टाण्डा: नपाप कर्मियों की हड़ताल समाप्त, नगरीय सुविधाएँ बहाल
| -RN. News Desk - Nov 20 2020 2:01PM

दीपक केडिया

आरोपी दीपक केडिया के खिलाफ कोतवाली टाण्डा में संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज

दीपक केडिया की गिरफ्तारी के लिए पुलिस सक्रिय 

अम्बेडकरनगर। पूर्वांचल के मैनचेस्टर कहलाने वाले शहर टाण्डा की सर्वाधिक पुरानी ए श्रेणी नगर पालिका परिषद के कर्मचारियों की हड़ताल तीसरे दिन मांगे पूरी होने के बाद समाप्त हुई। थाना कोतवाली टाण्डा की पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उसके ठिकानों पर दबिश डाल रही है। 

विवरण अनुसार टाण्डा नगर पालिका परिषद के राजस्व निरीक्षक राकेश कुमार गौरव की तहरीर पर टाण्डा कोतवाली पुलिस ने नगर के वार्ड संख्या 15 की सभासद आरती केडिया के पति दीपक केडिया के खिलाफ मुकदमा अपराध संख्या- 352/20-147, 353, 504, 506, 427, तीन उपधारा (1) (द), तीन उपधारा (1) ध (एस सी एस टी एक्ट) जैसे संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। 19 नवम्बर 2020 देर शाम टाण्डा कोतवाली पुलिस ने उक्त आधा दर्जन से अधिक सुसंगत और संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपी दीपक केडिया की गिरफ्तारी के लिए उनके आवास एवं अन्य ठिकानों पर दबिश डालना शुरू कर दिया। समाचार प्रेषण तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी। 

उल्लेखनीय है कि नपाप टाण्डा के राजस्व निरीक्षक राकेश कुमार गौरव ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देते हुए बताया था कि 11 नवम्बर 2020 को शहर स्थित घण्टाघर लाइब्रेरी के बगल पथ प्रकाश दुरूस्त करने पहुँची नगर पालिका कर्मियों की टीम के साथ आरोपी दीपक केडिया ने सरकारी दस्तावेजों को फाड़ कर सरकारी कार्य में अवरोध उत्पन्न किया साथ ही आवेश में आकर जातिसूचक शब्दों को प्रयोग कर नपाप कर्मियों के साथ अभद्रता किया। आरोपी वार्ड नं0 15 की सभासद आरती केडिया के पति दीपक केडिया द्वारा किये गये अभद्रता एवं दुर्व्यवहार से नपाप के समस्त अधिकारियों कर्मचारियों में आक्रोश है। 

इन सब बातों का उल्लेख करते हुए राजस्व निरीक्षक राकेश कुमार गौरव द्वारा टाण्डा कोतवाली में तहरीर दी गई थी और आरोपी के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग की थी। जब नपाप कर्मियों के अगुआ राजस्व निरीक्षक राजस्व कुमार गौरव की तहरीर पर थाना टाण्डा पुलिस द्वारा हीला-हवाली की जाने लगी तो अपनी मांगों को लेकर नगर पालिका के समस्त कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर हड़ताल शुरू कर दिया था। इस हड़ताल अवधि में नगर पालिका सीमा क्षेत्र में पेयजलापूर्ति का संकट उत्पन्न हो गया, साथ ही पूरा शहर साफ-सफाई के अभाव में गन्दगी से आच्छादित हो गया। 

मनोज कुमार सिंह, ईओ, नपाप- टाण्डा 

बता दें कि इस हड़ताल के बावत ईओ टाण्डा नपाप मनोज कुमार सिंह से रेनबोन्यूज ने बीते 17 नवम्बर को बात किया था तो उन्होंने स्पष्ट कहा था कि आरोपी दीपक केडिया द्वारा की गई अभद्रता से नपाप कर्मचारियों में आक्रोश है। कर्मचारियों के साथ हुए दुर्व्यवहार से वह भी आहत हैं, और नपाप कर्मचारियों के साथ हैं। श्री सिंह ने कहा था कि किसी भी कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार कदापि बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। 

परिणाम यह रहा कि नगर पालिका परिषद टाण्डा अधिकारियों और कर्मचारियों की एक जुटता के कारण बुधवार 18 नवम्बर से अनिश्चित कालीन कार्य बहिष्कार हड़ताल शुरू हो गई, जिससे टाण्डा शहर में गन्दगी फैलने लगी और नगरजन की दिनचर्या प्रभावित होने लगी। नगर पालिका परिषद टाण्डा के ई.ओ. मनोज कुमार सिंह ने नगर वासियों की सुविधा के लिए जलापूर्ति जारी रखा, और छठ पर्व के पूर्व धार्मिक भावनाओं के दृष्टिगत सरयू तट पर विशेष रूप से साफ-सफाई कराई गई। 

नगर पालिका परिषद टाण्डा कर्मियों ने आरोपी दीपक केडिया के खिलाफ थाना टाण्डा में दी गई तहरीर अनुसार मुकदमा दर्ज करने की मांग किया था, जिसे 19 नवम्बर 2020 को कोतवाली पुलिस ने पूरा करते हुए कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। और आरोपी दीपक केडिया की गिरफ्तारी के लिए उसके आवास और अन्य संभावित ठिकानों पर दबिश डालना शुरू कर दिया। 



Browse By Tags



Other News