अमेठी के इंदिरा गांधी अकादमी से उड़ा एयरक्राफ्ट आजमगढ़ में क्रैश, ट्रेनी पायलट की मौत
| Agency - Sep 21 2020 4:23PM

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश में अमेठी के फुरसतगंज स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी से उड़ा ट्रेनी एयरक्राफ्ट टीबी-20 आजमगढ़ के सरायमीर थाना क्षेत्र में क्रैश होकर जमीन होकर गिरा और उसके टुकड़े-टुकड़े हो गए। इस घटना में विमान को उड़ा रहे तीस वर्षीय ट्रेनी पायलट कोणार्क शरण की मौत हो गई। एयरक्राफ्ट गिरने की आवाज सुनकर मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। सूचना मिलने पर एसपी समेत पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची।

एसपी सुधीर कुमार सिंह ने इस घटना के बारे में बताया कि यह सोलो पायलट ट्रेनी एयरक्राफ्ट था। फुरसतगंज के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी से मऊ के लिए पायलट ने उड़ान भरी थी और उसको वहां से वापस लौटना था। रास्ते में ही इसका संपर्क टूट गया और क्रैश हो गया। एसपी ने कहा कि एयक्राफ्ट में कोई और मौजूद नहीं था क्योंकि यह सिंगल पायलट एयरक्राफ्ट था। पायलट की बॉडी को पुलिस ने कब्जे में लेकर भिजवा दिया है।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी को हादसे के बारे में सूचित कर दिया गया है। फरीद्दीनपुर गांव के पास करीब 11 बजे तेजी से यह एयरक्राफ्ट जमीन पर गिरा और तेज धमाका हुआ। ग्रामीणों के मुताबिक, जिस वक्त हादसा हुआ जोर की बारिश हो रही थी और मौसम काफी खराब था। तेज आवाज के साथ एयरक्राफ्ट अनियंत्रित होकर क्रैश हुआ और मलबे के ढेर में बदल गया। इस एयरक्राफ्ट को उड़ा रहा ट्रेनी पायलट कोणार्क हरियाणा के पलवल का निवासी था जिसकी मौत हो गई।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी के अधिकारी का कहना है कि फिलहाल यही लग रहा है कि खराब मौसम की वजह से यह हादसा हुआ। जांच के बाद ही असली वजह का पता चल पाएगा। अधिकारी ने भी कहा कि सोलो पायलट एयरक्राफ्ट था जिसे ट्रेनी पायलट कोणार्क उड़ा रहा था। कोणार्क कमर्शियल पायलट लाइसेंस की ट्रेनिंग ले रहा था। इसके लिए 200 घंटे की उड़ान भरनी होती है जिसमें से वह 125 घंटे एयरक्राफ्ट उड़ा चुका था।



Browse By Tags



Other News