राज्य में 1 करोड़ बिजली उपभोक्ता ऐसे जिन्होंने कभी बिजली का बिल ही नहीं भरा
| Agency - Oct 23 2020 4:43PM

लखनऊ। एक ओर जहां यूपी सरकार चौबीसों घंटे बिजली आपूर्ति देने की बात कर रही है और पूर्वाचंल डिस्ट्रिब्‍यूशन कंपनी के निजीकरण की चर्चा चल रही है, ऐसे करीब 1 करोड़ उपभोक्‍ता हैं जिन्‍होंने कभी बिजली का बिल दिया ही नहीं। यूपी पावर कॉर्पोरेशन के आंकड़े बताते हैं कि 38 प्रतिशत उपभोक्‍ता ऐसे हैं जिनके यहां जबसे बिजली कनेक्‍शन लगा है तबसे उन्‍होंने बिजली का बिल नहीं दिया है।

यह जानकारी यूपीपीसीएल (यूपी पावर कार्पोरेशन लिमिटेड) के चेयरमैन और अडिशनल चीफ सेक्रटरी (ऊर्जा) अरविंद कुमार ने कई ट्वीट्स के जरिए दी। इनमें उन्‍होंने बताया कि 2.83 करोड़ उपभोक्‍ताओं में से 1.09 करोड़ ने कभी भी अपना बिजली का बिल नहीं भरा। इनमें से भी 96 पर्सेंट ग्रामीण इलाकों से हें।

यूपीपीसीएल सूत्रों का कहना है कि इन उपभोक्‍ताओं पर 68,000 करोड़ रुपयों का बकाया है। इन 1 करोड़ से भी ज्‍यादा उपभोक्‍ताओं में 83 लाख में से 43 लाख उपभोक्‍ता अकेले पूर्वांचल डिस्‍कॉम से हैं। आंकड़ों के अनुसार, पूर्वांचल में 3.78 लाख ऐसे ग्राहक हैं जिन पर 1 लाख रुपये से ज्‍यादा का बिजली का बिल बकाया है।

एक वरिष्‍ठ यूपीपीसीएल अधिकारी का कहना है कि ये आंकड़े बताते हैं कि डिस्ट्रिब्‍यूशन कंपनी की हालत क्‍या है। सूत्र कहते हैं कि पूर्वांचल डिस्ट्रिब्‍यूशन कंपनी के निजीकरण करने के पीछे यूपी सरकार के जोर देने की यह एक बड़ी वजह है। इस क्षेत्र में आजमगढ़, वाराणसी, गोरखपुर, बस्‍ती और प्रयागराज जोन आते हैं।



Browse By Tags



Other News