ट होती है। अगर जिला प्रशासन इन बिंदुओं पर ध्यान नहीं दिया तो आने वाले समय में अंबेडकर नगर जनपद में भयावह स्थिति उत्पन्न हो जाएगी।



Browse By Tags



Other News