UP : रायबरेली के बछराँवा में देह व्यापार का धन्धा जोरो पर
| - Rainbow News Network - Sep 17 2020 5:27PM
  • रायबरेली का बछराँवा कस्बा बना रेडलाइट एरिया
  • थाना बछराँवा की पुलिस ने सेक्स रैकेट संचालकों को दिया है अभयदान
  • रेलवे स्टेशन रोड, रेलवे क्रासिंग, बस स्टेशन व कई अन्य रिहायशी इलाकों में चल रहा है देह व्यापार.....?

उत्तर प्रदेश के जनपद रायबरेली के सी.ओ. सर्किल महाराजगंज अन्तर्गत थाना बछराँवा में देह व्यापार का धन्धा एक लम्बे अर्से से चल रहा है। अनेकों बार मीडिया/सोशल मीडिया के जरिये बछराँवा के उन स्थानों के बारे में खबरें प्रकाशित व वायरल की जा चुकी हैं, जहाँ सेक्स रैकेट चलाये जा रहे हैं और उन्हें पुलिस का पूरा संरक्षण प्राप्त है। रायबरेली जनपद का पुराना कस्बा जो नगर पंचायत द्वारा संचालित होता है, इसके रेलवे स्टेशन रोड, बस स्टेशन क्षेत्र और अन्य कई रिहायशी कॉलोनी इलाकों में देह व्यापार का धन्धा निर्बाध रूप से संचालित किया जा रहा है। खबरों में बताया गया है कि इस घृणित कार्य और धन्धे में ऐसे लोग संलिप्त हैं जो आर्थिक रूप से तंगहाल हैं। इनके परिवार में आमदनी का जरिया सम्मानजनक नहीं है और ये लोग छोटा-मोटा धन्धा करके पारिवारिक सदस्यों का भरण-पोषण कर रहे हैं। इन्हीं परिवारों के युवा सदस्य मुख्यतः लड़कियाँ अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए देह व्यापार जैसे घृणित धन्धें में संलिप्त होने लगी हैं।

चूंकि बछराँवा कस्बा मिनी औद्योगिक क्षेत्र हैं इसलिए यहाँ पर काम करने के लिए बाह्य जनपदों से युवक श्रमिक के रूप में कार्य करने हेतु आते रहते हैं। जिसका फायदा यहाँ के सेक्स रैकेट संचालकों द्वारा उठाया जाता है। इसी तरह बछराँवा उत्तर रेलवे यार्ड एवं लाइन निर्माण से सम्बन्धित कार्यों के लिए ठेकेदारों द्वारा जुटाये गये बाहरी श्रमिकों की वजह से रेलवे स्टेशन इलाकों में युवकों की भीड़ रहती है। ये युवक बछराँवा के सेक्स रैकेट इलाके की लड़कियों के चंगुल में आसानी से फंस जाते हैं। दबी जुबान से यह भी चर्चा है कि रेलवे के कुछेक कर्मियों और ठेकेदारों की भी इस धन्धे के संचालकों से अच्छी दोस्ती है। इनके साथ काम करने वाले युवा श्रमिक अपनी पूरी पगार सेक्स रैकेट संचालकों तथा उनमें शामिल फिल्मी स्टाइल लड़कियों और युवतियों को दे दिया करते हैं।

बछराँवा रेलवे स्टेशन रोड पर चाय एवं जलपान की छोटी दुकानों के संचालकों द्वारा देह व्यापार करवाया जा रहा है। इस सम्बन्ध में बताया गया है कि मुखिया की सह पर परिवार की युवतियाँ अपनी अदाओं से स्थानीय एवं बाहरी युवकों को आकर्षित करती हैं तथा उनको अपने प्रेम जाल में फंसाकर खूब पैसे ऐंठती हैं। जब देह सुख लेने वालों द्वारा इन सेक्स रैकेट संचालकों की मांगे पूरी करने में असमर्थता जताई जाती है तब ये लोग उन्हें पुलिस से मिलकर फर्जी मुकदमों में फंसा दिया करते हैं। ऐसा अनेकों बार हुआ है। एक नहीं अनेकों उदाहरण दिये जा सकते हैं। बछराँवा कस्बे के शान्ति प्रिय क्षेत्रों में रहने वाले संभ्रान्तजनों का आरोप है कि पुलिस कागज के नोटों के बदले देह व्यापार जैसे घिनौने धन्धे को बढ़ावा दे रही है।

कभी-कभी जब स्थानीय संभ्रान्त जनों एवं मीडिया का दबाव पड़ता है तब खाना पूर्ति और अपने बचाव के लिए स्थानीय पुलिस देह व्यापार संचालकों द्वारा तहरीर दिलवाकर थाने में बलात्कार जैसी घटनाओं को अंकित करवाती है और बेगुनाह युवकों को विभिन्न धाराओं के तहत जेल भेजने की नौटंकी करती है। चर्चा जोरों पर है कि बछराँवा पुलिस देह व्यापार जैसे घृणित धन्धे को पुष्पित एवं पल्लवित होने में अपना सम्पूर्ण योगदान दे रही है। 

नगर पंचायत बछराँवा, थाना बछराँवा जिला रायबरेली (उ.प्र.) के अनेकों हिस्सों में बेखौफ चल रहे सेक्स रैकेट से शान्तिप्रिय एवं सम्मानित लोगों का जीना दूभर सा हो गया है। कुछेक इलाकों में तो नशे की हालत में सरेशाम और देर रात तक देह सुख भोगने वाले लोगों का जमावड़ा भी देखा जा सकता है। रेलवे स्टेशन रोड के एक छोटे व्यवसाई का पूरा परिवार सेक्स रैकेट में संलिप्त बताया जाता है। इस परिवार की सयानी लड़कियों के बारे में कहा जाता है कि ये सभी देह व्यापार के धन्धे में संलिप्त हैं। और ऐसा कार्य घर का मुखिया (माता-पिता) स्वयं करवा रहा है।

इस धन्धे की पूरी जानकारी थाना बछराँवा के सभी पुलिसजनों को है, परन्तु सुविधा शुल्क की मोटी रकम के एवज में पुलिस सबकुछ देखते हुए भी अनजान बनी हुई है। इसी तरह बस स्टेशन क्षेत्र इलाके में भी सेक्स रैकेट पुलिस के संरक्षण में संचालित हो रहा है। चर्चा है कि बछराँवा कस्बा रायबरेली जनपद का एक प्रमुख रेडलाइट एरिया बना हुआ है। प्रबुद्ध वर्गीय एवं संभ्रान्त लोगों ने जिले के पुलिस अधिकारियों और जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए मांग किया है कि बछराँवा कस्बे के सभी इलाकों जहाँ पर भी देह व्यापार जैसा घृणित धन्धा चल रहा है में छापेमारी कर इस पर रोक लगायें।



Browse By Tags



Other News