उम्रकैद भुगत रहे आसाराम के बेटे नारायण साईं को 10 दिन जेल से बाहर आने की मंजूरी
| Agency - Dec 3 2020 4:35PM

साध्वियों से यौन शोषण के गुनाह में उम्रकैद भुगत रहे आसाराम के बेटे नारायण साईं को फर्लो मिली है। नारायण साईं ने अपनी मां की तबीयत ठीक ना होने की वजह बताकर गुजरात हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। जिसे देखते हुए गुजरात हाईकोर्ट ने नारायण साईं को 10 दिनों के लिए जमानत पर रिहा करने का आदेश दे दिया है।

बता दें कि, नारायण साईं सूरत की लाजपोर जेल में सजा काट रहा है। वहीं, पिता आसाराम भी उम्रकैद की सजा काट रहा है। उसे भी एक नाबालिग का यौन शोषण करने पर यह सजा हुई थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार, आसाराम की पत्नी व नारायण साईं की मां को हार्ट अटैक आया था। जिसके चलते उसकी तबीयत इन दिनों खराब है। ऐसा बताया जा रहा है कि, उसका दिल भी मात्र 40 पर्सेंट ही काम कर रहा है। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए हाईकोर्ट ने साईं की जमानत याचिका मंजूर की है।

नारायण साईं वर्ष 2013 से जेल काट रहा है। उसी साल 30 अप्रैल को उसे सूरत की अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी। अब नारायण साईं करीब 49 साल का हो गया है। उसके अलावा बाकी आरोपी गंगा, जमना, कौशल और रमेश मल्होत्रा भी कैद में हैं। वहीं, पिता आसाराम भी 2013 से ही जेल काट रहा है। जब वह जेल भेजा गया था, तो बहुत बार बाहर आने की कोशिशें कीं, लेकिन अभी तक जमानत ही नहीं मिल पाई। बहरहाल, सवाल ये उठ रहे हैं कि उनका कारोबार किसके हाथ में जाएगा।
बता दें कि, नारायण साईं सूरत की लाजपोर जेल में सजा काट रहा है। वहीं, पिता आसाराम भी उम्रकैद की सजा काट रहा है। उसे भी एक नाबालिग का यौन शोषण करने पर यह सजा हुई थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार, आसाराम की पत्नी व नारायण साईं की मां को हार्ट अटैक आया था। जिसके चलते उसकी तबीयत इन दिनों खराब है। ऐसा बताया जा रहा है कि, उसका दिल भी मात्र 40 पर्सेंट ही काम कर रहा है। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए हाईकोर्ट ने साईं की जमानत याचिका मंजूर की है।

नारायण साईं वर्ष 2013 से जेल काट रहा है। उसी साल 30 अप्रैल को उसे सूरत की अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी। अब नारायण साईं करीब 49 साल का हो गया है। उसके अलावा बाकी आरोपी गंगा, जमना, कौशल और रमेश मल्होत्रा भी कैद में हैं। वहीं, पिता आसाराम भी 2013 से ही जेल काट रहा है। जब वह जेल भेजा गया था, तो बहुत बार बाहर आने की कोशिशें कीं, लेकिन अभी तक जमानत ही नहीं मिल पाई। बहरहाल, सवाल ये उठ रहे हैं कि उनका कारोबार किसके हाथ में जाएगा।



Browse By Tags



Other News