रूस भारत को बेचेगा 100 मिलियन वैक्सीन डोज
| Agency - Sep 16 2020 5:21PM

भारत में कोरोना वायरस के मामले आज (16 सितंबर) 50 लाख के पार चले गए हैं। ऐसे में कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत के लिए एक अच्छी खबर है। रूस ने अपने अधिकारिक बयान में कहा है कि वह भारत को कोरोना वैक्सीन की 100 मिलियन डोज बेचेगा। रूस के वेल्थ फंड ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा है कि भारतीय फार्मा कंपनी डॉ रेड्डी लेबोरेटरीज को कोविड-19 स्पूतनिक-वी वैक्सीन की 100 मिलियन डोज की आपूर्ति करेगा, क्योंकि इसे भारत में नियामक स्वीकृति मिल गई है।

भारत में रूस के कोरोना वैक्सीन ट्रायल का पालन करने और भारतीय फर्म के साथ संयुक्त रूप से आयोजित होने की उम्मीद है। कोरोना वैक्सीन ट्रायल और सप्लाई दोनों घरेलू नियामक अनुमोदन पर निर्भर करेगा। द रसिया डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) ने पहले ही कजाकिस्तान, ब्राजील और मैक्सिको के साथ वैक्सीन की सप्लाई की डील कर चुका है। इसके अलावा रूस ने स्पुतनिक-वी वैक्सीन की 300 मिलियन डोज के उत्पादन के लिए भारत के साथ एक विनिर्माण साझेदारी समझौता कर चुका है।

भारत सरकार ने कोरोना वैक्सीन के लिए रूस के साथ सितंबर के शुरुआती हफ्ते से ही बात कर रही थी। कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी की सप्लाई और उत्पादन को लेकर भारत और रूस के बीच इस फैसले से पहले कई स्तर पर बातचीत हुई है। पिछले हफ्ते भारत में रूस के राजदूत निकोलेय कुशादेव ने ये जानकारी दी थी। विदेश मंत्री एस जयशंकर के रूस दौरे के दौरान भी कोरोना वैक्सीन को लेकर चर्चा हुई थी।

दुनिया भर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है। भारत अब ब्राजील को छोड़कर कोरोना मामले में दूसरे नंबर पर आ गया है। भारत में पिछले 24 घंटों में 90,123 नए कोविड-19 के मामले सामने आए और 1,290 मौतें हुई हैं। देश में कुल कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 50,20,360 हो गई है जिसमें 9,95,933 एक्टिव मामले हैं और 39,42,361 लोग ठीक हो चुके हैं। कोरोना से देश में 82,066 लोगों की मौत हुई है।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 11 अगस्त 2020 को अधिकारिक तौर पर दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन के बारे में जानकारी दी थी। उन्होंने बताया था कि कोरोना वैक्सीन का नाम स्पूतनिक वी है। द लॅन्सेट जर्नल की मानें तो शुरुआती ट्रायल में कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी के कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखे हैं।



Browse By Tags



Other News