देश के राष्ट्रपति ने राम मन्दिर निर्माण के लिए दिया चन्दा, जाने कितना...
| Agency - Jan 15 2021 4:26PM

नई दिल्ली। अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के लिए शुक्रवार से चंदा इकट्ठा करने का काम शुरू कर दिया गया है। इसे निधि समर्पण अभियान का नाम दिया गया है। इस कार्यक्रम की शुरुआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की है। उन्होंने सबसे पहले इसके लिए चंदा दिया है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरी महाराज और विश्व हिन्दू परिषद के कार्यध्यक्ष आलोक कुमार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिले और उनसे मंदिर निर्माण के लिए चंदा मांगा। रामनाथ कोविंद ने 5 लाख, एक हजार रुपए का दान दिया।

राजधानी दिल्ली में राष्ट्रपति से मिलने के बाद विहिप के आलोक कुमार ने बताया कि राम जन्मभूमि मंदिर न्यास को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की तरफ से मंदिर निर्माण के लिए पहला दान मिला है। हम लोग इस अभियान की शुरूआत के लिए उनके पास गए। उन्होंने इसके लिए 5,01,000 रुपए का दान दिया और इस मिशन की सफलता के लिए शुभकामनाएं दीं। आलोक कुमार ने कहा कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पहला चंदा देने के साथ ही राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा मांगने का कार्यक्रम आधिकारिक रूप शुरू हो गया है। उन्होंने कहा, वह देश के प्रथम नागरिक हैं।

इसलिए हम चाहते थे कि वह इस अभियान की शुरुआत करें और उन्होंने इसे खुशी से स्वीकार किया। राष्ट्रपति के अलावा मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिषद को एक लाख रुपए का चंदा दिया है। चौहान ने विश्व हिंदु परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री विनायक राव देशमुख को 1 लाख रुपए का चेक सौंपा।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बनाए जा रहे राम मंदिर के लिए चंदादेश के पांच लाख से ज्यादा गांवों से बारह करोड़ से ज्यादा परिवारों से मंदिर निर्माण के लिए चंदा मांगा जाएगा। अगले करीब डेढ़ महीने तक चंदा मांगने का कार्यक्रम चलेगा। जिसमें विहिप के लोग चंदा मांगने जाएंगे। बताया गया है कि चंदे के लिए 10, 100, 1000 और 2000 रुपए के कूपन होंगे। दो हजार से ज्यादा चंदा देने पर रसीद दी जाएगी।



Browse By Tags



Other News