महेश भट्ट के भाई मुकेश भट्ट की जब विनोद खन्ना ने की थी पिटाई
| Agency - Sep 11 2020 2:16PM

आप को पता है विनोद खन्ना और महेश भट्ट में गहरी दोस्ती थी। महेश भट्ट ने ही विनोद खन्ना को रजनीश के आश्रम में पहुचाया था और महेश भट्ट के कहने पर ही विनोद खन्ना ने मुकेश भट्ट यानी महेश भट्ट के भाई को अपना सेकेट्री बनाया था। एक बार विनोद खन्ना इतना गुस्सा हो गए थे की उन्होने मुकेश भट्ट को थप्पड़ लगा दिए। आइये जानते है पूरा मामला 

महेश भट्ट को पहले से ही आदत रही है लोगों की पर्सनल लाइफ में दखल देने की, रिया चक्रवर्ती ही नहीं अपने दोस्त विनोद खन्ना की लाइफ में वो अक्सर दखल दिया करते थे. दरअसल अस्सी के दशक में विनोद खन्ना का करियर एकदम पीक पर था. ऐसा माना जा रहा था कि जल्द ही विनोद खन्ना अमिताभ बच्चन को भी पीछे छोड़ देंगे, लेकिन इसी दौरान विनोद खन्ना की मां की डेथ हो गयी.

इस घटना से विनोद खन्ना बहुत दुखी थे, उस पर महेश भट्ट ने उन्हें आध्यात्म की ओर जाने की सलाह दे दी और महेश भट्ट के उकसाने पर ही विनोद खन्ना उनके साथ ओशो रजनीश के आश्रम चले गए थे. कहते हैं उन दिनों महेश भट्ट का पूरा खर्च विनोद खन्ना ही उठाया करते थे. अपनी मर्सिडीज में महेश भट्ट को बिठाकर ओशो आश्रम ले जाया करते थे. खुद महेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा था, ‘तब मेरे पास पैसा नहीं था. विनोद ही मेरी देखभाल करते थे और मेरी ट्रेवलिंग का खर्चा उठाते थे.”

फिर विनोद खन्ना का रजनीश से भी मोहभंग हो गया और वो वापस बॉलीवुड में लौट आए और आते ही उन्होंने फ़िल्म ‘इंसाफ’ से धमाकेदार वापसी भी की. महेश भट्ट इस मौके को कैश करना चाहते थे, इसलिए अपने भाई मुकेश भट्ट को प्रोड्यूसर बनाकर विनोद खन्ना को लेकर फ़िल्म ‘जुर्म’ की शुरुआत कर दी.

जैसा कि अमूमन हमेशा होता है भट्ट अपने स्टार्स को उनकी फीस देने में आना कानी करते हैं, फिर विनोद खन्ना तो उनके करीबी थे, तो भट्ट ब्रदर्स विनोद खन्ना को पैसे देने में भी आनाकानी करने लगे. विनोद खन्ना इस बात से बहुत नाराज हुए और वो शूटिंग के लिए भट्ट ब्रदर्स को रखड़ाने लगे और इस तरह फ़िल्म लटक गई. कहते हैं गुस्से में विनोद ने लगातार 40 दिन तक शूटिंग कैंसिल कराई थी.

प्रोड्यूसर बनने से पहले मुकेश भट्ट शराबी हुआ करते थे और कोई काम धाम नहीं करते थे. बस शराब पीकर यहां वहां भटका करते थे. ऐसे में महेश भट्ट ने ही विनोद खन्ना से रिक्वेस्ट करके मुकेश को विनोद खन्ना का सेक्रेटरी बना दिया और इस तरह मुकेश भट्ट काफी दिनों तक उनका काम संभालते रहे.
जब ‘जुर्म’ से मुकेश भट्ट प्रोड्यूसर बने और पैसे न मिलने की वजह से विनोद खन्ना ने उनकी फिल्म अटका दी, तो मुकेश भट्ट ने विनोद खन्ना के खिलाफ ज़हर उगलना शुरू कर दिया. वो उनके खिलाफ पब्लिक में ऊलजुलूल स्टेटमेंट्स देने लगे. कुछ समय तक तो विनोद खन्ना शांत रहे, लेकिन जब उन्हें लगा कि पानी सर के ऊपर जाने लगा है, तो उनका गुस्सा भी सातवें आसमान पर पहुंच गया.

आखिर एक दिन स्टूडियो में उनका मुकेश भट्ट से सामना हो गया. विनोद खन्ना इतने गुस्से में थे कि मुकेश को देखते ही उन्हें कई चांटे जड़ दिए. महेश भट्ट, जो खुद को विनोद खन्ना का बहुत अच्छा दोस्त बताते थे, कहते हैं फ़िल्म ‘जुर्म’ के बाद उनकी दोस्ती भी खत्म हो गई. महेश भट्ट ने यहां तक कह दिया कि ‘मैं विनोद के स्पॉट ब्वॉय को हीरो बना लूंगा, लेकिन विनोद को अपनी फिल्मों में साइन नहीं करूंगा’.



Browse By Tags



Other News