सेन्ट जॉन्स गिरजाघर में मनाया गया प्रभु येशु का जन्मदिन
| - Rainbow News Network - Dec 25 2020 3:34PM

प्रभु येशु का जन्म एक गौशाल में हुआ था, उन्होंने अपना पूरा जीवन काल गरीबों, बीमारों एवं अभावग्रस्त लोगों की सेवा में लगाया: डॉ. नवीन जॉन

अम्बेडकरनगर। अकबरपुर के सेन्ट जॉन्स स्कूल परिसर स्थित चर्च में शुक्रवार 25 दिसम्बर को प्रभु येशु का जन्मदिन पारम्परिक ढंग से हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर कोविड-19 के सुरक्षा नियमों का पूर्णतया पालन किया गया। प्रभु ईसा मसीह के जन्मोत्सव अवसर पर सेन्ट जॉन्स चर्च में प्रातः कालीन प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया।

इस पावन अवसर पर प्रभु येशु से सम्बन्धित आकर्षक झांकिया सजाई गई। बच्चों को क्रिसमस फादर ने पुरस्कार एवं उपहार वितरित किया। गरीबों में कम्बल व कपड़े बांटे गये। कोविड-19 प्रोटोकाल का अक्षरशः पालन करते हुए सेन्ट जॉन्स गिरजाघर में प्रभु येशु के जन्मोत्सव पर प्रार्थना सभा उपरान्त सेन्ट जॉन्स स्कूल के संरक्षक डॉ. नवीन जॉन ने बताया कि प्रभु ईसा मसीह का जन्म एक गौशाला में हुआ था।

डॉ. नवीन जॉन

प्रभु ने अपना पूरा जीवन काल गरीबों, बीमारों एवं अभावग्रस्त लोगों की सेवा व उनके उत्थान के लिए लगाया था। सेन्ट जॉन्स स्कूल और उसके परिसर में स्थित गिरजाघर व आस-पास साफ-सफाई एवं प्रकाश की उत्तम व्यवस्था की गई। इस अवसर पर मनोहारी एवं भव्य सजावट व झांकी ने दर्शकों का मन मोहा।  

प्रभु येशु के पावन जन्म दिन पर सेन्ट जॉन्स चर्च में आयोजित कार्यक्रम में सभी समुदाय के लोगों ने पूर्व की भाँति बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। कार्यक्रम को सफल बनाने में सेन्ट जॉन्स स्कूल की प्रबन्धक रेनू जॉन, विद्यालय की प्रधानाध्यापिका तान्या ओल्सन, अभिनव मिश्रा, अभिषेक चतुर्वेदी, अतुल तिवारी, अभिमन्यु, सिराज खान, शुगुफ्ता, विद्यावती सैनी, सारिफ, जीनिया, रामबदन आदि का योगदान सराहनीय रहा। 



Browse By Tags



Other News