घाघरा नदी का पानी खतरे के निशान से ऊपर
| - Rainbow News Network - Aug 1 2020 3:02PM

अम्बेडकरनगर। टांडा में घाघरा नदी का पानी खतरे के लाल निशान से काफी ऊपर बह रहा है। नदी का जलस्तर बढ़ जाने से टांडा तहसील स्थित नदी के उस पार के राजस्व गांव माझा उल्टहवा में ग्रामीणों की परेशानी काफी बढ़ गई है। पालतू पशुओं को चारे का संकट पैदा हो गया है। घाघरा नदी के बढ़े जलस्तर ने गुरुवार को ही लाल निशान छू लिया था।

शुक्रवार की प्रात 8:00 बजे जलस्तर 93 मीटर तक पहुंच गया। 24 घंटे लगातार जलस्तर रफ्ता रफ्ता बढ़ता रहा। शुक्रवार को अपराहन दो बजे जलस्तर बढ़ने की गति कुछ कम होकर 93.070 मीटर पर आई, फिर एक घंटे बाद मामूली बढ़त होकर 93.080 मीटर तक पहुंच गया। शुक्रवार शाम चार बजे तक नदी के बढ़ते रहने की ही पुष्टि की गई है। शाम 4:00 बजे जलस्तर 93.090 मीटर तक पहुंच गया, जबकि लाल निशान 92. 730 पर है। वहीं माझा उल्टहवा के दिलशेर पुरवा में आबादी के काफी करीब नदी का पानी पहुंच चुका है।

पानी और बढ़ा तो दिलशेर के पुरवा में ही संकट अधिक पैदा होगा। तहसीलदार संतोष ओझा ने बताया कि बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया है। सरकारी तौर पर नाव को तैयार रखा गया है। बाढ़ आपदा कंट्रोल रूम पर भी कर्मचारियों को आगाह कर दिया गया है कि बाढ़ से मिली सूचनाओं पर पूरी नजर रखें।



Browse By Tags



Other News