कतिपय पत्रकारों द्वारा मुझ पर लगाया जा रहा आरोप सरासर गलत: इन्द्रभान सोनकर
| - Rainbow News Network - Sep 4 2020 3:05PM

इन्द्रभान सोनकर, फारेस्ट रेंजर, टाण्डा

फारेस्ट रेंजर टाण्डा इन्द्रभान सोनकर ने दी सफाई 

अम्बेडकरनगर। भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा वन विभाग द्वारा कराया गया यह कार्य। इस शीर्षक से एक संवाद सोशल मीडिया पर बीते दिनों से वायरल हो रहा है। यह संवाद टाण्डा वन विभाग से सम्बन्धित है। वहाँ टाण्डा-अयोध्या सड़क मार्ग पर स्थित महुआरी गाँव के निकट सड़क मार्ग पर वन विभाग द्वारा विभागीय अधिकारियों-कर्मचारियों की देख-रेख में ट्री गार्ड्स बनवाया जा रहा है। आरोप है कि इस निर्माण कार्य में मानक के विपरीत निर्माण सामग्रियों का इस्तेमाल किया जा रहा है। पीली ईंट, अधिक बालू, सीमेन्ट नदारद वाले निर्माण कार्य से अन्दाजा लगाया जा सकता है कि ये ट्री गार्ड्स दीर्घायु न होकर अल्पायु होंगे, और हवा के हल्के झोंकों से ही ढह जायेंगे। 

उक्त वायरल हो रही खबर में कहा गया है कि वन विभाग द्वारा किये जा रहे इस भ्रष्टाचार का प्रकाशन रोकने हेतु वन विभाग टाण्डा के अधिकारी द्वारा पत्रकारों पर अनावश्यक दबाव भी डाला जा रहा है। खबर में जिक्र है कि जब ट्री गार्ड्स के निर्माण सम्बन्धी जानकारी हेतु फारेस्ट रेंजर इन्द्रभान सोनकर से बात की जाती है तब वह भड़क उठते हैं और पत्रकार का पूरा इतिहास पूछने लगते हैं। और यह कहते हैं कि खबर कहाँ और क्यों लगेगी? तुम लोगों ने फोन करके दिमाग खराब कर रखा है। वायरल हो रही खबर में जिक्र है कि रेंजर सोनकर स्वयं अपनी टीम के साथ ट्री गार्ड निर्माण स्थलों पर निर्माण कार्य की निगरानी करते हैं। ताकि कोई पत्रकार, मीडिया परसन या फिर आम आदमी इसके बारे में पूछ न सके और न ही इसका विरोध कर सके।

खबर के मुताबिक रेंजर इन्द्रभान सोनकर ऊँची पहुँच रखने के कारण टाण्डा वन रेंज में एक दशक से जमे हुए हैं। इनका तबादला हो गया था, परन्तु अपने प्रभाव और ऊँची सत्ता पहुँच के कारण इन्होंने तबादला रूकवा लिया, और टाण्डा जैसे क्षेत्र में रहकर वन विभाग में इनके द्वारा भ्रष्टाचार किया जा रहा है। जगह-जगह अवैध आरामिल संचालित हो रही हैं। इनकी खुली छूट पर हरे पेड़ों की अवैध कटान हो रही है। ट्री गार्ड का निर्माण एक छोटा सा उदाहरण मात्र है। 

इस बावत क्षेत्रीय वन अधिकारी टाण्डा इन्द्रभान सोनकर से जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि जहाँ निर्माण कार्य हो रहा है वह वी.आई.पी. क्षेत्र है। वहाँ से होकर सभी वी.आई.पी. गुजरते हैं। मानक के विपरीत निर्माण कराने का तो सवाल ही नहीं उठता। ट्री गार्ड्स निर्माण में मानक का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। कोई भी जाकर वहाँ देख सकता है, कि कहाँ मानक के विपरीत निर्माण कार्य हो रहा है। रेंजर ने आगे कहा कि रही मीडिया पर भड़कने की बात तो कई लोगों ने फोन करके कहा कि मेरे बारे में फलां से पूछ लीजिए, मुझे फला जानते है, मैं पत्रकार हूँ ..... इस पर मैंने कहा कि आप ने कॉल किया तो आप ही बता दीजिए कि कौन बोल रहे हैं किस अखबार या चैनल से....। मेरी इतनी बात यदि किसी मीडिया परसन को नगवार लगती है तो इसमें मेरी क्या गलती है। 

उन्होंने कहा कि मीडिया द्वारा मुझ पर लगाये जा रहे आरोप सरासर गलत हैं। क्षेत्र में अवैध आरा मिलों और हरे पेड़ों की अवैध कटान पर हमारी पैनी निगाह रहती है। काफी हद तक इस पर नियंत्रण लगाया जा चुका है। कहीं भी कोई पेड़ों की अवैध कटान या अवैध आरा मिलों के संचालन की सूचना मिलती है तो हमारे विभाग की टीम तत्परता से वहाँ पहुँचकर वस्तु-स्थिति से अवगत हो वन विभाग के तहत कार्रवाही सुनिश्चित करती है। हमने टाण्डा क्षेत्र के समस्त वनाधिकारियों व वन कर्मियों को निर्देशित कर रखा है कि क्षेत्र में कहीं भी वृक्ष कटान और अवैध आरामिलों के संचालन की सूचना मिले तो तत्काल उस पर कार्रवाई की जाये।   



Browse By Tags



Other News