कोरोना काल में आम उपभोक्ताओं को रूला रहा है अकबरपुर बिजली महकमा, वजह आप भी जानें....
| - Rainbow News Network - Sep 10 2020 4:26PM

अम्बेडकरनगर। इस समय अकबरपुर बिजली विभाग के अभियन्ताओं/अधिकारियों की तानाशाही और मनमानी की वजह से समूचे विद्युत उपखण्ड क्षेत्र में विद्युत उपभोक्ताओं को काफी संकट का सामना करना पड़ रहा है। सबसे बद्तर हालत शहरी उपभोक्ताओं की है। दिन में जब भी मन हुआ बिजली कर्मचारी किसी भी पोषक क्षेत्र की बिजली सप्लाई बन्द कर देते हैं। इस बावत विद्युत उपकेन्द्र अकबरपुर के विद्युत कर्मी एस.एस.ओ. ऑन ड्यूटी द्वारा यह बताया जाता है कि बकाये में विद्युत उपभोक्ताओं की बिजली काटी जा रही है।

आश्चर्य तब होता है जब पीक ऑवर्स में क्षेत्रों की बिजली गुल कर दी जाती है। प्रबुद्ध वर्गीय लोगों ने इसका प्रबल विरोध करते हुए कहा कि कोरोना काल में जब पूरे क्षेत्र के लोग आर्थिक तंगी का शिकार हैं तब इन्हें बकायेदार कहकर इनके साथ बिजली महकमा के जिम्मेदारों द्वारा अनापेक्षित कृत्य नहीं किया जाना चाहिए। इन सबों ने कहा कि बिजली महकमा के कथित भ्रष्ट और स्वार्थी मुलाज़िम कोरोना काल में सीधे-सादे विद्युत उपभोक्ताओं को विद्युत विच्छेदन के नाम पर डरा-धमका कर अपनी अवैध कमाई का अवसर तलाश रहे हैं।

बताया गया है कि विद्युत उपभोक्ताओं से अवैध कमाई का सिलसिला सामान्य दिनों से लेकर इस कोरोना काल में भी विद्युत कर्मियों द्वारा जारी रखा गया है। सभी विभागीय लाइनमैन/संविदा लाइन स्टाफ और निजी लाइन मैन आजकल दिन हो या रात उपभोक्ताओं से सम्पर्क कर उनसे अपनी निजी कमाई करते देखे जा सकते हैं। इस बावत कहा जाता है कि विभाग की लम्बी डील और लम्बी कमीशन खोरी तो अवर अभियन्ता से लेकर अधीक्षण अभियन्ता स्तर के विद्युत अधिकारियों द्वारा की जाती है।

इसके साथ ही समस्त लाइन स्टाफ को इन अधिकारियों द्वारा निर्देशित किया गया है कि किसी भी उपभोक्ता की विद्युत समस्या का समाधान तब तक न करें, जब तक कि वह अपेक्षित/वांछित धनराशि न दे दे। ऐसे में लगभग सभी लाइन स्टाफ कर्मी, वेण्डर लाइनमैन से बने हुए गली-कूचों, सड़कों, जलपान गृहों और विद्युत उपकेन्द्र पर मुर्गा फंसाओ अभियान में संलिप्त देखे जा सकते हैं। इस समय इससे सम्बन्धित एक खबर सोशल मीडिया में वायरल हो रही है, जिसका समर्थन जिले के शहरी और ग्रामीण इलाकों के लोगों ने किया है।

वायरल हो रही खबर....

वैश्विक महामारी covid 19 की वजह से देश में लागू lockdown और सितम्बर माह की उमस भरी गर्मी में अकबरपुर का बिजली महकमा कथित बकायेदारों के बिजली कनेक्शन का विच्छेदन जैसा सुकार्य कार्य कर रहा है। पूरा शहर के लोग परेशान हैं। आरोप है कि बिजली विभाग द्वारा कोई पूर्व नोटिस भी नहीं दी गयी है। कौन कहे बिल माफ़ी की उलटे महकमा इस कोरोना काल में आर्थिक तंगी झेल रहे लोगों को जीते जी अपने तरीके से मार रहा है। इस तरह के विद्युत् विच्छेदन किये जाने का विरोध शुरू हो गया है। नगरजन लाइन स्टाफ जे ई और अन्य अधिकारियों के तानाशाही के विरोध में लामबन्द हो रहे हैं। बिजली विभाग के कथित भ्रष्ट और स्वार्थी मुलाज़िम कोरोना काल में कमाई का अवसर तलाश रहे हैं। 



Browse By Tags



Other News