एसबीआई के 44 करोड़ खाताधारकों के लिए खुशखबरी
| Agency - Aug 20 2020 2:33PM

मिनिमम बैलेंस नहीं रख पाने का चार्ज माफ

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने आपने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है। एसबीआई ने मिनिमम बैलेंस रखने का चार्ज और एसएमएस चार्जेज अब बचत खाता वाले ग्राहकों से नहीं लेगा। बैंक ने अब ये शुल्क माफ कर दिया है। हमारे सहयोगी लाइव मिंट की खबर के मुताबिक SBI ने ट्वीट कर कहा है कि एसबीआई बचत खाताधारकों के लिए अच्छी खबर है।

अब आपको एसएमएस सेवा और मासिक न्यूनतम राशि नहीं रखने पर भी शुल्क नहीं लेगा। एसबीआई के 44 करोड़ से अधिक बचत खाताधारकों ये सुविधा मिलेगी। क्या यह सुविधा उन सभी एसबीआई बचत खातों के लिए है जिनमें इंटरनेट बैंकिंग और चेक बुक की सुविधा है? इस सवाल के जवाब में, एसबीआई ने एक ट्वीट में कहा कि ये चार्जेस सभी बचत खातों के लिए लागू है।

बता दें बैंक खाते में 1,00,000 रुपये से ज्यादा का औसत मासिक बैलेंस करने वाले बचत खाताधारकों को असीमित लेनदेन की सुविधा एसबीआई देता है।  वहीं अन्य नियमित बचत खाताधारकों को बैंक 8 मुफ्त लेनदेन की सुविधा देता है। इनमें 5 एसबीआई एटीएम और किसी अन्य बैंक के 3 एटीएम से मुफ्त लेनदेन शामिल हैं। वहीं गैर-मेट्रो शहरों में 10 मुफ्त एटीएम लेनदेन होते हैं, जिसमें 5 लेनदेन एसबीआई से किए जा सकते हैं, जबकि 5 अन्य बैंकों के एटीएम से।

इस साल मार्च में, एसबीआई ने घोषणा की थी कि वह सभी बचत बैंक खातों के लिए औसत मासिक न्यूनतम राशि रखने की अनिवार्यता समाप्त कर दी है। इससे अब बैंक के सभी बचत खाताधारकों को जीरो बैलेंस की सुविधा मिलने लगेगी। उस समय मेट्रो शहरों में बचत खाताधारकों को न्यूनतम राशि 3000, कस्बों में 2000 और ग्रामीण इलाकों में 1000 रुपये खाते में रखने होते थे।



Browse By Tags



Other News