कोरोना वैक्सीन की पहली खेप पहुंची राजस्थान
| Agency - Jan 13 2021 3:14PM

पूजा-पाठ और ढोल नगाड़ों से किया गया बॉक्स स्वागत

कोरोना का काल बनकर आखिरकार वैक्सीन की पहली खेप राजस्थान पहुंच ही गयी। जहां पुणे से सीधे जयपुर पहली खेप पहुंची। वहीं मुंबई से उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट पर सीरम इंस्टीट्यूट से कोविशील्ड पहुंची। जिन्हें से स्टेट और संभाग वैक्सीन स्टोरेज सेंटर तक इसे पूरी सुरक्षा के बीच लाया गया। सेंटर पर पहुंचते ही पूजा पाठ और ढोल नंगाड़े के साथ इसका स्वागत किया गया। खास बात यह है की पहले चरण के टीकाकरण के दौरान राजस्थान में दो अलग-अलग कंपनियों की वैक्सीन पहुंच चुकी है और 5 लाख 63 हज़ार 500 वैक्सीन की पहली खेप होगी।

आखिरकार वैक्सीन की पहली खेप को  लेकर जब फ्लाइट सुबह जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट और उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट पर जब पर उतरी, तो इसका इंतजार कर रहे लोगों की चेहरों पर खुशियों की चमक साफ दिखाई दे रही थी। यहां से पूरी सुरक्षा के बीच वैक्सीन को स्टेट स्टोरेज सेंटर तक लाया गया और ख़ास तौर पर इसके लिए ग्रीन कोरोदोर बनाया गया। वैक्सीन की गाडी को पुलिस और स्वस्थ विभाग के अधिकारीयों के 8 से भी ज्यादा गाड़ियां अपनी सुरक्षा निगरानी में सेठी कोलोनी स्थित स्टेट स्टोरेज सेंटर तक लेकर आई।

जैसे ही यह गाडी स्टेट वैक्सीन सेंटर पहुंची यहां पहले से ही उसे स्वागत की तैयारियां पूरी थी। ढोल नगाड़ों की थाप पर नाच गाना हो रहा था और बाकायदा जयपुर के सी एम् एच ओ और स्वस्थ विभाग के दुसरे अधिकारीयों ने विधिवत तरीके से इसकी गणेश पूजा की। पहले से ही बुलाये गए पंडित जी ने वैक्सीन के डिब्बे पर टीका कर नारियल चढ़ाया। पहली खेप में भारत बायोटेक कंपनी की को-वैक्सीन की 20 हजार डोज की पहली खेप भिजवाई गयी हैं जिसके अगले कुछ घंटे में ही पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट से कोविशील्ड की डोज वाली बड़ी खेप भी जयपुर पहुँच गयी। जयपुर के इसी मुख्य सेंटर से इन्हें जिले में बनाए 229 वैक्सीनेशन सेंटर तक भिजवाया जायेगा।

राजधानी जयपुर में वैक्सीनेशन के लिए अब तक को- विन एप पर कुल 59,600 हेल्थ वर्कर्स का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। इनमे जयपुर के 6770 आर्म्ड फ़ोर्स के कार्मिक भी शामिल है। जयपुर के शहरी क्षेत्र में 84 और ग्रामीण इलाकों में 145 वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं। पहले चरण में राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की 6 लाख 3 हजार 500 डोज की पहली खेप पहुंचनी है। इसमें 5143 लाख डोज सीरम इंस्टीट्यूट की ओर से बनाई वैक्सीन हैं, जबकि 20 हजार डोज भारत बायोटेक की तरफ से पहुंच गए हैं।

ड्रग स्टोर सेंटर में भी लगभग 26 हजार लीटर की क्षमता के 4 वॉक इन कूलर की व्यवस्था है जो की 2 डिग्री से लेकर 8 डिग्री के बीच तापमान पर वैक्सीन को सुरक्षित रखेगी। इसके अलावा केन्द्र सरकार की ओर से 120 आइस लाइंड रेफ्रिजीरेटर भी भेजे गए हैं। जहां से इन्हें वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भेजा जाएगा। राजस्थान के 282 सेन्टर्स पर 16 जनवरी को वैक्सीनेशन किया जाएगा। वैक्सीनेशन को लेकर राजधानी जयपुर में भी व्यापक स्तर पर तैयारियां की गई हैं।

ख़ास बात यह है की जिन हेल्थ वर्कर्स को इसे लगाया जाना हैं वे भी इसके आने को लेकर काफी खुश नज़र आये। बहरहाल कोरोना संक्रमण से निपटने के लिहाज़ से राजस्थान के लिए बुधवार का दिन दो मायनों में अच्छा रहा पहला तो जहां 6 महीने बाद राजस्थान में 300 से कम कोरोना संक्रमित मरीज मिले वहीं अब इस संक्रमण से लड़ने के लिए वैक्सीन भी राजस्थान में पहुंच चुकी है। यानी की राजस्थान में भी वैक्सीन का शुभ आगमन हो चूका है और अब इंतजार है 16 जनवरी के उस पल का जब वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू होगी।



Browse By Tags



Other News