...और हनुमान जी को पुलिस ले गई थाना, जानिये पूरा मामला
| - Rainbow News Network - Sep 6 2020 5:59PM

मामला उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर बसखारी थाना क्षेत्र के पटना मुबारक गाँव का

हनुमान जी को पुलिस ने थाना में बैठाया। अम्बेडकरनगर जनपद के बसखारी थाना क्षेत्र अन्तर्गत पटना मुबारकपुर गाँव में की गई थी मूर्ति स्थापना। घोर कलयुग, एक तरफ तो भगवान श्री राम का भव्य मन्दिर अयोध्या में बनाया जा रहा है वहीं दूसरी तरफ उनके प्रिय भक्त बजरंगबली को पुलिस ने उठाकर थाना में बैठाया है। घोर कलयुग......घोर कलयुग.........लोग कह रहे हैं कि ऐसा करके एस.एच.ओ. पी.एन. तिवारी ने अपनी अज्ञानता का परिचय दिया है। उन्हें हनुमान जी की शक्ति का अन्दाजा नही है क्या...? फिर भी बजरंगबली अज्ञानियों का कल्याण करें। 

अम्बेडकरनगर। थानाक्षेत्र के पटना मुबारकपुर गांव के बाहर स्थित तालाब के किनारे सामुदायिक शौचालय निर्माण का विरोध करते हुए शनिवार सुबह ग्रामीणों ने हंगामा खड़ा कर दिया। इस स्थान पर बजरंगली की मूर्ति स्थापित कर पूजन-अर्चन शुरू कर दिया। इससे मौके पर तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई। सूचना पर पहुंची बसखारी पुलिस ने समझाने बुझाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीणों का विरोध जारी रहा। बाद में एसडीएम आलापुर व सीओ सदर ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझाया बुझाया। बाद में पुलिस मूर्ति थाने लेकर चली गई। तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस तैनात कर दी गई है।

जानकारी के अनुसार, गांव के बाहर स्थित तालाब के किनारे ग्राम प्रधान चंद्रावती ने सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कार्य बीते दिनों शुरू कराया था। ग्रामीणों ने इसका विरोध करते हुए कहा कि लंबे समय से तालाब के किनारे महिलाएं छठ पूजा करती हैं। साथ ही नागपंचमी पर रस्म अदा की जाती है। इसके अलावा भी कई अन्य प्रकार के धार्मिक कार्य यहां होते हैं। धार्मिक आस्था को देखते हुए शौचालय का निर्माण न कराया जाए। ग्रामीणों का आरोप है कि विरोध दर्ज कराने के बावजूद निर्माण कार्य नहीं रोका गया। इससे नाराज ग्रामीणों ने शुक्रवार रात तालाब के किनारे बजरंगबली की मूर्ति स्थापित कर दी। साथ ही शनिवार सुबह वहां पहुंचकर पूजन-अर्चन शुरू कर दिया। इसकी जानकारी जब ग्राम प्रधान पक्ष को हुई तो उन्होंने मूर्ति स्थापना का विरोध किया। इससे दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया।

इस बीच हंगामें की सूचना मिलते ही एसओ बसखारी पीएन तिवारी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने बुझाने का प्रयास किया। तमाम प्रयास के बावजूद ग्रामीण पीछे हटने को तैयार नहीं थे। वे शौचालय निर्माण न कराए जाने पर अड़े हुए थे। बाद में एसडीएम आलापुर धीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव व सीओ सदर नवीन कुमार सिंह फोर्स के साथ गांव पहुंचे। काफी देर तक चले समझाने बुझाने के दौर के बाद मामला शांत हो सका। एसओ ने बताया कि मूर्ति थाने ले आई गई है। साथ ही किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को रोकने के लिए एहतियातन मौके पर पुलिस तैनात कर दी गई है।



Browse By Tags



Other News