ये 10 चीजें शरीर पर नहीं होने देती कैंसर का अटैक, संजीवनी से कम नहीं
| Agency - Nov 7 2020 4:19PM

WHO की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2018 में कैंसर की बीमारी से करीब 96 लाख लोगों की मौत हुई थी. मौत के ये आंकड़े देखकर आप इस खौफनाक बीमारी का अंदाजा लगा सकता है. फिटनेस एक्सपर्ट कहते हैं कि अगर इंसान एक हेल्दी डाइट को फॉलो करे या अपनी डाइट में कुछ जरूरी चीजों को शामिल करे तो कैंसर से बचा जा सकता है.

करेला- सैंट लुइस यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, करेला शरीर में कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है. चूहों पर किए गए इस शोध में पता लगा कि करेला कैंसर ट्यूमर को करीब 50% तक बढ़ने से रोक सकता है. करेले को अपनी डाइट में नियमित रूप से शामिल कर आप कैंसर से कुछ हद तक बच सकते हैं.

कमल ककड़ी- न्यूट्रिशन से भरपूर कमल ककड़ी भी इस रोग को दूर रखने में मददगार है. यह चमत्कारी चीज शरीर में ब्लड सेल्स को बढ़ाकर स्ट्रेस और वजन कम करती है. आपको बता दें कि मोटापे को भी कैंसर का बड़ा कारण माना जाता है.

ग्रीन टी- वजन कम करने से लेकर ब्लड प्रेशर नॉर्मल करने तक ग्रीन टी कई तरह से फायदेमंद होती है. ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में पॉलीफेनोल एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं. ये एंटीऑक्सीडेंट्स फ्री रेडिकल्स द्वारा होने वाले डीएनए डैमेज से कोशिकाओं को सुरक्षित रखते हैं. हालांकि, इस पर अभी और रिसर्च होनी है, लेकिन रोजाना ग्रीन टी का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है.

अनार- ब्रेस्ट कैंसर को रोकने में अनार बहुत अहम भूमिका निभाता है. अनार में भी पॉलीफेनोल पाया जाता है, जो कैंसर को बढ़ने से रोकता है. साल 2009 में हुई एक स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, अनार के जूस में ब्रेस्ट कैंसर को रोकने के गुण पाए जाते हैं. हालांकि अभी तक ये साफ नहीं हुआ कि ब्रेस्ट कैंसर को रोकने के लिए कितनी मात्रा में अनार का सेवन जरूरी है. लेकिन अगर आपको डायबिटीज है तो अपनी डाइट में अनार शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

ड्रैगन फ्रूट- मेडिकल डेली की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ड्रैग फ्रूट में विटामिन-सी के अलावा कैरोटीन पाया जाता है. इसमें कई प्रकार के एंटी-कार्सिनोजेनेटिक तत्व पाए जाते हैं जो ट्यूमर का खतरा कम कर सकते हैं. एक स्टडी के मुताबिक, ड्रैगन फ्रूट में लाल रंग का भाग खाने से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम होता है.

हल्दी- हर भारतीय घर में मिलने वाली हल्दी कई गुणों के लिए जानी जाती है. हल्दी में कैंसर फाइटिंग कंपाउंड करक्यूमिन पाया जाता है. ये कंपाउंड ब्रेस्ट कैंसर के साथ-साथ फेफड़ों और स्किन कैंसर में भी फायदेमंद साबित होता है. कैंसर के खतरे को कम करने के लिए रोजाना कम से कम एक चुटकी हल्दी का सेवन जरूर करें.

लहसुन- लहसुन में कैंसर को खत्म करने वाला एलियम कंपाउंड पाया जाता है. ये ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर के साथ-साथ कई दूसरे प्रकार के कैंसर को खत्म करने में भी मददगार साबित होता है. लहसुन के अलावा प्याज भी कैंसर में फायदेमंद होती है. साल 2007 में हुई एक स्टडी की रिपोर्ट में शोधकर्ताओं ने ब्रेस्ट कैंसर की कोशिकाओं पर लहसुन से होने वाले फायदों की जांच की थी, जिसमें अच्छे परिणाम देखने को मिले थे. हालांकि, अभी इसकी और रिसर्च होनी बाकी है.

साल्मन- साल्मन एक प्रकार की मछली है, जिसमें भरपूर मात्रा में ओमेग-3, विटामिन बी12 और विटामिन-डी पाया जाता है. साल्मन के सेवन से शरीर में हर तरह के जरूरी न्यूट्रिएंट्स की कमी दूर हो जाती है, जो कोशिकाओं की ग्रोथ और कैंसर को रोकने के लिए जरूरी होते हैं. इस मछली को स्टीम करके, सेंककर या ग्रिल करके भी खा सकते हैं.

अलसी- अलसी में ओमेगा-3, लिगनन्स और फाइबर मौजूद होता है. ये सभी ब्रेस्ट कैंसर की कोशिकाओं को बनने से रोकते हैं. आप चाहें तो अलसी को साबुत, पीसकर या फिर इसके तेल का भी सेवन कर सकते हैं.

ब्रोकली- ब्रोकली में भारी मात्रा में सल्फोराफेन और इंडोल्स मौजूद होते हैं. ये कई तरह से शरीर में मौजूद कोशिकाओं की ग्रोथ को रेगुलेट करते हैं. साथ ही ये ब्रेस्ट, ब्लैडर, लिंफोमा, प्रोस्टेट और फेफड़ों के कैंसर से सुरक्षित रखने में बेहद मददगार साबित होती है.

बेरीज- सभी तरह की बेरीज में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स और फाइटोकेमिकल्स मौजूद होते हैं. ये शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को बनने से रोकते हैं. दिनभर में ब्लूबेरीज, रसबरी और स्ट्रॉबेरी का सेवन जरूर करने से कैंसर से काफी हद तक सुरक्षित रह सकते हैं.



Browse By Tags



Other News